ई-ईश्वर

02 अगस्त 2017   |  आशा “क्षमा”   (124 बार पढ़ा जा चुका है)


हम समुद्र में

बढ़े जा रहे थे

आगे और आगे

तेज गति से,

नाव में सवार

ले रहे थे आनंद

समुद्री हवाओं का

कर रहे अवलोकन

गुजरते द्वीपों का,

लुभावने

सुहावने

दृश्यों का।

चाँद भी बढ़ रहा था

साथ-साथ हमारे,

अचानक

टकराई नाव

एक बड़ी शिला से-

उलट गई वह

तंद्रा हटी

और

घबराए हम

अब क्या होगा ???

किंतु

थैंक्स टू --ईश्वर ।

ईश्वर था साथ हमारे

ये तो -नाव थी,

ई-सैर को

निकले थे हम,

वर्चुअल रिअलिटी

के संसार में।

*************

अगला लेख: पहचानो स्वयं को



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
10 अगस्त 2017
<!--[if gte mso 9]><xml> <w:WordDocument> <w:View>Normal</w:View> <w:Zoom>0</w:Zoom> <w:TrackMoves/> <w:TrackFormatting/> <w:PunctuationKerning/> <w:ValidateAgainstSchemas/> <w:SaveIfXMLInvalid>false</w:SaveIfXMLInvalid> <w:IgnoreMixedContent>false</w:IgnoreMixedContent> <w:AlwaysShowPlaceh
10 अगस्त 2017
26 जुलाई 2017
रूह गुलाम-ए-हिन्द दिवानी, सजी दुलहन सी बने सयानी।फसलों की बहार फिर कभी ....गाँव के त्यौहार बाद में ...मौसम और कुछ याद फिर कभी ....ख्वाबो की उड़ान बाद में। मांगती जो न दाना पानी,जैसे राज़ी से इसकी चल जानी?रूह गुलाम-ए-हिन्द दिवानी।वाकिफ ह
26 जुलाई 2017
02 अगस्त 2017
<!--[if gte mso 9]><xml> <w:WordDocument> <w:View>Normal</w:View> <w:Zoom>0</w:Zoom> <w:TrackMoves/> <w:TrackFormatting/> <w:PunctuationKerning/> <w:ValidateAgainstSchemas/> <w:SaveIfXMLInvalid>false</w:SaveIfXMLInvalid> <w:IgnoreMixedContent>false</w:IgnoreMixedContent> <w:AlwaysShowPlaceh
02 अगस्त 2017
17 अगस्त 2017
पहचानोस्वयं कोमन चाहताहै समय को थाम लू मैं पर वह निकलताही चला जाता है। मन करता हैसमय-चक्रको थाम लूँ हर प्रयासविफल हो जाता है दिनरात, रातदिन गुजरते गये।सप्ताहमहीनों मे बदलते गये।कबदशक गये,बच्चेसे युवा हुए। कबभविष्य,भूतमें बदल गया,समय चक्रतो पूरा घूम गया।बस इस पर नकिसी का र
17 अगस्त 2017
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x