शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
08 अक्तूबर 2017
मि
हर अंगना हर द्वार - द्वार हर हिये !ज्योर्तिमय हो जग में मिट्टी के दीये !अमावस्या के श्यामपट्ट पर फैलायें !ज्योतिकलश बन जो सारा तम पियें !आशाओं के अगनित स्वरों को लियें !हर दिशा में प्रकाशमान मिट्टी के दीये !वायु के विप्लव वेग से न भयभीत हो !प्रखर प्रज्वलित ज्योति बन जो जलें !निर्भीक निडर नि:छल कितने
08 अक्तूबर 2017
31 अक्तूबर 2017
*गर्म लावे* ✍संजीव खुदशाह मै जानता हूं, अगर मै कुछ कहता ये मेरी जीभ काट ली जाती। मै जानता हूं, अगर मै कुछ सुनता मेरे कानों में गर्म लावे ठूंस दिये जाते। जिसे बताते थे तुम अपना, रहस्य खजाने का जिस पर तुम आध्यात्म के नाम पर इठलाते थे इतना मैने आज इनको पढ़ लिया है। जान लिया है वो कारण, जीभ को काटने का
31 अक्तूबर 2017
20 अक्तूबर 2017
गरीबों के लिये टसुए न टपकाइये ,कुछ कर सकते हैं तो करिये ,बेचारगी न फैलाइये . गरीबी पर राजनीति होती रही है और होती रहेगी .गरीबों पर तरस न फैशन बनाइये .साल भर में क्या किया जरा वो गिनाइये .एन त्यौहार पर आत्मग्लानि न पसराइये पर्व
20 अक्तूबर 2017
07 अक्तूबर 2017
लुत्फ कुछ बेनकाब हों,कोई बात नहीं, होने दें,चाहतें हया से उठ जायें,चलिये, होती हैं, होने दें,मिज़ाज़ को क्या जे़ब आये,कौन जाने, होती है, होने दें,चालाकी जवां होके इठलाये,रवानी है, होता है, बहकने दें,गुस्सा आग है, सबा भी है ही,राख सुलगती है, खैर, सुलगने दें,दीद को अंधेरे से कब ईश्क रहा,उजालों को आदतन भ
07 अक्तूबर 2017
08 अक्तूबर 2017
कार्तिक-कृष्णपक्ष चौथ का चाँद देखती हैं सुहागिनें आटा छलनी से.... उर्ध्व-क्षैतिज तारों के जाल से दिखता चाँद सुनाता है दो दिलों का अंतर्नाद। सुख-सौभाग्य की इच्छा का संकल्प होता नहीं जिसका विकल्प एक ही अक्स समाया रहता आँख से ह्रदय तक जीवनसाथी को समर्पित निर्जला व्रत चंद्रोदय तक। छलनी से छनकर आती
08 अक्तूबर 2017
14 अक्तूबर 2017
मे
सर्द सी रात और वो जनवरी की मुलाकाततुम्हारा वो प्यार,मेरा वो तुमसे मोहब्बत का इजहारवो तेरा सुहाना सा सफर और वो जनवरी की हमारी पहली मुलाकात, तुम्हारा मेरी ज़िंदगी मे आनाऔर ज़िन्दगी का एक पल का सफर उम्र भर का तुम्हारा साथ और तुम्हारा वो अपनेपनका एक एहसास, और तुमसे मिलने का
14 अक्तूबर 2017
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x