ये राम वाली डीपी मुसलमानों की साजिश है!

18 जून 2018   |  अभय शंकर   (230 बार पढ़ा जा चुका है)

बीते कुछ सालों में ईद और रमजान (कुछ लोग रमदान भी कहते हैं) के दौरान एक मैसेज व्हाट्सएप और फेसबुक में खूब वायरल होता था, जिसमें लिखा होता था कि Ramdan में Ram होता है और Diwali में Ali होता है.

अबकी बार ये ‘आपसी सौहार्द’ वाला मैसेज व्हाट्सएप और फेसबुक से नदारद था. अबकी बार रमदान वाले राम नदारद थे. अबकी बार अगर कोई थे, तो वो थे खंज़र वाले राम. लोगों को इस खंजर वाले राम के साथ मैसेज भी आने लगे –

पूरी ईद तक ये डीपी हर हिंदू के मोबाइल में होनी चाहिए.

और जंगल में लगी आग की तरह अगले आधे घंटे से कम के भीतर आधे से ज़्यादा लोगों की डीपी बदल कर ‘राम नाम’ हो गई. ये डीपी गोया एक सर्टिफिकेट था कि आप हिंदू हैं.

लेकिन फिर ये डीपी भी शक के दायरे में आ गई. जब एक बच्चे ने बताया कि ये सब मुसलमानों की साजिश है. बच्चा फोटो को ज़ूम करके समझा रहा था, और हम समझ रहे थे. बच्चे ने कहा –

हाय फ्रेंडस, मैं ‘नरेस’ आपके सामने एक हक़ीकत लेकर आया हूं. ‘देकिए’. आप सबने व्हाट्सऐप में ये डीपी रखी है. राम नाम का. लेकिन ये हकीकत में राम नाम का हे नई. ये आप लोगों को. आप लोगों को, हिंदू लोगों को, उल्लू बनाने के लिए मुसलमानों ने ये किया है…



फिर नरेश ने एक्सप्लेन किया कि इसमें तीन खंज़र हैं. खंज़र हिंदू यूज़ नहीं करते. (हथियार भी हिंदू मुस्लिम होते हैं!) इस वीडियो में नरेश हम सब को फोटो ज़ूम करके भी दिखाता है कि इसमें जानवरों के कटे अंग हैं.

इसके अलावा नरेश हमें इस फोटो में कटी हुई गाय भी दिखाता है. और हिंदू भाइयों से अनुरोध करता है कि –

प्लीज़ आप अपनी ये डीपी हटा दीजिए और दूसरी डीपी रखिए.

अब इस सब में एक बड़ी हास्यास्पद बात और एक सबक है. हास्यास्पद बात ये कि अब समझ में लोगों के ये नहीं आ रहा कि क्या ‘राम नाम’ के चक्कर में उन्होंने किसी मुस्लिम प्रोपोगेन्डा को तो प्रचारित नहीं कर दिया? मतलब डिलेमा, कन्फ्यूज़न या धर्मसंकट ऐसा है कि हर कोई अपने को ठगा सा महसूस कर रहा है.

राम नाम की लूट है, लूट सके तो लूट!
राम नाम की लूट है, लूट सके तो लूट!

ये अंतर है भेड़चाल और अपने विवेक से काम करने वाले लोगों के बीच. भेड़चाल वाले लोग हमेशा पीछे ही रहते हैं. भीड़ का हिस्सा. ये झंडा उठाए आगे रहने का माद्दा नहीं रखते. इन्हें लगता है कि जब इनके कर्मों के चलते उन्माद फैलेगा तो ये घर में सेफ रहेंगे. इन्होंने लोगों को मरते हुए नहीं देखा है.

ये तो थी हास्यास्पद बात. अब जो सबक है वो बताने का कोई फायदा नहीं. क्यूंकि दुनिया में दो तरह के लोग हैं – पहले वो लोग, जिन्हें सबक की कोई ज़रूरत नहीं क्यूंकि वो इन सब में शामिल नहीं हैं, और न ही कभी होंगे. उनके पास ‘विवेक’ नाम की चीज़ पहले से ही है. दूसरे वे लोग हैं जो धर्म और ‘राम नाम’ का प्रयोग किसी विशेष समुदाय को चिढ़ाने और घृणा पैदा करने के लिए कर रहे हैं. ये दूसरी तरह के लोग सोचें कि जब श्री राम अपने सामने उन्हें बिठाएंगे और ये लोग बताएंगे कि किसी विशेष धर्म के लोगों को चिढ़ाने के लिए उन्होंने राम का इस्तेमाल किया तो क्या राम उन्हें शाबाशी देंगे? ये कौन सा पुण्य कम रहे हैं ये लोग – व्हाट्सऐप में राम की फोटो लगाकर? भक्ति या प्रेम के चलते नहीं, अराजकता फैलाने के लिए. मुझे इन लोगों की मूढ़ता देखकर आश्चर्य होता है. लेकिन दुःख भी होता है. क्यूंकि ये लोग नहीं जानते कि इनका इस्तेमाल हो रहा है. एक संख्या की तरह. जब विवेक मर जाता है तो आदमी गिनती हो जाता है. – 500 लोग मारे गए, जुलूस में 1,00,000 लोग आए थे….

ये 500 लोगों में से एक बनना बड़ा आसान है. मगर समझ का पैदा होना मुश्किल. इस्तेमाल होना बड़ा आसान है. कभी देशभक्ति के नाम पर, कभी ईशभक्ति के नाम पर, कभी किसी नेता, किसी कलाकार की भक्ति के नाम पर.

तो नहीं मुझे इन मारे जाने वाले 500 लोगों, जुलूस में आए 1,00,000 लोगों, नारे लगाते आंखों में पट्टी बांधे लोगों से कुछ नहीं कहना. इनका राम मेरा राम नहीं. मेरा राम डरावना नहीं. मेरा राम तीन खंज़र वाला राम नहीं. मेरा राम डीपी और व्हाट्सऐप वाला राम नहीं. मेरा राम दूसरे के त्योहारों का मज़ा किरकिरा करने का राम नहीं. मेरा राम उन्माद फ़ैलाने वाला हत्याओं को अंजाम देने वाला राम नहीं. और मेरा राम जो है वो इनको नहीं दिखेगा.


(बहरहाल नरेश अपने पहले ही कुछ वाक्यों में दो बार ‘हक़ीकत’ शब्द का यूज़ कर लेता है जो एक सच्चा हिंदू कभी नहीं करेगा. लेकिन नरेश मेरी नज़र में हिंदू या मुस्लिम नहीं, एक बच्चा है. एक अबोध बच्चा. मेरा राम उसे माफ़ करेगा. क्यूंकि मेरा राम किसी व्हाट्सऐप की डीपी नहीं, मर्यादा पुरुषोत्तम है.)


Shri Ram DP, which went viral during Eid is said to be a Muslim propaganda

https://www.thelallantop.com/jhamajham/shri-ram-dp-which-went-viral-during-eid-is-said-to-be-a-muslim-propaganda/

अगला लेख: अगर आप सोचते हैं कि दुनिया में आप से बड़ा जुगाड़ू कोई नहीं, तो इन महारथियों के ये 26 जुगाड़ देख लो



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
05 जून 2018
बीजेपी के एक बड़े नेता को लोगों ने दौड़ा-दौड़ाकर पीटा. चूते-चप्पल फेंके उनपर. नेता जी की ऐसी हालत हुई कि सिर पर पैर रखकर भागे. सरपट भागे.क्या? आपको नहीं पता लगा? कोई खबर नहीं आई? टीवी, अखबार, कहीं नहीं दिखी?ओहो. अब समझ आया. इतनी बड़ी खबर आप तक क्यों नहीं पहुंची. ये ‘बिकाऊ
05 जून 2018
18 जून 2018
बेरोजगारी बहुत बढ़ गई है. चपरासी की वेकैंसी आती है और बीएड किए लड़के-लड़कियां फॉर्म भर देते हैं. ऐसी हालत है, तो सरकार क्या कर रही है? लंबी-चौड़ी पॉलिसी लिखें, आंकड़े गिनाएं और नीति आयोग का कच्चा-चिट्ठा लिखें. भारी हो जाएगा न मगर ये सब? इसीलिए एक लाइन में सबूत देते हैं. क
18 जून 2018
12 जून 2018
बबीता फोगट. ‘गित्ता ओर बबित्ता’ वाली बबीता फोगट. ग्लासगो कॉमनवेल्थ गेम्स में 55 किलो कैटेगरी में गोल्ड वाली बबीता फोगट. ट्वीट कर रही हैं कि यूनेस्को (UNESCO) ने हमारे (अर्थात भारत के) राष्ट्रगान को विश्व का सबसे बेहतरीन राष्ट्रगान घोषित कर दिया है. ये वो मेसेज है जो कॉकरो
12 जून 2018
19 जून 2018
आजकल खिचड़ी चर्चा का विषय बनी हुई है। नेताओं से लेकर सोशल मीडिया तक में खिचड़ी पर ही बातें हो रही हैं। खैर कुछ भी हो लेकिन हमने भी खिचड़ी की तरह सब कुछ मिलाकर आपके लिए तैयार की है खिचड़ी की कहानी …नेपाल से आती है सबसे पहली खिचड़ीलोक मान्यताओं के अनुसार सबसे पहले खिचड़ी बन
19 जून 2018
05 जून 2018
हमारे देश में सबसे Popular कोर्स है इंजीनियरिंग. 'बस बेटा 12th के बाद इंजीनियरिंग कर लो, लाइफ़ सेट है', जैसे जुमले तो आम हैं. लेकिन शायद कुछ लोग सिर्फ़ पीयर प्रेशर के चलते इंजीनियरिंग कर लेते हैं और उसी का उदाहरण है इंजीनियर्स के ये अजीबोगरीब एक्सपेरिमेंट्स. फ़ोटोज़ देखने
05 जून 2018
08 जून 2018
बारात वाली लाइट अपने सर पर उठाए हुए इस औरत की तस्वीर लगभग 4 दिनों से फेसबुक पर चक्कर लगा रही है. पिछले 4 दिनों में अपनी टाइमलाइन देखें, तो पाएंगे कि कई लोगों ने इस तस्वीर को शेयर किया है. सबने अलग-अलग कैप्शन लिखकर.ये तस्वीर असल में महेश बग्जई नाम के फोटोग्राफर ने इंदौर मे
08 जून 2018
05 जून 2018
Mysterious hidden treasures story in Hindi: दुनियाभर में कई गुप्त और रहस्यमयी खजाने हैं, जिन्हें कोई नहीं ढूंढ पाया है। बावजूद इसके, लोगों की कोशिशें कम नहीं हुई हैं। इन खजानों में सोने, चांदी और कीमती जेवरात हैं। खास बात ये है कि लोग इन खजानों को ढूंढकर लोग जल्दी अमीर बन
05 जून 2018
09 जून 2018
पिछले दिनों शाहरुख़ ट्विटर पर अपने फैंस के साथ ‘शाहरुख़ से सवाल’ यानी #Asksrk खेल रहे थे. कुछ लोगों वहां उनके लिए अपने प्यार का इज़हार कर रहे थे, तो दूसरी ओर कुछ लोग ऐसे भी थे कश्मीर और दंगों के मुद्दे पर उनसे जवाब मांगने में लगे हुए थे. लेकिन हर बार की तरह शाहरुख़ ने हाज
09 जून 2018
05 जून 2018
बिहार में इन दिनों कहलगांव के DSP दिलनवाज अहमद सुर्खियों में हैं। दरअसल, उन्होंने एक ऐसे गोरखधंधे का पर्दाफाश किया है, जो थाना-पुलिस और खनन विभाग की साठगांठ से खुलेआम चल रहा था। इसके लिए बाकायदा उन्होंने ट्रक ड्राइवर तक का भेष धारण किया। पूरे मामले के खुलासे के बाद मुंगेर
05 जून 2018
03 जून 2018
पीटीआई-भाषा संवाददाता 10:52 H दिल्ली , तीन जून (भाषा) उत्पादक क्षेत्रों से आपूर्ति बढ़ने और पर्याप्त स्टॉक के मुकाबले आटा मिलों का उठाव कम होने के कारण राष्ट्रीय राजधानी , दिल्ली के थोक अनाज बाजार में बीते सप्ताह गेहूं की कीमतों में गिरावट आई। हालांकि उपभोक
03 जून 2018
06 जून 2018
14 साल का राजू यादव जो की हजारीबाग, झारखंड में अपने माता-पिता और दो भाइयों के साथ रहता था। जब वो छठी क्लास में था तभी उसे अपनी पढ़ाई छोड़नी पड़ी, वजह था परिवार पर हज़ारों का कर्ज और माता-पिता की खराब तबियत। राजू भाइयों में सबसे बड़ा था और परिवार की आर्थिक ज़रूरतों को पूरा करने
06 जून 2018
03 जून 2018
पे
पीटीआई-भाषा संवाददाता 10:56 H दिल्ली, तीन जून (भाषा) क्यूं हर दिन बढ़ रहे हैं पेट्रोल और डीजल के दाम? , राजनीतिक रूप से संवेदनशील और आम आदमी से जुड़े इस मसले की गंभीरता को देखते हुए भी सरकार इस मामले में हस्तक्षेप को लेकर पशोपेश में क्यूं है और निकट
03 जून 2018
08 जून 2018
कितने दुर्भाग्य की बात है कि जिन बच्चों को मां-बाप अपना पेट काटकर बड़ा करते हैं. अपने बच्चों की खुशियों के लिए मां-बाप अपनी खुशियों को क़ुर्बान कर देते हैं, वही बच्चे बड़े होकर उनको दाने-दाने को मोहताज कर देते हैं. वहीं एक बात ये भी है कि जो बेटी अपने माता-पिता के लिए एक शब्
08 जून 2018
13 जून 2018
क्या आपको पता है कि 'Signage' की हमारी ज़िन्दगी में क्या वैल्यू है? भाई पता बताने के लिए, रास्ता बताने के लिए, होटल के Menu, Men's-Women's Toilet, दुकान, दुकान का सामान, आदि, सबके लिए इनकी ज़रूरत पड़ती है. लेकिन एक चीज़ है, जो सबसे ज़्यादा ज़रूरी है! और वो है 'हंसना'. तो आइये,
13 जून 2018
04 जून 2018
अगर आप सोशल मीडिया पर हैं और ये सब नहीं देखा-पढ़ा. मतलब आपने कुछ देखा ही नहीं. दर्जनों तस्वीरें. दर्जनों विडियो. सोशल मीडिया पर नेहरू की ‘चरित्रहीनता’ साबित करने के लिए एक खजाना मौजूद है. इसी खजाने में शामिल एक पोस्ट पिछले कई महीनों से खूब
04 जून 2018
05 जून 2018
इंडिया के सबसे अमीर आदमी के बेटे आकाश अंबानी (जियो चलाया है, बाप का नाम तो सुना ही होगा) की शादी होने जा रही है. हीरा व्यापारी रसल मेहता की बेटी श्र्लोका मेहता से. लेकिन शादी के पहले भी तो कुछ फंक्शन होते हैं. एंगेजमेंट वगैरह टाइप. तो प्रपोज़ कर अंगूठी पहनाने वाली रस्म गो
05 जून 2018
09 जून 2018
इन तस्वीर को देखकर उड़ जायेंगे आपके भी होश | हँसते- हँसते हो जायेंगे लोट-पोट |
09 जून 2018
12 जून 2018
बबीता फोगट. ‘गित्ता ओर बबित्ता’ वाली बबीता फोगट. ग्लासगो कॉमनवेल्थ गेम्स में 55 किलो कैटेगरी में गोल्ड वाली बबीता फोगट. ट्वीट कर रही हैं कि यूनेस्को (UNESCO) ने हमारे (अर्थात भारत के) राष्ट्रगान को विश्व का सबसे बेहतरीन राष्ट्रगान घोषित कर दिया है. ये वो मेसेज है जो कॉकरो
12 जून 2018
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x