अगर सूख जाए तुलसी का पौधा तो तुरंत कीजिए यह काम, वरना घर में वास करेगी दरिद्रता

26 जून 2018   |  प्राची सिंह   (607 बार पढ़ा जा चुका है)

अगर सूख जाए तुलसी का पौधा तो तुरंत कीजिए यह काम, वरना घर में वास करेगी दरिद्रता

पटना: शास्त्रों के अनुसार तुलसी को देवी का रूप माना जाता है। घर के आंगन में तुलसी का पौधा लगाने की और उसकी पूजा-अर्चना करने की परंपरा पुरानी है। ऐसा करने वालों को देवी-देवताओं की विशेष कृपा मिलती है। साथ ही साथ हर तरह की नकारात्मक ऊर्जा से घर-परिवार की रक्षा होती है।

तुलसी से जुड़ी कुछ विशेष बातों का ध्यान हर किसी को रखना चाहिए। इन बातों को अनदेखा करने पर अशुभ परिणाम झेलने पड़ सकते हैं। तुलसी सूख जाने पर क्या करें? कौन से भगवान को तुलसी चढ़ाना वर्जित है? ऐसे तमाम सवालों के जवाब इस स्टोरी में मौजूद हैं।



अगर आपके घर में तुलसी का पौधा है तो फिर इस स्टोरी को आखिर तक जरूर पढ़ें। इसी बहाने यहां कुछ रोचक बातें जानने को मिलेंगी। देर मत कीजिए। तुरंत शुरू कीजिए स्टोरी को पढ़ना। आखिर आपको भी तो कुछ बातें जानना हैं।

हिंदू धर्म में तुलसी को पूजनीय माना जाता हैं। इसके पत्ते दांतों से चबाना अशुभ होता है। इसीलिए तुलसी के पत्तों को बिना चबाए ही निगलना चाहिए।

शिवपुराण के अनुसार, असुर शंखचूड़ की पत्नी तुलसी के पतिधर्म की वजह से उसे कोई भी देव हरा नहीं सकता था। इसलिए भगवान विष्णु ने धोखे से तुलसी के पतिव्रत को खंडित कर दिया था। तभी भगवान शिव, असुर शंखचूड़ का वध कर पाए थे। इसी छल से क्रोधित होकर तुलसी ने यह प्रण ले लिया कि उसका प्रयोग शिवजी की पूजा में कभी नहीं किया जाएगा।



एकादशी, रविवार, सूर्य या चंद्र ग्रहण के दिन तुलसी के पत्ते नहीं तोड़ना चाहिए। इसके अलावा बिना किसी वजह तुलसी के पत्ते तोड़ना भी अशुभ होता है। अनावश्यक रूप से तुलसी के पत्ते तोड़ना, तुलसी को नष्ट करने के समान माना गया है।

हर रोज तुलसी पूजन करना चाहिए। साथ ही हर शाम तुलसी के पास दीपक जलाना चाहिए। मान्यताओं के अनुसार, जो लोग शाम के समय तुलसी के पास दीपक जलाते हैं, उनके घर में महालक्ष्मी की कृपा सदैव बनी रहती है।

शास्त्रों के अनुसार, तुलसी कभी भी अपवित्र नहीं होती। पूजा में उपयोग किए जाने के बाद उसे अगले दिन साफ पानी से धोकर फिर पूजा में रखा जा सकता है। बस एक बात का ध्यान रखना चाहिए कि तुलसी कटी-फटी न हो। घर-आंगन में तुलसी होने पर वास्तु दोषों से छुटकारा मिलता है। साथ ही घर में सकारात्मकता बनी रहती है।



एक बार तुलसी ने श्रीगणेश के सामने विवाह का प्रस्ताव रखा था। श्रीगणेश कभी भी विवाह नहीं करना चाहते थे, इसलिए उन्होंने इनकार कर दिया। इसी बात से नाराज होकर तुलसी ने उन्हें दो विवाह होने का श्राप दे दिया था। देवी तुलसी का श्राप सुनकर भगवान गजानन उन्हें अपनी पूजा में वर्जित कर देते हैं। इसलिए श्रीगणेश की पूजा में तुलसी चढ़ाने की मनाही होती है।

यदि तुलसी का पौधा सूख जाता है तो उसे किसी पवित्र नदी, तालाब या कुएं में प्रवाहित कर देना चाहिए। तुलसी का सूखा पौधा घर में रखना अशुभ माना जाता है।



मान्यता है कि जिस घर में तुलसी का पौधा होता है, वहां पर किसी की बुरी नज़र नहीं लगती। साथ ही घर के आसपास किसी भी प्रकार की नकारात्मक ऊर्जा पनप नहीं पाती है। तुलसी से घर का वातावरण पवित्र और हानिकारक कीटाणुओं से मुक्त रहता है। इसी पवित्रता के कारण घर में लक्ष्मी का वास होता है और सुख-समृद्धि बनी रहती है।

Source: Live News


https://www.ekbiharisabparbhari.com/2018/06/26/if-you-dry-up-the-basil-plant-then-do-this-work-otherwise-the-house-will-live-poorly/

अगला लेख: जब मां ज्वालाजी ने तोड़ा अकबर का अभिमान, आज भी रहस्य बना है उसका चढ़ाया छत्र !



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
25 जून 2018
एतिहासिक ,पौराणिक एवं धार्मिक दृष्टिकोण से अति महत्वपूर्ण च्यवन आश्रम पीठ भगवान् शिव की नगरी देवकुंड धाम में दूधेश्वरनाथ महादेव के मंदिर के समीप ही आँगन बनाने के लिए हो रहे खुदाई के दौरान एक भव्य शिवलिंग के मिलने से पुरे इलाके में हर हर महादेव का जयघोष होने लगा , जिसने भी
25 जून 2018
13 जून 2018
ईमानदारी एक ऐसा शब्द जो शायद अब कम लोगों में ही देखने को मिलती है. जिस दौर में लोग चंद रुपयों के लिए अपना ईमान तक बेच देते हैं. उस दौर में अब भी आपको कुछ ऐसे ईमानदार लोग मिल जायेंगे, जिनके लिए आज भी उनका ईमान सबसे बढ़कर है. इसके लिए वो किसी भी प्रकार का समझौता नहीं करते, च
13 जून 2018
21 जून 2018
कलपुरु सिद्धधांत के अनुसार, मां चंद्रघांत कुंडली या जनम कुंडली में किसी व्यक्ति के दूसरे और 7 वें घर से जुड़ा हुआ है। दूसरा और 7 वां घर प्यार, इच्छा, खुशी और विवाहित जीवन से जुड़ा हुआ है। इसलिए किसी को शादीशुदा विवाहित जीवन के लिए मां चंद्रघांत की पूजा करनी चाहिए। मंत्र के साथ मां चंद्रघांत की पूजा
21 जून 2018
23 जून 2018
हरियाणा की लोकप्रिय कलाकार सपना चौधरी जल्द ही राजनीति के मंच पर नजर आ सकती हैं. सपना चौधरी के राजनीति में आने के कयास उस समय तेज हो गए जब वह शुक्रवार को अचानक कांग्रेस दफ्तर में नजर आईं. इससे पहले उन्होंने दस जनपथ जा कर सोनिया गांधी से मिलने का वक्त भी मांगा.दस जनपथ पहुंच
23 जून 2018
27 जून 2018
बिहार बोर्ड को पिछले दो-तीन साल से पता नहीं कैसी नज़र लगी है कि हर बार कुछ अजूबा हो रहा है. पाबंदियों के बावजूद नकल की खबरें तो आम रहीं, फिर टॉपर रूबी रॉय फर्जी निकल गई. फिर अभी कुछ दिनों पहले पता चला कि एग्ज़ाम की 42 हज़ार कॉपियां 8,000 रुपए में बेच दी गईं. अब ऐसी हालत म
27 जून 2018
29 जून 2018
“वहां माइनस डिग्री टेम्प्रेचर में फौजी खड़े हैं और तुम चाय में एक्स्ट्रा शुगर मांग रहे हो?” हमारे आस पास के ज्ञानी और सुधीजन फौजियों को थैंक्यू करने के लिए यही शब्द इस्तेमाल करते हैं. अपने दावे को सही साबित करने का अगर हल्का सा भी क्लू हाथ लगता है, तो उसे जाने नहीं देते.
29 जून 2018
16 जून 2018
नीलम - ब्लू नीलमणि - कई लोगों द्वारा सादे सती के बुरे प्रभावों और कुंडली में शनि भगवान की खराब स्थिति को दूर करने के लिए पत्थर पहना जाता है। (जन्मा कुंडली)। नीलम रत्न पहनने से पहले और पहले मंत्र को मंत्रमुग्ध किया जाना चाहिए: नीलम पहनने के लिए शनि मंत्र नमो भगव शनिश्चराय सूर्य सभाय नम: ओम नमो भगवत श
16 जून 2018
22 जून 2018
हि
शुक्रवार, 22 जून, 2018 को हिंदू कैलेंडर में तिथि - शुक्ल पक्ष नवमी तीथी या नौवें दिन हिंदू कैलेंडर में चंद्रमा के मोम या प्रकाश चरण और अधिकांश क्षेत्रों में पंचांग के दौरान। यह शुक्ल पक्ष नवमी तीथी या नौवें दिन 22 जून को 6:37 बजे तक चंद्रमा के मोम या प्रकाश चरण के दौरान नौवें दिन है। इसके बाद यह शुक
22 जून 2018
13 जून 2018
ईमानदारी एक ऐसा शब्द जो शायद अब कम लोगों में ही देखने को मिलती है. जिस दौर में लोग चंद रुपयों के लिए अपना ईमान तक बेच देते हैं. उस दौर में अब भी आपको कुछ ऐसे ईमानदार लोग मिल जायेंगे, जिनके लिए आज भी उनका ईमान सबसे बढ़कर है. इसके लिए वो किसी भी प्रकार का समझौता नहीं करते, च
13 जून 2018
25 जून 2018
एतिहासिक ,पौराणिक एवं धार्मिक दृष्टिकोण से अति महत्वपूर्ण च्यवन आश्रम पीठ भगवान् शिव की नगरी देवकुंड धाम में दूधेश्वरनाथ महादेव के मंदिर के समीप ही आँगन बनाने के लिए हो रहे खुदाई के दौरान एक भव्य शिवलिंग के मिलने से पुरे इलाके में हर हर महादेव का जयघोष होने लगा , जिसने भी
25 जून 2018
16 जून 2018
अनी उथिरम, या अनी उथ्रम, तमिल महीने अनी (या अनी) में शुभ दिन है और भगवान नटराज (शिव) को समर्पित है। अनी उथिरम 2018 की तारीख 20 जून है। त्यौहार को अनी थिरुमनंजनम भी कहा जाता है और उथिरम नक्षत्रम दिवस पर मनाया जाता है। यह माना जाता है कि यह अनी उथिरम दिवस पर था कि भगवान शिव कुरुंडीई वृक्ष के नीचे ऋषि
16 जून 2018
24 जून 2018
आगरा से कुछ दिन पहले सोते हुए कुत्ते के ऊपर सड़क बना देने की खबर आई थी. खूब बवाला मचा था. सोशल मीडिया से लेकर सड़क तक लोगों ने इस पर नराजगी जताई. मुकदमा दर्ज हुआ. गिरफ्तारियां हुईं. अब एक और मामला सामने आया है. इस बार कोई कुत्ता नहीं बल्कि एक इंसान पीड़ित है. एक सोते हुए
24 जून 2018
21 जून 2018
सोशल मीडिया पर एक चमत्कार का वीडियो चल रहा है. वीडियो में एक चूल्हा दिखाई दे रहा है जिसके ऊपर एक बड़ा बर्तन रखा है. चमत्कार ये है कि यह चूल्हा बिना गैस के जल रहा है. यह वीडियो एक गुरुद्वारे का है. इसे चमत्कार बताया जा रहा है. यह वीडियो बहुत तेजी से सोशल मीडिया पर वायरल हो
21 जून 2018
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x