एयरटेल से हिंदू कस्टमर केयर मांगने वाली लड़की के साथ इससे बुरा कुछ नहीं हो सकता

21 जून 2018   |  अखिलेश ठाकुर   (156 बार पढ़ा जा चुका है)

एयरटेल से हिंदू कस्टमर केयर मांगने वाली लड़की के साथ इससे बुरा कुछ नहीं हो सकता

एयरटेल अब गा रहा है ‘जिंदगी बरबादि हो गिया.’ उसकी साख बढ़ाने के लिए एक लड़की रात दिन एक किए हुए है. जिसे ‘एयरटेल गर्ल’ कहते हैं. दूसरी लड़की है पूजा. जिसने एयरटेल को तबाह कर रखा है. उसने मुस्लिम कस्टमर सर्विस वाले को हटाकर हिंदू भेजने की मांग की थी. ये ट्वीट याद होगा.


वो ट्वीट जिसने एयरटेल की खाट खड़ी कर दी


अब एयरटेल को बायकाट करने की धमकियां चल रही हैं. ट्रेंड चल रहा है. एयरटेल ने ट्विटर पर शोएब से गगनजोत को रिप्लेस कर जितना क्विक रेस्पॉन्स दिया था, उससे बाकी कस्टमर्स भड़के पड़े हैं. एयरटेल ने उसके बाद दो बार क्लैरिफिकेशन भी दिया. कि भई हमको धर्म जाति से कोई मतलब नहीं है. लेकिन छीछालेदर तो हो गई है.



अब उस लड़की की बात जिसका नाम पूजा है. उसके दिमाग में हिंदू मुसलमान एक दिन में नहीं आया. ये जहर धीरे धीरे इंजेक्ट किया गया है. उसने अपने घर परिवार और आस पास के माहौल में लगातार सीखा होगा. धार्मिक भेदभाव की जड़ें उसके अंदर बहुत गहरे जम गई हैं. जिसकी वजह से उसने ऐसी बात की. ये मौका था जब उसे सीख दी जा सकती थी. समझना- न समझना वक्त पर छोड़ देते. लेकिन इस घटना के बाद उसे जो सबक मिला है वो उसकी धार्मिक भेदभाव वाली आग को और भड़काएगा. जितने लोग उसे गालियां दे रहे हैं, ये इस दीवार को और चौड़ी करने में लगे हैं.


लोग बेहद गंदी गालियां दे रहे हैं उस लड़की को


गालियां देने वाले साबित कर रहे हैं कि इनके अंदर भी वही जहर है जो उस लड़की में है. इनके अंदर से वो और बुरे शब्दों में बाहर निकल रहा है. ये साबित करते हैं कि धार्मिक भेदभाव का जहर इनके अंदर भी है, बस वो बाहर आने के लिए पूजा जैसी किसी लड़की का सहारा पाना चाहता है. देश को इस वक्त खतरा इन दोनों तरीकों के लोगों से है.



People abusing Woman who asks Airtel’s customer service for Hindu representative

https://www.thelallantop.com/jhamajham/people-abusing-woman-who-asks-airtels-customer-service-for-hindu-representative/

अगला लेख: भारतीय सिनेमा की 10 बेहतरीन फिल्में जिनके बारे में कम लोग ही जानते है !



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
23 जून 2018
उम्र के तीसरे पड़ाव में हूँ मैं .बचपन और जवानी के सारे खुबसुरत लम्हो को गुजर कर प्रौढ़ता के सीढ़ी पर कदम रख चुकी हूँ .तीन पीढ़ियों को देख लिया है या यूँ कहे की उनके साथ जी लिया है. बदलाव तो प्रक्रति का नियम है इसलिए घर परिवार, संस्कार और समाज में भी निरंतर बदलाव होत
23 जून 2018
14 जून 2018
हमारा सामना कई बार ऐसी शख़्सियतों से होता है, जिन्होंने समाज के सभी बंधनों को तोड़कर अपने सपनों को हक़ीक़त में बदला है.ऐसी ही एक जाबांज़ महिला थी शांति तिग्गा.कौन थी शांति?35 साल की विधवा, दो बच्चों की मां. ऐसी महिला के बारे में सुनते ही लोगों के मन में एक ही शब्द आता है,
14 जून 2018
14 जून 2018
प्
" प्यार क्या है " सदियों से ये सवाल सब के दिलो में उठता रहा है और सदियों तक उठता रहेगा .इस सवाल का जबाब देने की सबने अपनी तरफ से पूरी कोशिश भी की है ." प्यार" शब्द अपने आप में इतना वयापक और बिस्तृत है की इसकी वयाख्या करना बड़े बड़ो के लिए
14 जून 2018
05 जुलाई 2018
क्या कभी आपने समंदर किनारे बैठ कर उसकी आती जाती लहरों को ध्यान से देखा हैं .सागर दिन में तो बिलकुल शांत और गंभीर होता है. ऐसा लगता है जैसे अपने अंदर अनको राज छुपाये ,अपना विशाल आँचल फैलाये एक खामोश लड़की हो जिसने सारे जहान के दर्द और सारी दुनिया की गन्दगियो को अपने दामन मे समेट रखा है. ले
05 जुलाई 2018
15 जून 2018
संजय दत्त की बायोपिक ‘संजू’ का ट्रेलर आने के बाद कई राज़ खुलने लगे हैं । संजय दत्त के नशे के आदि होने और उनके जेल जाने के बारे में तो आप सब जानते ही होंगे लेकिन अब उनकी नीजी जिंदगी के बारे में कुछ ऐसी बातें सामने आने लगीं हैं जिन्हें जानकर पूये बात है दरसल संजय दत्त के प्
15 जून 2018
26 जून 2018
1. आंखों देखी फिल्म 'आंखों देखी' की कहानी पुरानी दिल्ली के एक परिवार की है, जो अनोखे हैं, निराले हैं। यह सिर्फ एक फिल्म नहीं, बल्कि एक सोच है, इंसान की जिंदगी के रंगों के अनुभव की और अंतरात्मा की खुशी की।बाबूजी का किरदार निभा रहे संजय मिश्रा की भी एक सोच है, जिसके मुताबिक वह जिस चीज को देखते हैं,
26 जून 2018
24 जून 2018
बिहार में एक कहावत है ‘बढय पुत पिता के धर्मे आ खेती उपजय अपना कर्मे’ अर्थात बेटा पिता के धर्म से आगे बढ़ता है और खेती कर्म करने पर लहलहाती है। जीं हां कुछ ऐसा ही कर दिखाया है एक गरीब पिता ने। जो पान की दुकान चलाता है। किसी तरह परिवार को पालता है। जी तोड़ मेहनत करता है। तब
24 जून 2018
22 जून 2018
Opical Illusion समझते हैं? भ्रम यानि कि आंखों का धोखा यानि जो देख रहे हैं, वो है नहीं और जो है वो दिख नहीं रहा.Source: slideshareचलो ज़्यादा नहीं बोलेंगे, फ़िलहाल ये तस्वीरें देख लो: ये महिला झांक नहीं रही, बल्कि ये मैगज़ीन का कवर है.ये बिल्ली किसी दोमुंहे सांप जैसी लग रह
22 जून 2018
27 जून 2018
हिंदी साहित्य में कबीर भक्ति काल के प्रतिनिधि कवि के रूप में जाने जाते हैं | इसके अलावा वे भारत वर्ष के सांस्कृतिक और अध्यात्मिक जीवन को ऊर्जा देने वाले प्रखर प्रणेता हैं | उनकी ओजमयी फक्कड वाणी आज भी प्रासंगिक है | कौन है ज
27 जून 2018
07 जून 2018
परिसर सरकारी हो या प्राइवेट, अपनी सामान की सुरक्षा स्वयं करें की लाइन किसी न किसी दीवार, खंभे या गेट पर लिखी दिख ही जाती है। शॉपिंग मॉल में तो कई बार पार्किंग की पर्ची पर लिखा रहता है कि पार्किग एट योर ओन रिस्क। अब आदमी गाड़ी तो खड़ी कर देता है लेकिन दिल की धुकधुकी वैसे ह
07 जून 2018
25 जून 2018
आकाश की दूसरी शादी हो चुकी है, पहली शादी उसने 21 साल की उम्र में ही कर ली थी। घरवालों की मर्जी के खिलाफ लव मैरिज की थी। पहली पत्नी का नाम राधा था। 2 साल पहले ही राधा चल बसी। cancer हो गया था उसे, आकाश अपनी लाख नामुमकिन कोशिशों के बाद भी अपन
25 जून 2018
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x