ये है ईशा अंबानी की ससुराल का आलीशान बंगला, यहीं आनंद ने किया था प्रपोज

22 मई 2018   |  रितिका चटर्जी   (209 बार पढ़ा जा चुका है)

ये है ईशा अंबानी की ससुराल का आलीशान बंगला, यहीं आनंद ने किया था प्रपोज

रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी की बेटी ईशा अंबानी की सगाई हाल ही में पीरामल ग्रुप के आनंद पीरामल से हुई थी. दोनों परिवारों ने अपनी लंबी दोस्ती को रिश्तेदारी में बदल लिया.

Isha ambani in law's Bungalow in Mahabaleshwar

1/9

रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी की बेटी ईशा अंबानी की सगाई हाल ही में पीरामल ग्रुप के आनंद पीरामल से हुई थी. दोनों परिवारों ने अपनी लंबी दोस्ती को रिश्तेदारी में बदल लिया. आनंद ने ईशा अंबानी को महाबलेश्वर के मंदिर में प्रपोज किया था. यही वो जगह है जहां ईशा की सुसारल का आलीशान बंगला है. भले ही ईशा की ससुराल मुंबई में हो, लेकिन महाबलेश्वर के इस बंगले की चर्चा पूरे विश्व में होती है. बता दें यह बंगला आनंद पीरामल के पिता अजय पीरामल ने खरीदा था.

Piramal Group Greenwoods Bungalow in Mahabaleshwar

2/9

अजय पीरामल और उनकी वाइफ स्वाति ने साल 2006 में हॉलिडे होम के तौर पर महाबलेश्वर में ग्रीनवुड्स बंगला खरीदा था. ग्रीनवुड्स बंगले को सांगली के महाराज विजय सिंह पटवर्धन के पूर्वजों ने 1862 में करवाया था. पीरामल ने इस हेरिटेज बिल्डिंग को खरीदकर रिस्टोर करवाया. यह बंगला मराठा-विक्टोरियन स्टाइल में बना है.

Flowering is the ambition of Swati Piramal, Mahabaleshwar

3/9

पीरामल एंटप्राइसेज की वाइस चेयरपर्सन स्वाति पीरामल को गार्डेनिंग का शौक है. उन्होंने अपने इस बंगले को फूलों की अलग-अलग वैराइटीज से सजाया है. ग्रीनवुड्स बंगले में ऑर्किड, लिली, अफ्रीकन डेजी, अलकेमिलिया, एस्टर, डेफोडिल, क्विंस, मांडेविला आदि वेराइटी मौजूद हैं.

Diwankhana in Piramal Bungalow, Mahabaleshwar

4/9

बंगले का मुख्य आकर्षण है दीवानखाना, यह ज्यादा नृत्य और संगीत के लिए इस्तेमाल होता था. हालांकि, अब इसे लिविंग रूम में तब्दील कर दिया गया है. इसके दूसरी तरफ बेडरूम बने हैं.

Gardening area in Piramal Bungalow, Mahabaleshwar

5/9

स्वाति पीरामल के मुताबिक, उनके बेटे आनंद को भी गार्डनिंग का शौक है. यहां से ही प्रेरित होकर पीरामल रियल्टी प्रोजेक्ट की नीव रखी गई. अब इस रियल्टी प्रोजेक्ट को आनंद पीरामल ही हेड करते हैं. जब स्वाति से पूछा गया कि उन्हें कौन सा फूल पसंद है. उन्होंने कहा 'ऑर्किड'. उन्हें उसके रंग और पैटर्न बहुत आकर्षित करते हैं.

Guest room & library in Piramal Bungalow, Mahabaleshwar

6/9

बंगले के एक और अहम हिस्से में गेस्ट रूम्स हैं. हालांकि, पहले इन कमरों का इस्तेमाल रॉयल फैमिली के घोड़े रखने के लिए होता था. अब यहां टेलीविजन सेट, डाइनिंग टेबल है और ऊपर के लेवल पर एक छोटी लाइब्रेरी बनी है.

Flower Show in Piramal Bungalow in Mahabaleshwar

7/9

हर साल यहां फ्लॉवर शो के तहत फूलों को एक थीम पर सजाया जाता है. दिसंबर 2013 में नेल्सन मंडेला की मृत्यु के बाद उन्हें श्रृद्धांजलि देने के लिए 'मदिबा गार्डन' नाम से इन्हें सजाया गया. 2014 में ब्राजील की थीम पर इन्हें सजाया गया. क्योंकि, इस दौरान फीफा वर्ल्ड कप खेला गया था.

Piramal Bungalow in Mahabaleshwar

8/9

पीरामल फ्लोरल वीकएंड के दौरान यहां आने वाल गेस्ट को महाबलेश्वर की सर्द शाम में गर्म पेय दिया जाता है. इसके अलावा, वाइन, स्पाइस्ड हॉट चॉकलेट और पारंपरिक कहवा परोसा जाता है.

Wishing Well in Greenwoods, Mahabaleshwar

9/9

यहां एक विशिंग वेल गार्डन भी है, कहा जाता है कि यहां कुएं में सिक्का डालकर अपनी मन्नत मांगते हैं. सभी आने वाले टूरिस्ट को इस खेल में शामिल होना होता है. कुएं में सिक्के डालना हर किसी के बस की बात नहीं. कुछ ही लोग इस कर पाते हैं. हालांकि, एक बार अजय पीरामल सिक्का डालने में कामयाब रहे थे. पता नहीं शायद उन्होंने क्या मांगा होगा....

http://zeenews.india.com/hindi/photo-gallery/isha-ambani-in-laws-piramal-bungalow-in-mahabaleshwar-check-out-pics/402987

अगला लेख: Raazi Movie Review: आलिया भट्ट की 'राज़ी' हर मामले में लगेगी बेस्ट



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
11 मई 2018
जॉन अब्राहम की बहुप्रतीक्षित फिल्म परमाणु का ट्रेलर आज दोपहर जारी किया जाएगा. पिछले कुछ महीनों में कई बार फिल्म की रिलीज टल चुकी है. फिल्म निर्माण से जुड़े लोगों के आपसी विवाद भी सतह पर देखने को मिले. रिपोर्ट्स की मानें तो अब फिल्म की रिलीज का रास्ता साफ हो गया है. ये फिल्
11 मई 2018
22 मई 2018
दिल्ली स्थित केंद्रीय यूनिवर्सिटी जामिया मिल्लिया इस्लामिया के आधिकारिक वेबसाइट को हैक कर लिया गया | वेबसाइट पर "Happy Birthday Pooja " डिस्प्ले हो रहा था | इस पर ट्विटर ने भी जमकर मजा लिया |
22 मई 2018
18 मई 2018
दुनिया का सबसे मुश्किल काम है किसी को हंसाना. हंसी को हल्के में लेने वाले शायद ये नहीं जानते कि हंसना एक गंभीर कला है. आज लोगों को हंसाने के लिए लोग स्टैंडअप करते हैं, टीवी शो दिखाये जाते हैं.हंसना आज बहुत मुश्किल काम हो गया है. कोई हंसाना चाहता है तो उस पर मानहानि का आरो
18 मई 2018
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x