Non Resident Bihari : पढ़िएगा जरूर, क्यूंकि मज़ा बहुत आने वाला है

27 मार्च 2018   |  तुषार पराशर   (318 बार पढ़ा जा चुका है)

Non Resident Bihari : पढ़िएगा जरूर, क्यूंकि मज़ा बहुत आने वाला है

शायद आपने इस किताब को पढ़ा होगा या शायद नहीं भी पढ़ा होगा | खैर मैं तो कहूँगा कि इसे एक बार तो आपको जरूर पढ़ना ही चाहिए | इस किताब की कवर पेज को देखते ही आपके मन में कौतुहल जाग जायेगा कि आखिर इस किताब में क्या है? आप बेचैन होंगे जानने के लिए और इसे पढ़ने के लिए भी |

अगर आप बिहार से है, तो आप खुदको शायद ही रोक पाएंगे | आप खुदको इस किताब से जुड़ा खुद महसूस करेंगे |

पढ़िएगा जरूर, क्यूंकि मज़ा बहुत आने वाला है |

“क्या होता है जब बिहार में किसी भी थोड़े सम्पन्न परिवार में बच्चे का जन्म होता है? उसके जन्मते ही उसके बिहार छूटने का दिन क्यों तय हो जाता है? जब सभी जानते हैं कि मूंछ की रेख उभरने से पहले उसको अनजान लोगों के बीच चले जाना है— तब भी क्यों उसको गोलू-मोलू-दुलारा बना के पाला जाता है? वही ‘दुलारा बच्चा’ जब आख़िरकार ट्रेन में बिठाकर बिहार से बाहर भेज दिया जाता है तब क्या होता है उसके साथ? सांस्कृतिक धक्के अलग लगते हैं, भावनात्मक अभाव का झटका अलग— इनसे कैसे उबरता है वह? क्यों तब उसको किसी दोस्त में माशूका और माशूका में सारे जहाँ का सुकून मिलने लगता है? ‘एनआरबी’ के नायक राहुल की इतनी भर कहानी है— एक तरफ यूपीएससी और दूसरी तरफ शालू. यूपीएससी उसकी जिंदगी है, शालू जैसे जिंदगी की ‘जिंदगी’ | एक का छूटना साफ़ दिखने लगता है और दूसरी किनारे पर टंगी पतंग की तरह है | लेकिन इसमें हो जाता है लोचा। क्या? सवाल बहुते हैं | जवाब आपके पास भी हो सकते हैं | लेकिन ‘नॉन रेजिडेंट बिहारी’ पढ़ कर देखिए— हर पन्ना आपको गुदगुदाते, चिकोटी काटते, याद-गली में भटकाते ले जाएगा एक दिलचस्प अनुभव की ओर |”


अगला लेख: रेलवे के साथ मिलकर 10 लाख रुपये कमाने का शानदार मौका



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
20 मार्च 2018
उसे हम पर तो देते हैं मगर उड़ने नहीं देते,हमारी बेटी बुलबुल है, मगर पिंजरे में रहती है।- प्रो. रहमान मुस्सवीरयह कुछ अल्फ़ाज़ है जो इस तस्वीर की सारी कहानी को बयां करते है। वैसे तो इस तस्वीर को समझने के लिए शायद ही शब्दों की कोई जरूरत हैं। यह तस्वीर उजागर करती है हमारे समाज के दोहरे चरित्र को, जहां हमन
20 मार्च 2018
28 मार्च 2018
रेलवे के साथ मिलकर 10 लाख रुपये कमाने का शानदार मौका-हिंदी या अंग्रेजी में लेख लिखकर सुझाव देने होंगेउम्रसीमा- 20 मार्च 2018 तक 18 साल से अधिकअधिकतम 1000 शब्द में लेखलास्ट डेट- 19 मई (शाम 6 बजे तक)अधिक जानकारी के लिए इस वेबसाइट पर क्लिक करे - https://innovate.mygov.in/jan-bhagidari/
28 मार्च 2018
02 अप्रैल 2018
World Autism Awareness Day 2018दुनिया में कई ऐसी बड़ी हस्तियां हैं, जिन्होंने आम लोगों से भी ज्यादा मेहनत कर ऊंचाइयों को हासिल किया है। भले ही वह शारीरिक या मानसिक रूप से उनके लिए चुनौतीपूर्ण रहा हो, लेकिन उन्होंने कभी हारना नहीं सीखा। हम आज बात करेंगे ऐसी हस्तियों
02 अप्रैल 2018
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x