यार मदारी

11 अप्रैल 2015   |  शब्दनगरी संगठन   (1093 बार पढ़ा जा चुका है)

यार मदारी

यार मदारी!
तुम अच्छे हो;
रस्सी पर चल लेते हो,
लोहे के छल्ले से कैसे
ये करतब कर लेते हो?
एक पैसे से दो फिर दो से,
चार उन्हें कर देते हो;
हाँ तो जमूरे कह-कह के,
क्या से क्या कर देते हो I
कालू-भालू और बंदरिया
सबको नचाते एक उंगली पर,
एक डुगडुगी की थापों पर
सबका मन हर लेते हो I
जीवन की पगडंडी पर,
मुझे भी चलना सिखला दो,
कैसे मनाऊँ प्रियजन को,
ये मुझको बतला दो I
प्रेम की डुगडुगी
कैसे बजती,
वो संगीत सिखा दो !


-ओम

अगला लेख: आज का शब्द (२)



भारतीय सांस्कृतिक कला का उत्कृष्ट वर्णन

Rajat Vynar
11 अप्रैल 2015

वाह-वाह... अति सुन्दर कविता।

शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
11 अप्रैल 2015
लब्बोलुआब : १-सारांश, सार, निचोड़, संक्षेप; २-भावार्थ, तात्पर्य; प्रयोग: उन लोगों की पूरी बात का लब्बोलुआब बस यही है कि उन्हें अधिक से अधिक पैसा चाहिए. शनिवार, ११ अप्रैल, 2015
11 अप्रैल 2015
16 अप्रैल 2015
पथ्य : १- शीघ्र पचने वाला भोजन जो रोगी को दिया जाता है. २- संयमित आहार ३- पथ अथवा मार्ग सम्बन्धी प्रयोग: १- रोज़-रोज़ पथ्य खाकर रोगी उकता जाता है I २-स्वस्थ रहने के लिए पथ्य अति आवश्यक है I ३- पथ्य कार्य के कारण, इन दिनों इस मार्ग पर अधिक भीड़ रहती है I १६ अप्रैल, २०१५
16 अप्रैल 2015
13 अप्रैल 2015
सा
निश्चय ही मनुष्य की संकल्प शक्ति का पारावार नहीं, यदि वह मानसिक तथा शारीरिक क्षमता बढ़ाने में ही स्वयं को लगा दे, तो ऐसा बलवान बन सकता है जिसे देखकर लोग आश्चर्यचकित हो जाएँ. दृढ संकल्प के साथ उद्द्यम, आशा और साहस का संयुक्त समन्वय हो, तो वह असाध्य रोगों से भी लड़ सकता है. मनुष्य, दृढ संकल्प शक्ति के ब
13 अप्रैल 2015
सम्बंधित
लोकप्रिय
31 मार्च 2015
11 अप्रैल 2015
10 अप्रैल 2015
11 अप्रैल 2015
20 अप्रैल 2015
03 अप्रैल 2015
11 अप्रैल 2015
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x