पान बेचने वाले जिद्दी पिता ने नहीं मानी हार, पेट काटकर तीनों बेटों को बना दिया IIT इंजीनियर

24 जून 2018   |  अखिलेश ठाकुर   (136 बार पढ़ा जा चुका है)

बिहार में एक कहावत है ‘बढय पुत पिता के धर्मे आ खेती उपजय अपना कर्मे’ अर्थात बेटा पिता के धर्म से आगे बढ़ता है और खेती कर्म करने पर लहलहाती है। जीं हां कुछ ऐसा ही कर दिखाया है एक गरीब पिता ने। जो पान की दुकान चलाता है। किसी तरह परिवार को पालता है। जी तोड़ मेहनत करता है। तब तक हार नहीं मानता है जब तक सपना साकार ना हो जाए। आज उस पिता का सपना सकार हो गया है। उनके तीनों बेटे आज सफलता की मुकाम पर पहुंच गए है और IIT इंजीनियर पर परचम लहरा रहे हैं।



हम आपको गया में पान की दुकान चलाने वाले और किराए के मकान में रहने वाले सुनील कुमार के बारे में बता रहे हैं । सुनील के दो बेटे पहले ही आईआईटी करने के बाद अच्छी नौकरी कर रहे हैं और अब तीसरे बेटे का सेलेक्शन भी जेईई एडवांस में हो गया है। सुनील का कहना है कि वे भी बचपन में काफी मेधावी थे लेकिन अनुकूल परिस्थिति नहीं मिलने के कारण कुछ बन नहीं सके। इसकी कसक उनके मन में थी। उन्होंने यह निर्णय लिया कि जो हमारे साथ हो रहा है वह हमारे बच्चों के साथ नहीं होगा।




बच्चों को सबसे अच्छे स्कूल में कराया एडमिशन
सुनील ने अपने बच्चों को बेहतर शिक्षा देने की ठानी और गया के सबसे अच्छे स्कूल में दाखिला करवाया। पहले बेटे अभिराज ने जब आईआईटी की परीक्षा पास की तो उन्हें हार्ट का ऑपरेशन करवाना पड़ा। उनके पास इतने पैसे नहीं थे कि बेटे को आईआईटी में एडमिशन करवाएं। रिश्तेदार से कर्ज लेकर उन्होंने अभिराज को आईआईटी गुवाहटी भेजा।



कई बार आर्थिक स्थिति से आई मुश्किलें
सुनील बताते हैं, इस दौरान कई बार आर्थिक स्थिति से ऐसी मुश्किलें आई कि उन्हें लगा कि उनका सपना पूरा नहीं हो सकेगा। ऐसे में उनकी पत्नी ने उन्हें हौसला दिया और ईश्वर ने उनकी मदद की। पत्नी ने अपनी सारी ख्वाहिशें अपने बच्चों पर न्योछावर किया और स्कूल के दौरान उनके बच्चे हमेशा उपस्थिति और परीक्षा में अव्वल आते रहे।



दो और बच्चे बने आईआईटीयन
बाद में दूसरे बेटे अंशुमन का भी आईआईटी में सेलेक्शन हुआ और अंशुमन ने आईआईटी मुंबई से बी-टेक किया। आज दोनों बेटे गुडगांव में एक अच्छी कंपनी में अच्छी सैलरी पर नौकरी कर रहे हैं। इस साल तीसरे बेटे अनिकेत का भी जेईई एडवांस में सेलेक्शन हो गया।

Source: live bihar


https://www.ekbiharisabparbhari.com/2018/06/21/father-stubbornly-refused-to-give-up-lost-belly-made-three-sons-iit-engineer/

अगला लेख: अगले 72 घंटे में इन राज्यों में 'कहर' बनकर टूटेगी बारिश, मौसम विभाग ने दी 'ऑरेंज' चेतावनी



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
27 जून 2018
राष्‍ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव अभी तक अपने स्‍टाइलिश अंदाज और बयानों को लेकर सुर्खियों में रहे हैं. लेकिन अब नितिश सरकार में बिहार सराकर में मंत्री रह चुके तेज प्रताप यादव राजनीति में हाथ आजमाने के बाद अब सिल्‍वर स्‍क्री
27 जून 2018
18 जून 2018
शि
मुख्यतः हम जनसाधारण शिक्षा व साक्षरता में अंतर करना नहीं जानते. किसीके शिक्षित होने या न होने का मापदंड उसके उपलब्ध किये हुए डिग्री से समझते हैं. जिसने जितनी ज़्यादा उच्च शिक्षा प्राप्त की हो वह उतना ही दूरदर्शी और सुलझे हुए विचारों का होगा, हम ऐसा समझते हैं.
18 जून 2018
19 जून 2018
किसान, कर्ज और खुदकुशी.ये वो कीवर्ड्स हैं, जिनका इस्तेमाल कर आप किसी भी सरकार की कितनी भी निर्मम आलोचना कर सकते हैं. लेकिन जैसे ही बात सोशल मीडिया पर पहुंचती है, सारी प्रामाणिकता संदिग्ध हो जाती है. यहां दिखने वाली चीज़ें अक्सर वैसी नहीं होतीं, जैसी दिखाई जाती हैं. ताज़ा
19 जून 2018
21 जून 2018
एयरटेल अब गा रहा है ‘जिंदगी बरबादि हो गिया.’ उसकी साख बढ़ाने के लिए एक लड़की रात दिन एक किए हुए है. जिसे ‘एयरटेल गर्ल’ कहते हैं. दूसरी लड़की है पूजा. जिसने एयरटेल को तबाह कर रखा है. उसने मुस्लिम कस्टमर सर्विस वाले को हटाकर हिंदू भेजने की मांग की थी. ये ट्वीट याद होगा.अब ए
21 जून 2018
25 जून 2018
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी शुरू से ही वीआईपी कल्चर के विरोधी रहे हैं। उसकी झलक एक बार देखने को मिली। प्रधानमंत्री मोदी रविवार रात करीब नौ बजे पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी का हाल जानने बिना किसी सिक्योरिटी और प्रोटोकाल के एम्स पहुंच गए। प्रधानमंत्री मोदी ने बिना रूट के अप
25 जून 2018
03 जुलाई 2018
यूपी सरकार के अल्पसंख्यक मामलों के राज्यमंत्री मोहसिन रजा ने कहा है कि अब मदरसों में भी ड्रेस कोड लागू होगा. उन्होंने कहा कि अब छात्र कुर्ता पयजामा पहनकर मदरसों में नहीं जा पाएंगे. प्रदेश सरकार जल्द ही उनके लिए नया ड्रेस कोड निर्धारित करेगी. मोहसिन रजा ने कहा कि ये कदम मद
03 जुलाई 2018
22 जून 2018
Opical Illusion समझते हैं? भ्रम यानि कि आंखों का धोखा यानि जो देख रहे हैं, वो है नहीं और जो है वो दिख नहीं रहा.Source: slideshareचलो ज़्यादा नहीं बोलेंगे, फ़िलहाल ये तस्वीरें देख लो: ये महिला झांक नहीं रही, बल्कि ये मैगज़ीन का कवर है.ये बिल्ली किसी दोमुंहे सांप जैसी लग रह
22 जून 2018
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x