भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण में 'एम आधार' मोबाइल एप राजभाषा हिंदी में क्यों नहीं उपलब्ध ?

22 जुलाई 2017   |  प्रियंका शर्मा   (318 बार पढ़ा जा चुका है)

 भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण में 'एम आधार' मोबाइल एप राजभाषा हिंदी में क्यों नहीं उपलब्ध ?

भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण में एम आधार नाम से एक मोबाइल एप बनाया है . इस ऐप के माध्यम से आप अपने आधार कार्ड को कहीं भी ले जा सकते हैं और इसमें आपको बहुत एक आधार कार्ड रखने की आवश्यकता नहीं है , परंतु सोचने वाली बात यह है कि इस एम आधार एप्प को केवल अंग्रेजी भाषा में बनाया गया . इसका इंटरफ़ेस किसी भी भारतीय भाषाओं में उपलब्ध नहीं है. जैसा कि आधार पर आपका नाम पता इत्यादि जो विवरण है वह द्विभाषी रूप में छपता है एक तो आप की स्थानीय भाषा में और दूसरा भारत की अघोषित राजभाषा अंग्रेजी में . लेकिन इस एप्प में नाम पता इत्यादि का जो विवरण है वो केवल अंग्रेजी में ही दिखाई दे रहा है .


उसे जानबूझकर प्रतिबंधित किया गया है क्योंकि आधार प्राधिकरण का मानना है कि भारत को हिंदी और भारतीय भाषाओं की कोई जरूरत नहीं है इसीलिए आधार वेबसाइट भी केवल नाम के लिए भारतीय भाषाओं में उपलब्ध है जबकि भारतीय भाषा में कोई भी कोई भी जानकारी या पीडीएफ फॉर्म नहीं है इस वेबसाइट पर भारतीय भाषाओं के नाम पर केवल होमपेज एवं कुछ गिने-चुने पेज ही उन भारतीय भाषाओं में उपलब्ध है। प्राधिकरणों में अनेक राजभाषा अधिकारी बैठते हैं परंतु पता नहीं राजभाषा अधिकारी करते क्या है अपने कर्तव्यों का पालन क्यों नहीं कर रहे हैं उनको जो काम सौंपा गया है वे क्यों नहीं कर रहे हैं।


कोई चीज राजभाषा हिंदी में उपलब्ध नहीं है, इस विषय पर अपने विचार उच्चाधिकारी के सामने क्यों नहीं रखते हैं?

अगला लेख: हाथ मिलाना तो कोई ट्रम्प से सीखे



बहुत सही. ...

इस का उत्तर है कि राजभाषा अधिकारिओं के पास प्रशासनिक शक्तियां नहीं हैं। जिस दिन भारत सरकार ने ऐसा करवा दिया उसी दिन से अंग्रेजी दासी और बाकी सबकुछ देशी भाषाओं में मिलना आरंभ हो जाएगा।

बड़ा सवाल ....

शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
16 जुलाई 2017
ऐसा लगता है कि उत्तराखंड की सरकार को मूर्खता का दौरा पड़ गया है। जो मूर्खता वह करने जा रही है, वह भारत में आज तक किसी भी सरकार ने नहीं की है। मज़े की बात है कि उत्तराखंड में भाजपा की सरकार है। अब उत्तराखंड के 18000 सरकारी स्कूलों में सारे विषयों की पढ़ाई का माध्यम अंग्रेजी होगा। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ
16 जुलाई 2017
17 जुलाई 2017
एआईएडीएमके नेता शशिकला को जेल में मिल रही वीआईपी सुविधाओं का खुलासा करने वाली कर्नाटक की डीआईजी जेल डी.रूपा को सजा के रुप में उनका तबादला कर दिया गया है। डीआईजी रुपा को अब ट्रैफिक विभाग की जिम्मेदारी सौंपी गई है। डी रूपा ने पुलिस महानिदेशक (जेल) एच एस सत्यनारायण राव को एक रिपोर्ट सौंपी, जिसमें शशिकल
17 जुलाई 2017
08 जुलाई 2017
एमएस धोनी ने 7 जुलाई को अपना 36वां जन्मदिन मनाया. धोनी ने इस बार अपना जन्मदिन वेस्टइंडीज में साथी खिलाड़ियों और पत्नी साक्षी और बेटी जीवा के साथ मनाया. शुक्रवार को वेस्टइंडीज के खिलाफ टीम इंडिया के वनडे सीरीज जीतते ही धोनी का बर्थडे सेलिब्रेशन शुरू हो गया. टीम इंडि
08 जुलाई 2017
17 जुलाई 2017
दुनिया में कम ही ऐसे लोग हुए हैं जो इतिहास पर अपना गहरा प्रभाव डालने में कामयाब रहे हैं. नहीं, यहां बात दुनिया के महान लोगों की नहीं बल्कि उन लोगों की हो रही है जिन्होंने सीक्रेट लाइफ़स्टाइल अपनाई, कई खतरों से बढ़ते हुए तमाम खुलासे किए और जिनकी मौत तमाम तरह के सवाल भी छोड़ गई. ज़्यादातर केसों में ये
17 जुलाई 2017
27 जुलाई 2017
अबुल पकिर जैनुलाअबदीन अब्दुल कलाम अथवा ए॰पी॰ जे॰ अब्दुल कलाम (15 अक्टूबर 1931 - 27 जुलाई 2015)जिन्हें मिसाइल मैन और जनता के राष्ट्रपति केनाम से जाना जाता है, भारतीय गणतंत्र के ग्यारहवें निर्वाचित राष्ट्रपति थे । वे भारतके पूर्व राष्ट्रपति, जानेमाने वै ज्ञान िक और
27 जुलाई 2017
17 जुलाई 2017
14 साल पहले अंतरिक्ष में हुए हादसे पर बड़ा खुलासा हुआ है. कल्पना चावला की मौत से जुड़ा ये बड़ा राज अब दुनिया के सामने आ गया है. जिस दिन कल्पना चावला ने अपनी अंतरिक्ष उड़ान भरी थी, उसी दिन उनकी मौत भी तय हो गयी थी..सिर्फ कल्पना ही नहीं बल्कि उनके साथ गए 7 अन्य अंतरिक्ष यात्रियों के अंत का अलार्म भी डि
17 जुलाई 2017
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x