साहस

13 अप्रैल 2015   |  शब्दनगरी संगठन   (222 बार पढ़ा जा चुका है)

निश्चय ही मनुष्य की संकल्प शक्ति का पारावार नहीं, यदि वह मानसिक तथा शारीरिक क्षमता बढ़ाने में ही स्वयं को लगा दे, तो ऐसा बलवान बन सकता है जिसे देखकर लोग आश्चर्यचकित हो जाएँ. दृढ संकल्प के साथ उद्द्यम, आशा और साहस का संयुक्त समन्वय हो, तो वह असाध्य रोगों से भी लड़ सकता है. मनुष्य, दृढ संकल्प शक्ति के बल पर, मांसपेशियों को फौलाद बना सकता है. मुख-सज्जा जितनी समस्त श्रृंगार साधनों से मिलकर हो सकती है, उससे असंख्य गुनी अधिक सुंदरता वह मुस्कान, मस्ती और हंसी-खुशी के द्वारा अर्जित कर सकता है.


साहस किन्हीं बाह्य साधनों से नहीं लाया जाता, यह तो सदैव मनुष्य के अंतःकरण में विद्द्यमान है. समय आने पर उसे मात्र जगाने भर की आवश्यकता होती है. सूझबूझ, दूरदर्शिता, प्रत्युत्पन्नमति साहसी व्यक्तियों को उचित सम्बल प्रदान करते हैं एवं श्रेय तथा सम्मान के अधिकारी बनाते है.







अगला लेख: आज का शब्द (२)



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
11 अप्रैल 2015
यार मदारी! तुम अच्छे हो; रस्सी पर चल लेते हो, लोहे के छल्ले से कैसे ये करतब कर लेते हो? एक पैसे से दो फिर दो से, चार उन्हें कर देते हो; हाँ तो जमूरे कह-कह के, क्या से क्या कर देते हो I कालू-भालू और बंदरिया सबको नचाते एक उंगली पर, एक डुगडुगी की थापों पर सबका मन हर लेते हो I जीवन की पगडंडी पर, मु
11 अप्रैल 2015
20 अप्रैल 2015
पल्लवी : १- जड़, तने, शाखा तथा पत्तियों से युक्त बहुवर्षीय वनस्पति, २- नए पत्तों से युक्त ३- पेड़, वृक्ष, पादप, तरु प्रयोग : पूजा-गृह के पास पल्लवी पर पीले प्रसून अति सुन्दर प्रतीत हो रहे हैं I
20 अप्रैल 2015
13 अप्रैल 2015
कैसे मनाएं बैसाखी, कैसे ढोल नगाड़े बाजें, कैसे करे भांगड़ा कोई, कैसे खेले कोई गिद्दा. फ़सल पकी थीं स्वप्नों में, आशाएं थीं अपनों में, मौसम ने पानी फेरा यूँ, अन्न के स्वर्णिम रत्नों में. पूरे बरस की खेती-कमाई, जाती रही सब हांथों से, जैसे खींचे जान कोई, आती-जाती साँसों से. दिन वो भी बैसाखी था, त
13 अप्रैल 2015
सम्बंधित
लोकप्रिय
10 अप्रैल 2015
16 अप्रैल 2015
11 अप्रैल 2015
11 अप्रैल 2015
11 अप्रैल 2015
03 अप्रैल 2015
03 अप्रैल 2015
11 अप्रैल 2015
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x