होली

01 मार्च 2018   |  योगिता वार्डे ( खत्री )   (60 बार पढ़ा जा चुका है)

होली - शब्द (shabd.in)

लाल पीले हरे नीले गुलाबी जामुनी,

हर तरह के रंगों के बीच रंगा हुआ..

"हमारा जीवन"

कभी कभी लगता है...

रंगों ने हमारे जीवन में रंग घोलना छोड़ दिया है...

कुछ बातों पर टिप्पणियाँ हम अपने आप से नहीं करते....

समीक्षाएं जिन्हे हमने अपने जीवन में कभी जगह दी ही नहीं...

चाहकर भी और ना चाहकर भी।

जीवन मैं रंग हमेशा के लिऐ,

फीके ना पड़ जाएं,

छोड़ो अपने आप से आंखमिचौली,

कुछ अपने को रंगों में रंग ले,

कुछ को हम ही रंग लगाऐं...

होली है भाई , चलो मिलकर मनाएं!!

~~ yogita warde



धन्यवाद् शोभा जी...

अति सुंदर

धन्यवाद रवि जी!

रवि कुमार
01 मार्च 2018

वाह बहुत खूब , होली की शुभकामनाएं

शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x