तलाश जारी है उन लोगो की जो खो गए है

16 मार्च 2018   |  Vikas Khandelwal   (150 बार पढ़ा जा चुका है)

तलाश जारी है उन लोगो की जो खो गए है



जिन्दगी के अन्धेरे रास्तो पे , मुझ से चल कर गए जो ,



मंजिलो के रास्तों पे



लाऊ उनको अब ढूंढ के कहा से



जो चले गए है इतनी दूर की मै



जा नहीं सकता उन रास्तो पे



अब भी वक़्त का दरिया बह रहा है



कोई इसमें डूब और कोई तेर रहा है



पीछे अब जा नहीं सकते , कुछ वहा से ला नहीं सकते



मेरी आँखों का पानी भी अब सुख चूका है



तो अब मुनासिब है की मै चल पडू , अब नए रास्तो पे



याद उनकी है की जाती नहीं , कोई हसी लबो पे अब आती नहीं



मैं फिर से मुस्कुराना चाहता है



मिल जा मुझको फिर से यादों के हसीं रास्तो पे



गम के जंगल मे हम अकेले है



कोई आती नहीं रौशनी , यहाँ तेरी यादो के साए धने है



हम रोज जख्मों पे जख्म खाते है



हम तेरी यादो मे , आँखों से बहे , अश्को का पानी पीते है



रब ही जाने हम कैसे जीते है



तुझ बिन अब जिन्दगी चल पड़ी है , मौत के अन्धेरे रास्तो पे



हर चेहरे मे तुझे - मेरी नजर खोजती है



कही तेरी सूरत नज़र नहीं आती है



मैं आईने से तुझे वापस माँग लेना चाहता हू



मैं वक़्त की हर अदा का कर्ज , अदा कर देना चाहता हू



तुझको वक़्त से वापस माँग कर



मै फिर से तेरे साथ चलना चाहता हु , जिन्दगी के बेशूमार रास्तो पे















अगला लेख: चाँदनी रात मे आना तुम



c p Singh
17 मार्च 2018

nice

Nasrin
16 मार्च 2018

Bhut khubsurt likha apne

Vikas Khandelwal
17 मार्च 2018

Thank you dear nasrin

शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
05 मार्च 2018
को
कोई जब प्यार मे धोखा खा जाए फिर क्या करें , जब आँखों मे लहू आ जाए दिल को फिर कीस तरह समझाए दिल के हिस्से मे जब बेवफाई का खंजर आ जाए टूट के फिर कोई बिखर जाए लब पे
05 मार्च 2018
22 मार्च 2018
चा
आओ की फिर से तन्हा हु मैं मेरी रूह चली गई है मेरे जिस्म को छोड़कर चाँदनी रात मे आना तुम मेरी परछाई ओढ़ कर मुझको गमो ने मार ही डाला है तुम लाना मेरे लिए कोई खुशी खोजकर मैं इन तन्हा और अन्धेरे रास्तो पर पहले भी तो चलता था कोई न
22 मार्च 2018
29 मार्च 2018
मै
कौन तेरी मासूम नज़रो से गिरना चाहता है मैं आँसू हू मुझे पलकों मे बन्द कर लो अगर अपना समझती हो मुझको ,तो ख़ुद के इतना क़रीब रख लो मैं धड़कन हू , मुझे दिल मे अपने बन्द कर लो प्यार का ये अफ़साना आ
29 मार्च 2018
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x