हर मर्द, हर औरत देखे कल्कि का ये वायरल वीडियो

08 जून 2018   |  प्राची सिंह   (825 बार पढ़ा जा चुका है)

हर मर्द, हर औरत देखे कल्कि का ये वायरल वीडियो - शब्द (shabd.in)

इस वीडियो को देखिए. एक बार नहीं. बार बार. ईयरफोन लगाकर. स्पीकर तेजकर. अकेले. दोस्तों के साथ. तब तक. जब तक इसकी एक एक आवाज, एक एक शब्द, एक एक भाव रोएं रोएं से भीतर न पैठ जाए.


ये कल्कि कोएचलिन हैं. ये उनकी लिखी कविता है. या कि एक सच्चाई. एक खौफ. जिसके हम सब जो पढ़ रहे हैं, हिस्सेदार हैं. कविता का शीर्षक है द प्रिटिंग मशीन. जो आवाज करती है- चर टक टक टाका डाका टक च्री. और फिर क्या होता है. एक चमकदार अखबार निकलता है. आयरन किया हुआ. या फिर एक ग्लॉसी शीट वाली मैगजीन. और क्या होता है इस दुनिया में. जिससे हमारी दुनिया की सुबह शुरू होती है. खबरें. अपनी पॉलिटिक्स के साथ आतीं. कि मासिक धर्म है गर औरतों को तो धर्म के घर मंदिर में नहीं जा सकती हैं वे. कि एक और बच्ची का गैंगरेप हो गया.


ये आवाज जो याद दिलाती है. सिंड्रेला की स्टोरीज में खोई लड़कियों. अब घर जाओ. रात के 10 बज चुके हैं. राजकुमार नहीं राक्षस घूम रहे हैं. ये मशीन, जो गिनवाती है सर. बाजार भाव की तरह. और तय करती है. इतने सर में बदला और इतने में तो युद्ध ही होगा. इनमें कुछ खांचे भी होते हैं. औरतों की बोली लगाते. मगर बात बदलकर. कहीं टेलिफोन ऑपरेटर की जरूरत है तो कहीं सच्ची दोस्ती या मसाज के लिए लड़कियों की.


और जो इनसे ऊपर हैं. जो ये अखबार पढ़ रहे हैं. उनके लिए क्या हैं. सॉफ्ट बेबी पिंक पसंद करवाया जाता है जिन्हें, वो लड़कियां. फेयर एंड लवली की तलबगार लड़कियां. उनके लिए बड़े बड़े हर्फों में सेल के ऐड छपे हैं. उन्हें सजना है. खुद को बनाकर रखना है. इन सबके इर्द गिर्द है भंवर. ट्वीट. स्टेटस अपडेट, व्हाट्सएप चैट से बना. स्माइली और चुम्मी वाले गोलुओं से लटपट. और फिर प्यार होता है. शादी भी. पर ये जरूरी नहीं. कि दोनों एक ही मुकाम पर पहुंचें. और औरत के लिए ऑप्शन भी कितने हैं. वो लड़ नहीं सकती. ब्रा और पैंटी में. उसे बिकिनी पहना दो. लुभाने दो.


तभी बच पाएगी वो. वर्ना डार्विन की थ्योरी का क्या काम. जो फिटेस्ट के सरवाइवल की बात करती है. और आखिर में है खौफ के पार एक बात. जो आंख में भोथरे चाकू सी धंसती है. धीमे धीमे. कि इस महान मुल्क की महानता पर चौड़े रहने वालों. ये विरासत मासूमों की दया के लिए कदमों पर गिरेगी एक दिन.

वीडियो अपनी संपूर्णता में भी एक असर पैदा करता है. शब्द हैं. बीच में आवाजें हैं. बदलती तस्वीरें हैं. अखबार की कतरने हैं. अंधेरा है. चीख है. जो कहीं पीछे से गूंजती आती रहती है. ये वीडियो कल्कि के ब्लश प्रोजेक्ट का एक हिस्सा है. इसमें औरत होने का गर्व बताया जाता है. बिना किसी माफी और अगर मगर के.


द प्रिंटिंग मशीन

इससे पहले इंडिया टुडे कॉन्क्लेव में भी कल्कि ने ऐसी ही एक झकझोरने वाली परफॉर्मेंस दी थी अपनी कविता के जरिए

इससे पहले इंडिया टुडे कॉन्क्लेव में भी कल्कि ने ऐसी ही एक झकझोरने वाली परफॉर्मेंस दी थी अपनी कविता के जरिए

bollywood actress kalki koechlin the printing machine unblushed viral video

https://www.thelallantop.com/jhamajham/bollywood-actress-kalki-koechlin-the-printing-machine-unblushed-viral-video/

अगला लेख: बुरे रिश्ते में रहने, आज़ाद होकर एक नई ज़िन्दगी शुरू करने की इस सुपरहीरो की दास्तां एक प्रेरणा है



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
09 जून 2018
हमारे जहन में जब भी इंटरव्यू की बात आती है तो पूरे शरीर में पसीना आने लगता है। लिखित में पेपर देना आसान होता है लेकिन इंटरव्यू में आपको अथाह नोलेज, हाजिरजवाबी और संयम तीनो की जरूरत पड़ती है।पहला सवाल तो अक्सर महिलाओ से पूछा जाता है, अगर आपके पति का किसी और महिला से अफेयर
09 जून 2018
30 मई 2018
Third party image referenceमेष राशिफलइस सप्ताह नए अवसर पर विचार करेंगे नए मित्र भी आपके लिए बन सकते हैं. कुछ लोगों से इस सप्ताह संबंध अच्छे हो जाएंगे नए अनुभव भी मिलने के योग आपके लिए बन रहे हैं. चली आ रही पुरानी परेशानियों पर नए सिरे से विचार करना होगा. खर्चे पर आप थोड़ा नियंत्रण बनाकर रखें कुछ लोग
30 मई 2018
28 मई 2018
- पतंजलि-बीएसएनएल ने मिलकर लॉन्च किया स्व देश ी समृद्धि सिम कार्ड- इस सिम के जरिए पतंजलि प्रोडक्ट्स पर 10% का डिस्काउंट भी मिलेगायोगगुरु बाबा रामदेव ने अब टेलीकॉम सेक्टर में एंट्री की है। रविवार को एक इवेंट में बाबा रामदेव ने एक सिम कार्ड
28 मई 2018
07 जून 2018
सोशल मीडिया पर दिनभर में बहुत कुछ दिखता है. अच्छा-बुरा, हर तरह का कॉन्टेंट. पर कुछ चीज़ें ऐसी होती हैं कि देखकर एकदम दिल खुश हो जाता है. बेंगलुरु से ऐसी ही एक फोटो आई है, जो आपने ऊपर देखी. इसकी कहानी भी दिल खुश कर देने वाली है.शुक्रवार की सुबह बेंगलुरु के दोद्दाथगुरु इलाक
07 जून 2018
08 जून 2018
एसिड अटैक सर्वाइवर्स को समाज या तो बहिष्कृत महसूस कराता है या फिर उनको संवेदना और दया भाव से ही देखा जाता है. दया दिखाने से ज़्यादा ज़रूरी है संवेदनशीलता दिखाना. सर्वाइवर्स की जगह पर ख़ुद को रखकर सोचने की ज़रूरत है.Source- KettoHumans of Bombayफ़ेसबुक पेज पर एक एसिड अटैक
08 जून 2018
27 मई 2018
दिल्ली मेट्रो में एक खतरनाक हादसा होते-होते रह गया. एक आदमी येलो लाइन के अंडरग्राउंड साकेत मेट्रो टनल में घुस गया और अगले स्टेशन मालवीय नगर पर बाहर निकला. मतलब वो इस दौरान तकरीबन एक किलोमीटर लंबी अंधेरी सुरंग में चला. जब मालवीय नगर पर बाहर निकला तो लोग उसे देखकर हैरान हो
27 मई 2018
07 जून 2018
आप बीमार हो और डॉक्टर को दिखाने हॉस्पिटल जाओ. लेकिन वहां पहुंच कर आपको पता चले कि आपका इलाज डॉक्टर के बजाय सफाई कर्मी करेगा. फिर तो कुछ देर के लिए सन्न हो जाओगे. सही-गलत की समझ होगी तो बवाल काट दोगे. लेकिन उत्तर प्रदेश में ऐसा न हुआ. क्योंकि ये घटना जहां की है, वहां हाई-फ
07 जून 2018
08 जून 2018
प्यार से ही दुनिया चल रही है. नफ़रत कितनी भी जगह क्यों न बना ले, अगर प्यार है तो हर मर्ज़ की दवा मिल जाती है, सारी परेशानियों का हल मिल जाता है.लेकिन कई बार कुछ लोग ग़लत इंसान से मोहब्बत कर लेते हैं. इतनी गहरी मोहब्बत कि उनके लिए सही-ग़लत के सारे पैमाने ख़त्म हो जाते हैं.
08 जून 2018
02 जून 2018
रिलायंस इंडस्ट्रीज के मालिक मुकेश अंबानी की बेशुमार दौलत के आगे अच्छे-अच्छे धनवान भी पानी भरते हैं। मुकेश अंबानी जितना अपनी दौलत की वजह से चर्चा में रहते हैं, उतना ही अपनी सादगी के लिए भी जाने जाते हैं।न सिर्फ मुकेश अंबानी का घर बल्कि उनकी पूरी लाइफस्टाइल चर्चा में बनी रह
02 जून 2018
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x