Black buck और भाई

07 अप्रैल 2018   |  युगेश कुमार   (55 बार पढ़ा जा चुका है)

Black buck और भाई

Black buck को धराशायी कर

फिल्हाल भाईजान धराशायी हो गए

कुछ खुश हो गए

तो भाई के fans रूष्ट हो गए

आखिर भाई ने इतनों का भला किया

हिरण की आत्मा ने पुकार लगाई

तो साले मैंने किसका बुरा किया

सुना 20 साल हो गए

अब तो उसके पुनर्जन्म की बात होगी

अरे!आपने फिल्में नहीं देखी

उसे इंसाफ मिला नहीं

आत्मा उसकी जरूर भटकती होगी

कुछ बाबाओं से पता चला

वही जो जेलों में बंद हैं

अंदर हैं तो क्या

अभी भी उनमें काफी दम है

कि आत्मा हिरण की

आजकल

जोधपुर जेल के चक्कर काटती है

डरी सहमी सी है

पता चला आगे अपील भी हो सकती है

और लाकर रखा कहाँ जोधपुर

रिहा होकर आ गए तो

अपना घर तो बगल में ही है

अरे! यही राजस्थान

निकल लिए gun लेकर

और गन-गना दिए तब

इससे पहले वो पधारे मारे देश

बिरादरी वालों को मैं बोल दूँ

निकल लो बेटा परदेस।

©युगेश

बातें कुछ अनकही सी...........: Black buck और भाई

https://yugeshkumar05.blogspot.com/2018/04/black-buck.html

Black buck और भाई

अगला लेख: बातें कुछ अनकही सी...........: सिसकी



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x