हिन्दुओ के भगवान

07 अगस्त 2017   |  रोमिश ओमर   (92 बार पढ़ा जा चुका है)

*हिन्दुओं के भगवान*

मुसलमान और ईसाई कभी अपनी धार्मिक पुस्तकों के विरुद्ध कार्य नही करते , उन्होंने मोहम्मद व ईसा के अलावा किसी को अपना भगवान नही माना । और अपने कट्टर हिन्दू भाइयो को देखो -

1: रेवन में कुतिया का मंदिर बना दिया , कुतिया को भगवान बना दिया

2: राजस्थान में एक मुसलमान 6 इंच की पूंछ के साथ पैदा हुआ , उस मुसलमान को भी भगवान बना दिया

3: जिन मुस्लिम आक्रंताओ ने हिन्दू समाज पर अत्याचार किये उनकी कब्रो मजारो को भी भगवान बना दिया

4: मुस्लिम जिहादी साईं बाबा उर्फ चाँद मियाँ को भी भगवान बना दिया

5: सचिन तेंदुलकर, अभिताभ बच्चन को भी भगवान बना दिया

6: समोसे चटनी खिला कर ठगने वाले निर्मल बाबा को भी भगवान बना दिया

7: मांस खाने वाले, गौमांस भक्षण का प्रचार करने वाले विवेकानन्द को भी भगवान बना दिया

8: हिन्दू समाज को वेद विज्ञान से दूर कर पाखण्ड अंधविश्वास की गहरी खाई में धक्का देने वाले लाखों बाबाओ

( *पायलट बाबा, गोल्डन बाबा, टाट वाले बाबा, पूर्णगुरु, अर्धगुरु, चन्द्रगुरु, पानी वाले बाबा, लाश खाने वाले बाबा, नङ्गे बाबा* ) को भी भगवान बना दिया *कोई विधर्मी इनसे अलतकिया के चलते मीठा बोल जाए तो ये उसे भी भगवान बना देते है* अब ये कहेंगे इन्हें भी भगवान मानो वरना तुम नास्तिक ओर धर्म विरोधी कहलाये जाओगे आइये जाने भगवान किसे कहते है-

*ऐश्वर्यस्य समग्रस्य धर्मस्य यशसः श्रियः ।* *ज्ञानवैराग्ययोश्चैव षण्णां भग इतीरणा ।। -(विष्णु पुराण 6/5/74)*

*अर्थ―*सम्पूर्ण ऐश्वर्य,धर्म,यश,श्री,ज्ञान और वैराग्य--इन छह का नाम भग है।इन छह गुणों से युक्त महान को भगवान कहा जा सकता है। श्रीराम व श्री कृष्ण के पास ये सारे ही गुण थे(भग थे)।इसलिए उन्हें भगवान कहकर सम्बोधित किया जाता है।

अगला लेख: Azaad Bharat: 4 साल से बापू आशारामजी को बेल नही मिलने के पीछे राजनैतिक दलों का हाथ: माँ चेतनानंद



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
13 अगस्त 2017
अगस्त 12, 2017गोवा : सनातन संस्था द्वारा हुए एक कार्यक्रम के दौरान उत्तरप्रदेश, डासना, चंडीदेवी मंदिर सिद्धपीठ की महंत यति माँ #चेतनानंद सरस्वती ने एक चैनल में इंटरव्यू देते हुए कई सवाल उठाते हुए कहा कि #सनातन संस्था बहुत ही #पवित्र कार्य कर रही है, इसके माध्यम से अलग-अलग
13 अगस्त 2017
13 अगस्त 2017
मुस्लिम 1400साल से दुनिया को यही बताते आ रहे हैं कि असली जिहाद क्या है ।मुसलमानों का कहना होता है कि असली जिहाद खुद कि बुराई से लड़ना है । मगर आतंकी वहीं कुरान कि ही आयतों को पढ़कर बताते हैं कि वो जो कुछ भी कर रहे हैं वो इस्लाम में जायज है ।क
13 अगस्त 2017
16 अगस्त 2017
सबसे पहले तो हम देश को गुलामी से आजाद कराने वाले क्रान्तिकारि- स्वतन्त्रता आन्दोलन में कई संगठनो ने महत्वपूर्ण योगदान दिया उन्हीं में से एक अमर नाम 'आर्यसमाज' का भी रहा हैं |आर्यसमाज के प्रवर्तक *स्वामी दयानन्द सरस्वती ने 1885 मे अमर ग्रंथ सत्यार्थ प्रकाश मे स्वदेशी राज्य का उदघोष करते हुए कहा...*"
16 अगस्त 2017
14 अगस्त 2017
चीन. जनसंख्या और टेक्नॉलजी के मामले में नंबर वन हुआ पड़ा है. पाकिस्तान से आजकल “मोहब्बत बरसा देना तू सावन आया है” टाइप मोहब्बत फैला रखी है. बाकी इनका सब कुछ ठीक है लेकिन जो हमारी सीमाओं में घुस जाते हैं न, वो नाकाबिले बर्दाश्त है. कई बार तो मन करता है कि रॉकेट लॉन्चर लेकर
14 अगस्त 2017
01 अगस्त 2017
H
आयुर्वेद के मुताबिक हकलाने की problem मेंब्राह्मी तेल (Brahmi oil) के इस्तेमाल को बहुत हीं फायदेमंद बताया गया है। 1.ब्राह्मी तेल (Brahmi oil) को हलका गर्मकर के week में कम से कम दो बार 15 से 20 मिनट तक सर का मसाज करने से हकलाने की problem ख़त्म होती है। 2. अगर आपके बच्चो को हकलाने की problem है तो उन
01 अगस्त 2017
01 अगस्त 2017
।।राम राम सा।।।।खड़े होकर खाना क्यों नहीं खाना चाहिए।। भोजन से ही हमारे शरीर को कार्य करने की ऊर्जा मिलती है। हमारे देश में हर छोटे से छोटे या बड़े से बड़े कार्य से जुड़ी कुछ परंपराए बनाई गई हैं।वैसे ही भोजन करने से जुड़ी हुई भी कुछ मान्यताएं हैं। भोजन हमारे जीवन की
01 अगस्त 2017
16 अगस्त 2017
*योगीराज, निति निपुण पराक्रमी वीर योद्धा , गोपालक, महान कूटनीतिज्ञ सत्यधर्मी सदाचारी एकपत्निव्रत (माता रुक्मिणी) ब्रह्मचारी वेदंज्ञ महात्मा धर्मात्मा दुष्टनाशक परोपकारी आर्य (श्रेष्ठ) पुरुष राष्ट्र धर्म स्त्री रक्षक सर्व परा* *पाप दोष रहित निष्कलंक शुद्ध पवित्र चरित्र..*_*योगेश्वर भगवान् श्रीकृष्ण ज
16 अगस्त 2017
16 अगस्त 2017
*ईश्वर और भगवान का भेद* *ऐश्वर्यस्य समग्रस्य धर्मस्य यशसः श्रियः ।* *ज्ञानवैराग्ययोश्चैव षण्णां भग इतीरणा ।। -(विष्णु पुराण 6/5/74)**अर्थ―*सम्पूर्ण ऐश्वर्य,धर्म,यश,श्री,ज्ञान और वैराग्य--इन छह का नाम भग है।इन छह गुणों से युक्त महान पुर
16 अगस्त 2017
16 अगस्त 2017
सबसे पहले तो हम देश को गुलामी से आजाद कराने वाले क्रान्तिकारि- स्वतन्त्रता आन्दोलन में कई संगठनो ने महत्वपूर्ण योगदान दिया उन्हीं में से एक अमर नाम 'आर्यसमाज' का भी रहा हैं |आर्यसमाज के प्रवर्तक *स्वामी दयानन्द सरस्वती ने 1885 मे अमर ग्रंथ सत्यार्थ प्रकाश मे स्वदेशी राज्य का उदघोष करते हुए कहा...*"
16 अगस्त 2017
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x