अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर प्रस्तुत दोहावली

21 जून 2018   |  महातम मिश्रा   (62 बार पढ़ा जा चुका है)

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर प्रस्तुत दोहावली


"दोहा"


भोर हुई निकलो सजन महके बगिया फूल।

हाथ पाँव झटकार लो आलस जाओ भूल।।-१


रात देर तक जागते दिन भर घोड़ा बेंच।

सोते हो तुम देर तक अब तो चादर खेंच।।-२


ऋषियों की यह देन है दुनिया करती योग।

बिन हर्रे बिन फिटकरी भागे सगरो रोग।।-३


ऋषियों की अद्भुत छटा देखो उनके केश।

जप तप साधक साधना ऐसा भारत देश।।-४


योगी का बल योग है भोगी भूला भान।

बिना योग काया व्यथित आलस रोगी मान।।-५


पहर दो पहर शाम को जब हो समय सुयोग।

उठक बैठक स्वांस भरो छोड़ो बाहर रोग।।-६


निर्मल जल भोजन पके पीओ जल भरपूर।

चबा चबा के दाँत से खाओ सखा खजूर।।-७


रगड़ रगड़ के हाथ मुँह दातुन कड़वी नीम।

नहलाओ मालिश करो दौड़ो बनो हकीम।।-८


गैया करती पागुरी बछवा भरे गुलाट।

बैल जुवाठा कांध पर पोछे कहाँ ललाट।।-९


जीव जंतु करते सभी अपने माफक योग।

घोड़ा सरपट दौड़ता रहता सदा निरोग।।-१०


शुभकामना अनेक है प्रति दिन करना योग।

अति उत्साहित एक दिन हो जाते हैं लोग।।-११


महातम मिश्र गौतम गोरखपुरी

अगला लेख: “मुक्तक”



रेणु
21 जून 2018

वाह आदरणीय भैया -- आप तो सजन को योग लिप्त करके ही मानेगें | बहुत ही प्रेरक , मधुर दोहावली | सारा योग पिरो दिया शब्दों में | वाह और सिर्फ वाह !!!!!! आशा है आपने जरुर योग अपनाया होगा | आपके स्वास्थ्य के लिए हार्दिक शुभकामनाये |

शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
07 जून 2018
"मुक्तक"पंक्षी अकेला उड़ा जा रहा है।आया अकेला कहाँ जा रहा है।दूरी सुहाती नहीं आँसुओं को-तारा अकेला हुआ जा रहा है।।-१जाओ न राही अभी उस डगर पर।पूछो न चाहत बढ़ी है जिगर पर।वापस न आए गए छोड़कर जो-वादा खिलाफी मिली खुदगरज पर।।-२महातम मिश्र, गौतम गोरखपुरी
07 जून 2018
21 जून 2018
यो
व्यस्त जीवन शैली में योग को अंग बनाईये,स्पर्धा भरे माहौल में चरम संतोष पाईये,निराशा ढकेल,सकारात्मक सोच का संचार कराता,उत्साह का सम्बर्धन कर व्यक्तित्व व सेहत बनाता,स्नान आदि से निवृत हो, ढीले वस्त्र धारण कर कीजिए योगासन,वर्ज आसन को छोड़ ,खाली पेट कीजिए सब आसन,मन्त्र योग,हठ योग,ली योग,राज योग इसके हैं
21 जून 2018
21 जून 2018
"हाइकु"करिए योगऋषि संत निरोगकरें तो जाने।।-१सुंदर कायामुख मंडल तेजयोग की माया।।-२सुबह शामआलस का क्या कामचलो घूमने।।-३दौड़ते अश्वरंभाती प्रिय गैयाजगाती मैया।।-४सूर्य नमनबैठिए वज्रासनॐ शिव ॐ ॐ।।-५महातम मिश्र गौतम गोरखपुरी
21 जून 2018
07 जून 2018
“कुंडलिया”पलड़ा जब समतल हुआ न्याय तराजू तोल पहले अपने आप को फिर दूजे को बोलफिर दूजे को बोल खोल रे बंद किवाड़ी उछल न जाए देख छुपी है चतुर बिलाड़ीकह गौतम कविराय झपट्टा मारे तगड़ा कर लो मनन विचार झुके न न्याय का पलड़ा॥ महातम मिश्र गौतम गोरखपुरी
07 जून 2018
09 जून 2018
शैक्षिक जीवन पूर्णकरने के बादसभी की इच्छारहती हैं किएक अच्छी नौकरीकी प्राप्ति हों।शिक्षा पूर्ण कर लेनेके बाद प्रत्येकव्यक्ति अपने करियरपर अपना ध्यानकेंद्रित करना चाहताहै। नौकरी कोबनाए रखनाऔर बेहतर करनाभी आज केसमय में सहजनहीं है। कोईन कोई परेशानीनौकरी के क्षेत्रमें लगी हीरहती है। कभीकार्यक्षेत्र का
09 जून 2018
12 जून 2018
मुखड़े व अंतरे का मात्रा भार २२ तुकांत, आना"गीत"है बड़ी जालसाजी न सच का ठिकाना।हो सके तो सनम तुम कचहरी न जाना।।बात इतनी सुनो यारा दिल न दुखाना जा रहे तो जाओ पर घहरी न आना।। ....हो सके तो सनम तुम कचहरी न जानापाँव घिस जाएगा हुस्न पिट जाएगामान घट जाएगा ध्यान बट जाएगाबाँसुरी से
12 जून 2018
07 जून 2018
“रातरानी का दिन सराबोर”जी तो करता है कि लाज शरम हया सब कुछ छोड़कर पोखरे में जाकर कूद पड़ूँ और पल्थी मारकर उसकी तलहटी में तबतक बैठी रहूँ जबतक मेरे हाथ पैर ठिठुर न जाय। यह गर्मी है कि आग की बारिस, सुबह होते ही पसीना चूने लगता है। बाबा के लगाए हुये पेड़ जो छाया व फल भी देते थे
07 जून 2018
16 जून 2018
हाल में 1 दिन के लिए गांव गया था,क्योंकि घूप अपने चरम पर थी इसलिए कहीं ना जाकर घर के बाहर ही बच्चों के साथ मस्ती कर रहा था और मन ही मन अपने बचपन और इनके बचपन की तुलना भी कर रहा था, मुझे जहाँ तक अपना बचपन याद है- गर्मी के माह में एक्जुन्नी( 12 बजे तक) विद्यालय हो जाया करता
16 जून 2018
24 जून 2018
2015 से विश्व में २१ जून को योगा दिवस या योगा डे के रूप में मनाया जा रहा है | योग हिंदुस्तान की अमूल्य धरोहर है | भारतीय संस्कृति में योग का प्रयोग प्राचीन काल से हो रहा है| योग शब्द संस्कृत के युज शब्द से आया है|जिसका अर्थ जुड़
24 जून 2018
07 जून 2018
"कता"दुनियाँ समाई अर्थ में कैसी समझ कहें।जब अर्थ का भी अर्थ है कैसी समझ कहें।चिपकाते ही जा रहे हैं द्विअर्थी दीवार पर-कहते सुनो जी अर्थ की कैसी समझ कहें।।महातम मिश्र, गौतम गोरखपुरी
07 जून 2018
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x