ये हैं दुनिया के 10 सबसे दौलतमंद और ग़रीब देश

04 जुलाई 2018   |  प्राची सिंह   (156 बार पढ़ा जा चुका है)

ये हैं दुनिया के 10 सबसे दौलतमंद और ग़रीब देश

कतर, मकाओ और लक्सज़मबर्ग सबसे अमीर देश हैं

किस देश को सबसे अमीर देश कहा जा सकता है?

आप कहेंगे कि सीधी सी बात है, जिस देश में सबसे ज़्यादा पैसा है वो देश सबसे अमीर कहलाएगा. लेकिन इस सवाल का जवाब इतना सीधा नहीं है.

सबसे अमीर देशों की सूची बनाने के लिए कई दूसरे रास्ते अपनाए जाते हैं. जैसे कि जीडीपी यानी सकल घरेलू उत्पाद की तुलना करना.

जीडीपी का मतलब होता है कि कोई अर्थव्यवस्था हर साल कुल कितने सामान और सेवा का उत्पादन करती है.

अगर आप आकार के हिसाब से देखेंगे तो विश्व बैंक के मुताबिक अमरीका और चीन सबसे बड़ी अर्थव्यवस्थाएं हैं.

और अब अगर हम उस धन का वहां रहने वाले लोगों की संख्या से भाग करें (जिसे जीडीपी पर कैपिटा कहा जाता है), तो सबसे अमीर देश लक्सज़मबर्ग, स्विट्ज़रलैंड और मकाओ होंगे.


अमरीका दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है, इसके बावजूद अमरीका सबसे अमीर देशों की सूची में शामिल नहीं है.

हलांकि ऊपर कही गई सारी बातें ठीक हैं, लेकिन कई अर्थशास्त्री अर्थव्यवस्था की सेहत को जांचकर उसके अमीर होने का पता लगते हैं.

इसके लिए वो देखते हैं कि किसी देश के लोगों की ख़रीददारी की क्षमता क्या है. साथ ही वो ये भी समझने की कोशिश करते हैं उस देश के अलग-अलग नागरिकों की ख़रीददारी की क्षमता में कितनी समानता है.

इस तरीके के हिसाब से क़तर, मकाओ, लक्सज़मबर्ग के बाद सिंगापुर, ब्रुनई और कुवैत सबसे अमीर देश हैं.

इन देशों के बाद सूची में संयुक्त अरब अमीरात, नॉर्वे, आयरलैंड और स्विट्ज़रलैंड का नाम आता है.

'स्विस बैंकों में जमा पैसा काला धन हो ज़रूरी नहीं'


दुनिया के सबसे अमीर 10 देश

नागरिकों की खरीददारी की क्षमता (अमरीकी डॉलर में)

क़तर

118.207

मकाओ

97.751

लक्सज़मबर्ग

94.920

सिंगापुर

81.443

ब्रुनेई

71.788

कुवैत

68.861

संयुक्त अरब अमीरात

67.133

नॉर्वे

64.139

आयरलैंड

63.301

स्विट्ज़रलैंड

57.427

स्त्रोत: विश्व बैंक (खरीददारी की क्षमता में समानता)


तेल और प्रकृतिक गैस के विशाल भंडार वाला देश क़तर अमीर देशों की सूची में सबसे ऊपर है.


बीते कई सालों से क़तर ने अमीर देशों की सूची में पहला पायदान कायम रखा है. हालांकि 2013 और 2014 में मकाओ क़तर से आगे निकल गया था. लेकिन 2015 में दोबारा वो दूसरे पायदान पर लौट आया.

मकाओ की अर्थव्यवस्था (चीन के दक्षिणी तट पर बसा एक स्वायत्त क्षेत्र) मुख्य रूप से पर्यटन और कैसिनो उद्योग पर निर्भर है.

वहीं यूरोपीय देश लक्सज़मबर्ग का आर्थिक विकास निवेश के प्रबंधन और प्राइवेट बैंकों के फ़ायदे से हुआ है. लक्सज़मबर्ग की टैक्स व्यवस्था ख़ासी सुस्त है इस वजह से यहां का बैंक बहुत मुनाफ़ा कमा रहे हैं.


गहरीविषमता वाले 10 देश

'गिनी कोएफिशिएं' अमीरी और ग़रीबी के बीच की खाई को मापने का एक तरीक़ा है. इसका पैमाना ज़ीरो से एक के बीच होता है. इसमें ज़ीरो का मतलब है पूरी तरह से असमान.

हालांकि इस तरीके की आलोचना भी की जाती है.

विश्व बैंक के आंकड़ों के मुताबिक दक्षिण फ़्रीका, हैथी और होंडुरास दुनिया के सबसे असमान देशों की सूची में शामिल हैं.

सबसे ज़्यादा असमान देश दक्षिण अफ्रीका, हैथी और होंडुरास हैं

इन देशों के बाद कोलंबिया, ब्राज़ील, पनामा, चिली और रवांडा, कोस्टा रिका और मेक्सिको का नाम आता है.


लातिन अमरीका के साथ क्या हो रहा है?

दरअसल लातिन अमरीका और कैरीबियाई दुनिया के सबसे असमान क्षेत्र हैं. इनके बाद सब-सहारा अफ़्रीका का नाम आता है.


दुनिया के 10 सबसे असमान देश (गिनी इंडेक्स)

(ऊंचे दाम, अधिक असमान देश)

दक्षिण अफ्रीका

0.63

हैथी

0.60

होंडुरास

0.53

कोलंबिया

0.53

ब्राज़ील

0,52

पनामा

0,51

चिली

0.50

रवांडा

0.50

कोस्टारिका

0.49

मेक्सिको

0.49

स्त्रोत: विश्व बैंक


और 10 असमान देशों की सूची में से आठ एक क्षेत्र के हैं और दो अफ़्रीकी देश हैं.

इस बीच विश्व बैंक के अर्थशास्त्रियों का कहना है कि लातिन अमरीका ने हाल के कुछ सालों में अमीर और ग़रीब के बीच की खाई को पाटने में सफलता हासिल की है.

source: bbc.com/hindi

Dailyhunt

ये हैं दुनिया के 10 सबसे दौलतमंद और ग़रीब देश

https://m.dailyhunt.in/news/india/hindi/bbc+hindi-epaper-bbchind/ye+hai+duniya+ke+10+sabase+daulatamand+aur+garib+desh-newsid-91558948

अगला लेख: जानें क्यों भारत में गाडियां सड़क के बायीं ओर और अमेरिका में दायीं ओर चलती हैं?



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
26 जून 2018
पटना: शास्त्रों के अनुसार तुलसी को देवी का रूप माना जाता है। घर के आंगन में तुलसी का पौधा लगाने की और उसकी पूजा-अर्चना करने की परंपरा पुरानी है। ऐसा करने वालों को देवी-देवताओं की विशेष कृपा मिलती है। साथ ही साथ हर तरह की नकारात्मक ऊर्जा से घर-परिवार की रक्षा होती है।तुलसी
26 जून 2018
27 जून 2018
बिहार बोर्ड को पिछले दो-तीन साल से पता नहीं कैसी नज़र लगी है कि हर बार कुछ अजूबा हो रहा है. पाबंदियों के बावजूद नकल की खबरें तो आम रहीं, फिर टॉपर रूबी रॉय फर्जी निकल गई. फिर अभी कुछ दिनों पहले पता चला कि एग्ज़ाम की 42 हज़ार कॉपियां 8,000 रुपए में बेच दी गईं. अब ऐसी हालत म
27 जून 2018
09 जुलाई 2018
मनी लॉन्ड्रिंग, लोन डिफॉल्ट और बैंकों का बकाए को लेकर केस हार चुके विजय माल्या खुद संपत्ति देने को तैयार हैं. उन्होंने जांच एजेंसियों से वक्त, तारीख और जगह पूछी है. विजय माल्या ने कहा है कि वह खुद आकर जांच एजेंसियों को ब्रिटेन की संपत्ति सौंप देंगे. लेकिन, उनके पास ज्यादा कुछ नहीं है. क्योंकि, ब्रि
09 जुलाई 2018
05 जुलाई 2018
कभी-कभी जो होता है, वो दिखता नहीं और जो दिखता है, वो होता नहीं.दिखता-होताहोता-दिखतासर घूम जाए, इससे पहले बता देते हैं कि ये खुजली क्यों है. दरअसल, चीन में महिलाएं एक ऐसी मेकअप टेक्निक का इस्तेमाल कर रही हैं, जिसे इस्तेमाल करने के बाद उन्हें उनके घरवाले भी नहीं पहचानते.यकीन नहीं आता तो एक नज़र Sculpt
05 जुलाई 2018
24 जून 2018
आगरा से कुछ दिन पहले सोते हुए कुत्ते के ऊपर सड़क बना देने की खबर आई थी. खूब बवाला मचा था. सोशल मीडिया से लेकर सड़क तक लोगों ने इस पर नराजगी जताई. मुकदमा दर्ज हुआ. गिरफ्तारियां हुईं. अब एक और मामला सामने आया है. इस बार कोई कुत्ता नहीं बल्कि एक इंसान पीड़ित है. एक सोते हुए
24 जून 2018
06 जुलाई 2018
आपने अमीर लोगों के बारे में तो सुना ही होगा, लेकिन क्या कभी आपने अमीर शहरों के बारे में सुना है। हम आपको जीडीपी के आधार पर भारत के 10 बड़े शहरो के बारे में बताएंगे। अर्थव्यवस्था के नाम पर भारत को मजबूत बनाने में इन्हीं अमीर शहरों का बहुत बड़ा योगदान रहता है।10. विशाखापट्न
06 जुलाई 2018
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x