बुरे रिश्ते में रहने, आज़ाद होकर एक नई ज़िन्दगी शुरू करने की इस सुपरहीरो की दास्तां एक प्रेरणा है

08 जून 2018   |  प्राची सिंह   (156 बार पढ़ा जा चुका है)

बुरे रिश्ते में रहने, आज़ाद होकर एक नई ज़िन्दगी शुरू करने की इस सुपरहीरो की दास्तां एक प्रेरणा है

प्यार से ही दुनिया चल रही है. नफ़रत कितनी भी जगह क्यों न बना ले, अगर प्यार है तो हर मर्ज़ की दवा मिल जाती है, सारी परेशानियों का हल मिल जाता है.

लेकिन कई बार कुछ लोग ग़लत इंसान से मोहब्बत कर लेते हैं. इतनी गहरी मोहब्बत कि उनके लिए सही-ग़लत के सारे पैमाने ख़त्म हो जाते हैं. मोहब्बत में इंसान ऊपर उठे तो अच्छा है, अगर वो गिरने लगे तो उस रिश्ते को ख़त्म करने में ही भलाई है.


प्यार के आगे सब झूठ दिखाई देता है और आगे चलकर ऐसे ही रिश्ते Abusive Relation में बदल जाते हैं. प्यार है ठीक है पर किसी को ख़ुद पर हावी होने की इजाज़त कभी नहीं देनी चाहिए. प्यार एक ख़ूबसूरत एहसास है, लेकिन एक ख़राब Relationship को प्यार नहीं कह सकते.



Humans of Bombay, Facebook Page पर एक महिला ने ग़लत व्यक्ति के प्यार में अंधे होने, उसका खामियाज़ा भुगतने और उस रिश्ते से आज़ाद होकर ज़िन्दगी की नई शुरुआत करने की कहानी शेयर की.


'मुझे उससे पहली नज़र में ही प्यार हो गया था. वो मेरा 'Dream Guy' था. मैंने अपने Relationship के बारे में तुरंत अपने Parents को बता दिया क्योंकि मैं उससे शादी करने के लिए बेक़रार थी. वो Ship पर काम करता था, तो हम एक-दूसरे से काफ़ी कम मिलते थे. लेकिन फिर भी हम रोज़ बात करते थे. एक दिन मैं उसे Message कर रही थी और किसी ने मुझे Message करके पूछा कि मैं उसके Boyfriend को Message क्यों कर रही हूं? मुझे पता चला कि वो एक साथ दो लड़कियों को धोखा दे रहा था. पर मैं प्यार में अंधी हो चुकी थी. उसने मुझसे माफ़ी मांगी और मैं उससे शादी करने के लिए राज़ी हो गई.


शादी से कुछ देर पहले मेरे पापा ने मुझसे कहा, 'काश तुम अभी यहां से भाग जाती, अभी के अभी!'


मैंने उनकी बात नहीं सुनी. 'मैं अपने प्यार के लिए लड़ना चाहती थी!'

बीतते वक़्त के साथ वो Abusive होने लगा. मेरे In-Laws ने भी इस बात को नज़रअंदाज़ किया. नर्क थी वो ज़िन्दगी. बाहर के लोगों के लिए हम Perfect Couple थे, असलियत कुछ और ही थी. वो शादी के बाद भी मुझे धोखा देता रहा, लेकिन मैं उसे छोड़ नहीं सकती थी.


अगर कोई बार-बार आपसे बुरा बर्ताव करने लगे, तो आप भी यही सोचने लगते हैं कि आप वही Deserve करते हो. उसकी इतनी हिम्मत थी कि उसने मेरे पापा के सामने मुझ पर हाथ उठाया. मैंने उस दिन पापा को टूटते देखा, लेकिन मैंने उस आदमी को नहीं छोड़ा.


सब कुछ बदल गया, जब मेरे पापा की मौत हुई. वो आख़िर तक मुझे उसे रिश्ते से आज़ाद करवाना चाहते थे. पापा को खोने के दुख के दौरान मेरी आंखे खुली. मैं उस आदमी के साथ कोई रिश्ता नहीं रखना चाहती थी.


आज मुझे बस यही Regret है कि मेरे पापा ने इस डर के साथ दुनिया को अलविदा कहा कि उनके बाद उनकी बेटी को कहीं कुछ हो न जाये. उन्होंने मुझे एक Strong, Confident व्यक्ति की तरह बड़ा किया और मैंने अपनी आज़ादी की डोर एक ग़लत आदमी के हाथों में दे दी.

मुझे अपनी ज़िन्दगी की डोर दोबारा थामनी थी.


मैं उसके घर से निकल गई, Home Loan लेकर घर खरीदा. एक वक़्त था जब मेरे सपने बहुत बड़े थे. अब मुझे अपना पूरा Focus अपने करियर पर देना था. मुझे Equities में नौकरी मिली और मैं कड़ी मेहनत करने लगी. मेहनत रंग लाई और 20 साल के लोन को मैंने 2 साल में भर दिया.

अब मैं अपनी मां और अपना ख़्याल रखती हूं.


मुझे आख़िरकार आज़ादी मिली, Emotionally, Financially Independent हो गई. मुझे अपने आप से प्यार है. मैं हर साल एक नए देश में अकेले घूमने जाती हूं और अपने साथ कई सारी नई यादें बनाती हूं.


इस बुरे अनुभव ने मेरे सपने को नहीं बदला है, मैं आज भी परियों की कहानी में विश्वास रखती हूं और सपनों के राजकुमार में भी. लेकिन इस बार ये तभी होगा, जब मैं ख़ुद में Complete हो जाऊं. इस बार ये इसलिये होगा क्योंकि मुझे किसी से प्यार है, इसलिये नहीं कि मुझे किसी के साथ होना है. मुझे ख़ुद पर गर्व है और मेरी Wish है कि मेरे पापा जहां भी हों, उन्हें भी मुझ पर गर्व हो. मैं बस उनसे इतना कहना चाहती हूं, 'मैं वो Hero बन चुकी हूं, जिसे मैं सारी उम्र ढूंढ रही थी और पापा ये आपकी वजह से हुआ.'


प्रेम में पड़कर इस महिला को कभी न मिटने वाला दर्द मिला. पर वो हारी नहीं, गिरी और गिरकर उठी. आप भी सबक लें, अगर ऐसी किसी Situation में हैं, तो तुरंत उससे ख़ुद को आज़ाद करिये. ज़िन्दगी बहुत ख़ूबसूरत है, किसी पर भी इसे ज़ाया न करें.


बुरे रिश्ते में रहने, आज़ाद होकर एक नई ज़िन्दगी शुरू करने की इस सुपरहीरो की दास्तां एक प्रेरणा है

https://www.gazabpost.com/breaking-up-from-an-abusive-relationship-and-starting-life-afresh-the-story-of-this-woman-is-an-inspiration

अगला लेख: हर मर्द, हर औरत देखे कल्कि का ये वायरल वीडियो



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
28 मई 2018
- पतंजलि-बीएसएनएल ने मिलकर लॉन्च किया स्व देश ी समृद्धि सिम कार्ड- इस सिम के जरिए पतंजलि प्रोडक्ट्स पर 10% का डिस्काउंट भी मिलेगायोगगुरु बाबा रामदेव ने अब टेलीकॉम सेक्टर में एंट्री की है। रविवार को एक इवेंट में बाबा रामदेव ने एक सिम कार्ड
28 मई 2018
02 जून 2018
रिलायंस इंडस्ट्रीज के मालिक मुकेश अंबानी की बेशुमार दौलत के आगे अच्छे-अच्छे धनवान भी पानी भरते हैं। मुकेश अंबानी जितना अपनी दौलत की वजह से चर्चा में रहते हैं, उतना ही अपनी सादगी के लिए भी जाने जाते हैं।न सिर्फ मुकेश अंबानी का घर बल्कि उनकी
02 जून 2018
26 मई 2018
बरेली से एक दूल्हा अपनी दुल्हन को लेने 35 बरातियों के साथ पाकिस्तान पहुंच गया। वहां रस्मों रिवाज से निकाह कर दुल्हन के साथ इंडिया वापस लौटा। इस दौरान देश के दोनों बॉर्डर पर सेनाओं और अफसरों ने स्वागत किया। कोई नजर उतार रहा तो कोई बलाएं लेने में लगा है। 30 दिन के लिए आई इस
26 मई 2018
30 मई 2018
Third party image referenceमेष राशिफलइस सप्ताह नए अवसर पर विचार करेंगे नए मित्र भी आपके लिए बन सकते हैं. कुछ लोगों से इस सप्ताह संबंध अच्छे हो जाएंगे नए अनुभव भी मिलने के योग आपके लिए बन रहे हैं. चली आ रही पुरानी परेशानियों पर नए सिरे से विचार करना होगा. खर्चे पर आप थोड़ा नियंत्रण बनाकर रखें कुछ लोग
30 मई 2018
08 जून 2018
इस वीडियो को देखिए. एक बार नहीं. बार बार. ईयरफोन लगाकर. स्पीकर तेजकर. अकेले. दोस्तों के साथ. तब तक. जब तक इसकी एक एक आवाज, एक एक शब्द, एक एक भाव रोएं रोएं से भीतर न पैठ जाए.ये कल्कि कोएचलिन हैं. ये उनकी लिखी कविता है. या कि एक सच्चाई. एक खौफ. जिसके हम सब जो पढ़ रहे हैं, ह
08 जून 2018
07 जून 2018
सोशल मीडिया पर दिनभर में बहुत कुछ दिखता है. अच्छा-बुरा, हर तरह का कॉन्टेंट. पर कुछ चीज़ें ऐसी होती हैं कि देखकर एकदम दिल खुश हो जाता है. बेंगलुरु से ऐसी ही एक फोटो आई है, जो आपने ऊपर देखी. इसकी कहानी भी दिल खुश कर देने वाली है.शुक्रवार की सुबह बेंगलुरु के दोद्दाथगुरु इलाक
07 जून 2018
27 मई 2018
दिल्ली मेट्रो में एक खतरनाक हादसा होते-होते रह गया. एक आदमी येलो लाइन के अंडरग्राउंड साकेत मेट्रो टनल में घुस गया और अगले स्टेशन मालवीय नगर पर बाहर निकला. मतलब वो इस दौरान तकरीबन एक किलोमीटर लंबी अंधेरी सुरंग में चला. जब मालवीय नगर पर बाहर निकला तो लोग उसे देखकर हैरान हो
27 मई 2018
03 जून 2018
एक महिला की शक्ति का आकंलन करना मुश्किल ही नहीं, नामुमकिन है. आज की औरत घर भी चलाना जानती है, तो बाहर की ज़िम्मेदारी भी. वो ज़माने की तमाम मुश्किलें झेल कर अपने परिवार की रक्षा करना जानती है. ये तो हुई एक आम महिला की बात, लेकिन इसके अलावा महिला का एकऔर रूप होता है, जो कि
03 जून 2018
06 जून 2018
नई दिल्ली: अकसर देखा गया है कि रेल में यात्रा के दौरान परिवार के साथ चलते समय यात्री जरूरत से ज्यादा सामान लेकर चलते हैं. कई बार तो कुछ लोग अकेले होते हुए भी काफी सामान लेकर चलते हैं. मौजूद जगह पर वे ऐसे कब्जा करते हैं जैसे कि वे ही अकेले सफर क
06 जून 2018
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x