गीतिका

01 सितम्बर 2017   |  महातम मिश्रा   (88 बार पढ़ा जा चुका है)

गीतिका , छंद- रोला, मात्रा भार- 11, 13 (विषम चरण तुकांत 1 2, सम चरण का अंत 1 2, समांत- अना, अपदांत.."गीतिका" खुले गगन आकाश, परिंदों सा तुम उड़ना जब तक मिले प्रकाश, हौसला आगे बढ़ना भूल न जाना तात, रात भी होती पथ पर तक लेना औकात, तभी तुम ऊपर चढ़ना।। सहज सुगम अंजान, विकल होती है सरिता बैठे कहाँ विमान, तनिक इसको भी पढ़ना।। रखना नियती शुद्ध, बुद्धि को बंद न करना राहें हों अवरुद्ध, खोलकर उनसे लड़ना। होना नहीं निराश, अनल का पुंज अनवरत अपने पौरुष प्यास, घड़िला प्यार का गढ़ना।। कभी न होगी हार, जीत जाएगी वसुधा पर्वत है साकार, आवरण उसपर मढ़ना।। गौतम तेरा स्नेह, मुग्ध जन जन को पहुँचे रिमझिम बरसे मेंह, बादरी बूँद न नड़ना।। महातम मिश्र गौतम गोरखपुरी

अगला लेख: गाथ छंद



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
09 सितम्बर 2017
वं
*विधा :~ ◆वंशस्थ छंद◆* विधान~ [ जगण तगण जगण रगण] (121 221 121 212) 12वर्ण, 4 चरण, दो-दो चरण समतुकांत] "वंशस्थ छंद" कुटेव का मोह जभी बिदा करें बिमार का जोड़ अभी जुदा करें बहार छाए हर मोड़ आप के चढ़े बुखारा तिन तोड़ अदा करें।। सहाय कैसे भल आप को मिले उपाय कोई कब आप को मिले नशा पुराना मित्र मान ल
09 सितम्बर 2017
18 अगस्त 2017
“दोहा-मुक्तक”नित मायावी खेत में, झूमता अहंकार। पाल पोस हम खुद रहे, मानों है उपहार। पुलकित रहती डालियाँ, लेकर सुंदर फूल- रंग बिरंगे बाग से, कौन करे प्रतिकार॥-१पक्षी भी आ बैठते, तकते हैं अभिमान। चुँगने को दाना मिले, कर घायल सम्मान। स्वर्ण तुला बिच तौल के, खुश होत अहंकार-चमक
18 अगस्त 2017
07 सितम्बर 2017
"कुंडलिया" पानी भीगे बाढ़ में, छतरी बरसे धार कैसे तुझे जतन करूँ, रे जीवन जुझार रे जीवन जुझार, पाँव किस नाव बिठाऊँ जन जन माथे बोझ, रोज कस पाल बँधाऊँ 'कह गौतम' कविराय, मिला क्या कोई शानी मोटे पुल अरु बाँध, रोक ले बहता पानी।। महातम मिश्र,
07 सितम्बर 2017
21 अगस्त 2017
“कता/मुक्तक ”दिल की बातें कभी-कभी होंठों पर भी आ जाती है।मुस्कुराहट मन में खिल कभी लबो पर छा जाती है। गुजरे वक्त की नजाकत कभी गम गुदगुदा जाए तो- तन्हाई घिरी हँसी लपक सुर्ख चेहरे को पा जाती है॥महातम मिश्र, गौतम गोरखपुरी
21 अगस्त 2017
सम्बंधित
लोकप्रिय
गा
02 सितम्बर 2017
मु
01 सितम्बर 2017
23 अगस्त 2017
30 अगस्त 2017
पि
01 सितम्बर 2017
k
05 सितम्बर 2017
21 अगस्त 2017
गी
05 सितम्बर 2017
गी
05 सितम्बर 2017
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x