ये बंदा दिल्ली मेट्रो की सुरंग में घुसा और अगले स्टेशन पर बाहर निकला

27 मई 2018   |  प्राची सिंह   (206 बार पढ़ा जा चुका है)

ये बंदा दिल्ली मेट्रो की सुरंग में घुसा और अगले स्टेशन पर बाहर निकला

दिल्ली मेट्रो में एक खतरनाक हादसा होते-होते रह गया. एक आदमी येलो लाइन के अंडरग्राउंड साकेत मेट्रो टनल में घुस गया और अगले स्टेशन मालवीय नगर पर बाहर निकला. मतलब वो इस दौरान तकरीबन एक किलोमीटर लंबी अंधेरी सुरंग में चला. जब मालवीय नगर पर बाहर निकला तो लोग उसे देखकर हैरान हो गए. वो बिना शर्ट के घूम रहा था और उसकी छाती से खून निकल रहा था. मेट्रो स्टेशन पर मौजूद कुछ लोग इसका वीडियो बनाने में लग गए, तो कुछ ने उसे पानी ऑफर किया. इतनी ही देर में वहां मेट्रो सिक्योरिटी में लगे जवान आ गए और उसे धर लिया. मामला 25 मई की शाम 7.30 बजे का है.

मेट्रो मैनेजमेंट और जनता इस बात से हैरान थी कि इतनी सिक्योरिटी के बीच उसने ये सब किया कैसा. CISF के जवानों से पूछताछ करने पर पता लगा कि ये पहला मौका है जब कोई आदमी मेट्रो टनल में घुस पाया है. ऐसा करने की कोशिश पहले भी की गई है लेकिन होने नहीं दिया गया. इस बार कहीं चूक हुई और ये आदमी प्लैटफॉर्म पर उतरकर सुरंग में घुस गया. इसके चक्कर में कुछ देर के लिए मेट्रो रुकी रही.

अगर मेट्रो पुलिस की मानें तो ये शख्स साकेत स्टेशन पर लेडिज़ कोच में घुस गया था. वहां से इसे निकालकर 250 रुपए का फाइन लगाया गया था. इसके बाद वो प्लैटफॉर्म पर उतरा और दौड़कर सुरंग में घुस गया. फौरन इस बात की जानकारी मालवीय नगर के स्टेशन कंट्रोलर को दी गई और अगली मेट्रो को रोका गया. इससे इस आदमी की जान बच गई. वो ट्रैक पर दौड़ने के दौरान कई बार गिरा गया था, जिसकी वजह से उसकी छाती से खून निकल रहा था.

लोगों को लगा कि ये आदमी नशे में है. किसी का सामान चोरी करके या फाइन से बचने के लिए भाग रहा है. लेकिन इसके थोड़ी ही देर बाद इस 25 साल के इस लड़के के पापा मेट्रो स्टेशन पहुंचे और अधिकारियों से उसके बेटे को छोड़ने के लिए कहने लगे. उन्होंने बताया कि उनका बेटा मानसिक रुप से बीमार है और रोहिणी के अस्पताल में उसका ईलाज चल रहा है. उन्होंने सबूत के तौर डॉक्टर की पर्ची भी दिखाई. जिसके बाद उसे छोड़ दिया गया. उस पर कोई केस नहीं दर्ज़ किया गया है.

इस लड़के के पापा ने बताया कि इसके दिमाग का इलाज़ चल रहा है. (फोटो: एएआई).

ये मेट्रो से जुड़ी पिछले कुछ दिनों में हुई दूसरी घटना है. अभी कुछ ही दिन पहले एक आदमी मेट्रो ट्रैक पर उतरकर दूसरे प्लैटफॉर्म पर जाता दिखा था. मेट्रो पुलिस का कहना है कि इस तरह की घटनाओं को प्लैटफॉर्म स्क्रीन डोर लगाकर ही रोका जा सकता है. प्लैटफॉर्म स्क्रीन डोर एक तरह का इलेक्ट्रॉनिक दरवाजा होता है, जो सिर्फ मेट्रो के आने पर ही खुलता है. फिलहाल ये ऑटोमैटिक दरवाजे मेजंटा और पिंक लाइन के अलावा येलो लाइन के कुछ स्टेशनों पर ही लगे हैं.


A man entered the metro tunnel at Saket and came out at Malviya nagar metro station


https://www.thelallantop.com/news/a-man-entered-the-metro-tunnel-at-saket-and-came-out-at-malviya-nagar-metro-station/

अगला लेख: ये है हिंदुस्तान का तारा सिंह, पाकिस्तान में घुसकर वहां से ले आया अपनी दुल्हनिया .....



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
22 मई 2018
FollowThird party image referenceसियासत में न दोस्त स्थाई होते हैं , न दुश्मन . मौके की नजाकत हमेशा नए रिश्ते की बुनियाद रखता है . कल देर शाम अखिलेश यादव जब काली मर्सिडीज में बैठकर मायावती के घर पहुंचे तो इस नए रिश्ते की बुनियाद रख दी गई . यूपी के गेस्ट हाउस कांड के बाद श
22 मई 2018
25 मई 2018
अमिताभ बच्चन की फिल्म 'सूर्यवंशम' को रिलीज हुए 19 साल पूरे हो गए हैं। 21 मई, 1999 को आई इस फिल्म ने थिएटर से कहीं ज्यादा टीवी के जरिए सुर्खियों बंटोरी है। इस फिल्म को टीवी पर इतनी बार दिखाया जा चुका है कि ऑडियंस को फिल्म के कैरेक्टर के साथ-साथ इसके डायलॉग भी याद हो गए हैं। अमूमन, अमिताभ अपनी फिल्मों
25 मई 2018
03 जून 2018
एक महिला की शक्ति का आकंलन करना मुश्किल ही नहीं, नामुमकिन है. आज की औरत घर भी चलाना जानती है, तो बाहर की ज़िम्मेदारी भी. वो ज़माने की तमाम मुश्किलें झेल कर अपने परिवार की रक्षा करना जानती है. ये तो हुई एक आम महिला की बात, लेकिन इसके अलावा महिला का एकऔर रूप होता है, जो कि
03 जून 2018
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x