आखिर अमिताभ की 'सूर्यवंशम' टीवी पर बार बार क्यों दिखाई जाती है, जानें

25 मई 2018   |  प्राची सिंह   (560 बार पढ़ा जा चुका है)

आखिर अमिताभ की 'सूर्यवंशम' टीवी पर बार बार क्यों दिखाई जाती है, जानें

अमिताभ बच्चन की फिल्म 'सूर्यवंशम' को रिलीज हुए 19 साल पूरे हो गए हैं। 21 मई, 1999 को आई इस फिल्म ने थिएटर से कहीं ज्यादा टीवी के जरिए सुर्खियों बंटोरी है। इस फिल्म को टीवी पर इतनी बार दिखाया जा चुका है कि ऑडियंस को फिल्म के कैरेक्टर के साथ-साथ इसके डायलॉग भी याद हो गए हैं। अमूमन, अमिताभ अपनी फिल्मों की सालगिरह पर उनसे जुड़ी यादें ट्विटर पर साझा करते हैं।
PunjabKesari
फिल्म 'सूर्यवंशम' के 19 साल पूरे होने पर भी बिग बी ने एक फैन के ट्वीट को री-ट्वीट किया, जिसकी वजह से उन्हें ट्रोलिंग का शिकार होना पड़ रहा है।
PunjabKesari
एक फैन ने ट्रोल करते हुए लिखा, 'ये टीवी पर इतना आती है कि एक बार इंसान अपने बाप का नाम भूल जाए लेकिन हीरा ठाकुर का कभी नहीं भूलेगा'।
PunjabKesari
आपके मन में भी ये सवाल यही उठता होगा कि आखिर सूर्यवंशम फिल्म में ऐसा क्या है कि इसे हर दूसरे-तीसरे दिन दिखाया जाता है। तो आज हम आपको इसका कारण बताने जा रहें हैं। इसके दो कारण सामने आए हैं।
PunjabKesari
पहला यह कि जिस साल फिल्म रिलीज हुई थी, उसी साल मैक्स चैनल को लॉन्च किया गया था। दोनों को एक जैसा समय इंडस्ट्री में होता जा रहा है। इसलि‍ए चैनल के अध‍िकारियों का फिल्म से भावनात्मक लगाव है।
PunjabKesari
दूसरी वजह है कि चैनल ने इस फिल्म के अधिकार 100 सालों के लिए खरीदे हैं। इसलिए इसे कभी भी दिखाने पर किसी तरह की कोई रोक-टोक नहीं है।
PunjabKesari
फिल्‍म को लेकर यूजर्स के अलग-अलग कमेंट्स आ रहे हैं। एक यूजर ने लिखा,' जब तक सोनी मेक्‍स चैनल रहेगा सूर्यवंशम मूवी चलती रहेगी।'


आखिर अमिताभ की 'सूर्यवंशम' टीवी पर बार बार क्यों दिखाई जाती है, जानें

http://www.bollywoodtadka.in/entertainment/news/amitabh-bachchan-sooryavansham-why-telecast-repeatedly-set-max-806419

अगला लेख: 'मां कसम'! फिल्मों के ये 10 डायलॉग्स अंदर तक हिला देंगे आपको |



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
02 जून 2018
रिलायंस इंडस्ट्रीज के मालिक मुकेश अंबानी की बेशुमार दौलत के आगे अच्छे-अच्छे धनवान भी पानी भरते हैं। मुकेश अंबानी जितना अपनी दौलत की वजह से चर्चा में रहते हैं, उतना ही अपनी सादगी के लिए भी जाने जाते हैं।न सिर्फ मुकेश अंबानी का घर बल्कि उनकी
02 जून 2018
22 मई 2018
FollowThird party image referenceसियासत में न दोस्त स्थाई होते हैं , न दुश्मन . मौके की नजाकत हमेशा नए रिश्ते की बुनियाद रखता है . कल देर शाम अखिलेश यादव जब काली मर्सिडीज में बैठकर मायावती के घर पहुंचे तो इस नए रिश्ते की बुनियाद रख दी गई . यूपी के गेस्ट हाउस कांड के बाद श
22 मई 2018
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x