पाशा बदलता

21 जून 2018   |  विभा रानी श्रीवास्तव   (75 बार पढ़ा जा चुका है)

"यह क्या है... ?

जब देखो तुमलोग टी.वी. देखते रहते हो... आग लग जाती है..." सुबह के सैर से लौटे किशोर जी अपने नातियों पर चिल्ला पड़े..."

मैं यहाँ बोल रहा हूँ तुम वहाँ फ्रिज के पास क्यों गये?

"फ्रिज से बोतल लाने... ! हमलोगों को टी.वी देखते देख आपमें जो आग लगी हैं उसे बुझाने..." नन्हा नाती फ्रिज से बोतल निकालते बोला...

अगला लेख: रिश्तों के समीकरण



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x