आज का शब्द (२)

11 अप्रैल 2015   |  शब्दनगरी संगठन   (232 बार पढ़ा जा चुका है)

आज का शब्द (२)

लब्बोलुआब :

१-सारांश, सार, निचोड़, संक्षेप;


२-भावार्थ, तात्पर्य;


प्रयोग: उन लोगों की पूरी बात का लब्बोलुआब बस यही है कि उन्हें अधिक से अधिक पैसा चाहिए.








शनिवार, ११ अप्रैल, 2015

अगला लेख: आज का शब्द (३)



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
16 अप्रैल 2015
पथ्य : १- शीघ्र पचने वाला भोजन जो रोगी को दिया जाता है. २- संयमित आहार ३- पथ अथवा मार्ग सम्बन्धी प्रयोग: १- रोज़-रोज़ पथ्य खाकर रोगी उकता जाता है I २-स्वस्थ रहने के लिए पथ्य अति आवश्यक है I ३- पथ्य कार्य के कारण, इन दिनों इस मार्ग पर अधिक भीड़ रहती है I १६ अप्रैल, २०१५
16 अप्रैल 2015
03 अप्रैल 2015
जनता में एक भाषा के माध्यम से ही एकता आ सकती है. दो भाषाएँ जनता को निश्चय ही विभाजित कर देंगी, यह एक अटल नियम है. भाषा के माध्यम से संस्कृति सुरक्षित रहती है. चूंकि भारतीय एक होकर सामान्य सांस्कृतिक विकास करने के आकांक्षी हैं, अतः सभी भारतीयों का यह अनिवार्य कर्त्तव्य है कि वह हिन्दी को अपनी भाषा के
03 अप्रैल 2015
02 अप्रैल 2015
महीना अप्रैल का...अजी इसमें ख़ास क्या है, हर साल आता है, मार्च के बाद और मई से पहले. लेकिन, सच कहें तो पूरे वर्ष अप्रैल में कुछ ऐसा होता है जो बाक़ी के महीनों में नहीं होता. इस महीने की शुरूआत को ही देखिये, कैसा बुद्धू बनाकर आता है. पहली अप्रैल यानि हंसी-मज़ाक का दिन 'एप्रिल फ़ूल'. अपने-अपने ढंग से अपन
02 अप्रैल 2015
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x