तुष्टिकरण की पराकाष्टा : हिन्दुओ के बनाये ध्रुव स्तम्भ को कुतुब्दीन ऐबक का कुतबमीनार बता दिया गया | घरेलू नुस्खे

13 अगस्त 2017   |  रोमिश ओमर   (106 बार पढ़ा जा चुका है)

तुष्टिकरण की पराकाष्टा : हिन्दुओ के बनाये ध्रुव स्तम्भ को कुतुब्दीन ऐबक का कुतबमीनार बता दिया गया | घरेलू नुस्खे

तुष्टिकरण की पराकाष्टा : हिन्दुओ के बनाये ध्रुव स्तम्भ को कुतुब्दीन ऐबक का कुतबमीनार बता दिया गया

दिल्ली में हिन्दुओ ने ध्रुव स्तम्भ बनाया

पर वामपंथी इतिहास कारो, और सेकुलरों ने इसे लूले और गुलाम कुतुब्दीन ऐबक का कुतुबमीनार बता दिया

इसकी दीवारों पर अरबी में कलमा वलमा गुदवा दिया और हो गया ये कुतुबमीनार

पर कहते है न की चोर कोई न कोई सबूत छोड़ता ही है, अपराधी सबकुछ नहीं मिटा पता

वही हाल जिहादियों और वामपंथियों का हुआ है

आपको सबसे पहले बता दें की मोहम्मद ने जब इस्लाम बनाया तो उसने मदीना के बाद मक्का पर हमला किया

और वहां 360 मूर्तियां थी जिसमे से मोहम्मद और उसके लोगो ने 359 मूर्तियों को तोड़ दिया

इस्लाम का निर्माण ही मूर्तियां तोड़कर हुई थी

इस्लामी परंपरा में मूर्तियां हराम है, ऊपर से महिलाओं की मूर्तियां ये तो बड़ा जुर्म है

आप कोई भी मस्जिद देखें, मक्का में जो काबा है वही देख लें, कोई भी मूर्ति नहीं है, भारत में, अपने आसपास कोई भी मस्जिद देख लें

दिल्ली में जो हुमायूँ का मकबरा है, लाल किले में जो मस्जिद औरंगजेब ने बनवाई, जामा मस्जिद है

कोई भी इस्लामी मस्जिद या मीनार देख लें वहां 1 भी मूर्ति नहीं मिलेगी

क्यूंकि इस्लामी परंपरा में मूर्तियां हराम है

पर आपको आज भी क़ुतुब काम्प्लेक्स में अप्सराओं की मूर्तियां दिखाई देंगी वो भी साफ़ साफ़

और इन मूर्तियों ने बुर्खा भी नहीं पहना, वैसे मूर्तियां तो इस्लामी परंपरा में है ही नहीं, साफ़ होता है की ये पूरा काम्प्लेक्स मुसलमानो ने नहीं बनवाया

लम्बा सा ध्रुव स्तम्भ यहाँ पहले से मौजूद था, उसपर बस मुसलमानो ने कलमा और अन्य इस्लामी चीजें गुदवा दी

और ध्रुव स्तम्भ को वामपंथियों और सेकुलरों ने कुतुबमीनार बता दिया

ये मुर्तिया आपको मुसलमानो द्वारा बनवाई गयी नजर आ रही है ?

ये हिन्दू मूर्तियां है, जो भारत के लोग बनाते आये है, इस तरह की मूर्तियां आपको खुजराहो और अन्य जगहों पर भी दिखाई देंगी

बता दें की क़ुतुब काम्प्लेक्स जो आज है, उसमे 27 से अधिक जैन मंदिर, और 20 से अधिक हिन्दू मंदिर थे, जिन्हे मुसलमानो ने तोड़ दिया, पर वो इतने मजबूत बने थे की आज भी कई मूर्तियां मौजूद है, और लम्बा सा ध्रुव स्तम्भ उन्होंने नहीं तोडा उसकी दीवारों पर बस कलमा गुदवा दिया

Source

तुष्टिकरण की पराकाष्टा : हिन्दुओ के बनाये ध्रुव स्तम्भ को कुतुब्दीन ऐबक का कुतबमीनार बता दिया गया | घरेलू नुस्खे

http://ayurvedicgharelunuskhe.com/persuasion/

अगला लेख: Azaad Bharat: संस्कृत भाषा की महानता एवं उपयोगिता



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
13 अगस्त 2017
अगस्त 12, 2017गोवा : सनातन संस्था द्वारा हुए एक कार्यक्रम के दौरान उत्तरप्रदेश, डासना, चंडीदेवी मंदिर सिद्धपीठ की महंत यति माँ #चेतनानंद सरस्वती ने एक चैनल में इंटरव्यू देते हुए कई सवाल उठाते हुए कहा कि #सनातन संस्था बहुत ही #पवित्र कार्य कर रही है, इसके माध्यम से अलग-अलग
13 अगस्त 2017
16 अगस्त 2017
सबसे पहले तो हम देश को गुलामी से आजाद कराने वाले क्रान्तिकारि- स्वतन्त्रता आन्दोलन में कई संगठनो ने महत्वपूर्ण योगदान दिया उन्हीं में से एक अमर नाम 'आर्यसमाज' का भी रहा हैं |आर्यसमाज के प्रवर्तक *स्वामी दयानन्द सरस्वती ने 1885 मे अमर ग्रंथ सत्यार्थ प्रकाश मे स्वदेशी राज्य का उदघोष करते हुए कहा...*"
16 अगस्त 2017
16 अगस्त 2017
गौमाता गांव गरीब गोपाल को बचाने का अभियान है गोचरणमुक्ति आंदोलन- भगवान कृष्ण ने गोपाष्टमी के दिन से गोचरान में गौमाता को चराने निकले थे भगवान कृष्ण से प्रेरणा लेकर विदेशियों ने अपने देश मे चारागाह भूमि का प्रबंध किया ।*विदेशो में चारागाह भूमि की स्थिति**इंग्लैंड - 3.5 एकड़ प्रति पशु के लिए आरक्षित*
16 अगस्त 2017
30 जुलाई 2017
आप भले ही साई पूजक हों या निंदक, यह आलेख अवश्य पढ़ें।शंकराचार्य जी साँईं बाबा को भगवान नहीं मानते हैं ...और इसलिए नहीं मानते, क्योंकि हमारे वेदों, पुराणों,उपनिषदों या अन्य किसी भी धर्म ग्रंथों में एक "फकीर" की पूजा का निषेध है....मने , उन्हें भगवान नहीं बनाया जा सकता है..
30 जुलाई 2017
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x