“पिरामिड”

16 अगस्त 2017   |  महातम मिश्रा   (128 बार पढ़ा जा चुका है)

“पिरामिड”


ले

रंग

तिरंगा

हरियाली

केशर क्यारी

शुभ्र नभ धानी

लहराया बादल॥-१


वो

उड़ा

गगन

प्यारा

झंडा

ध्वनि गुंजन

चक्र सुदर्शन

भारत उपवन॥-२


महातम मिश्र ‘गौतम’ गोरखपुरी

अगला लेख: *◆माहिया छंद◆*



सुन्दर पिरामिड रचा आपने |
सादर बधाई सर

हार्दिक धन्यवाद आदरणीया, स्वागतम

रेणु
17 अगस्त 2017

सुंदर भावों से सजा पिरामिड आदरणीय मिश्रा जी |

हार्दिक धन्यवाद आदरणीया, स्वागतम

शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
08 अगस्त 2017
गीतिका, समांत- आन पदांत- देखे है, मात्रा भार- २६“गीतिका”उड़ता ही रहा ऊपर सदा अरमान देखे हैं बहता रहा पानी झुका आसमान देखे हैं मिले पाँव कीचड़ तो बचा करके निकल जाते उड़ छींटे भी रुक जाते मजहब मान देखे हैं॥घिरती रही आ मैल जमी फूल की क्यारी छवियाँ बिना दरपन बहुत छविमान देखे हैं
08 अगस्त 2017
09 अगस्त 2017
“पिरामिड” वो देखो पतन चित्त पट्टशय औ मात अहं टकराया निशान छोड़ गया॥-१ क्या खूब दाँव है दबोच लोशिकार मिला जाल तैयार है धागे कमजोर हैं॥-२ ये दृश्य दर्शन विसर्जन श्री गणेशाय माटी मोह मूर्ति पूजा पाठ आराध्य..3 दो मत बे-मत खटपट घर बिगड़ा टूटा आशियाना मिल गया बहाना॥-४ जो
09 अगस्त 2017
08 अगस्त 2017
*शिल्प : पहली और तीसरी पंक्तियों में १२ मात्राएँ यानि २२११२२२और दूसरी पंक्ति में १० मात्राएँ यानि २११२२२ होती हैं. तीनों पंक्तियों में सारे गुरु ( २ ) भी आ सकते हैं.* माहिया ` पंजाब का प्रसिद्ध लोग गीत है . यूँ तो इसमें श्रृंगार रस के दोनों पक्ष संयोग और वियोग का समावेश ह
08 अगस्त 2017
02 अगस्त 2017
“हाइकु”शुभ प्रभात मंगले मंगलम पधारो प्रभु॥-१सुस्वागतमश्री सवा शुभ-लाभ रक्षे रक्षित:॥-२ संस्कारयतिदर्शन अभिलाषी स्वागतेक्षु॥-३विधि विधान मंगलाचरणमयज्ञोपवीत॥-४ यज्ञ पूरणविनयावनतस्य सर्वे सुखम ॥-५ महातम मिश्र ‘गौतम’ गोरखपुरी
02 अगस्त 2017
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x