भारत-चीन युद्ध की कुछ तस्वीरें, जो न सिर्फ़ बोलती हैं बल्कि चीख-चीखकर सवाल खड़े करती हैं

13 जुलाई 2018   |  प्राची सिंह   (134 बार पढ़ा जा चुका है)

भारत-चीन युद्ध की कुछ तस्वीरें, जो न सिर्फ़ बोलती हैं बल्कि चीख-चीखकर सवाल खड़े करती हैं

1962... कोई भी भारतीय चाहकर भी ये साल और इससे जुड़ी घटना नहीं भूल सकता.

1962 यानी कि युद्ध. भारत-चीन युद्ध, जिसे Sino-Indian War भी कहा जाता है. वो युद्ध जो टल सकता था, अगर रक्षा मंत्री वी.के.मेनन लेफ्टिनेंट जनरल थोराट की युद्ध होने की आशंका वाली बात को नज़रअंदाज़ न करते.

वो युद्ध, जिसमें हमारे जवानों के पास न ढंग के हथियार थे और न ही ठीक से पहनने के लिए जूते. चीन ने हमारी धरती पर कब्ज़ा जमाने के लिए हमला किया और वो एक हद तक क़ामयाब भी हुआ. हम इसीलिए भी हारे क्योंकि हम ये मान बैठे थे कि हमारा पाकिस्तान के अलावा कोई दुश्मन नहीं है.

1962 के युद्ध की गवाही देने के लिए हमने इकट्ठा की हैं कुछ तस्वीरें, जो शोर मचा-मचाकर उठाती हैं कई सवाल-

1. भारत के लद्दाख क्षेत्र में प्लेकार्ड लिए खड़े दो बच्चे, जिन पर लिखा हुआ कि वो युद्ध में भारत और नेहरू के साथ हैं.

Source- Defence Forum India

2. इंडियन होम गार्ड्स तेजपुर में ट्रेनिंग करते हुए.

Source- Defence Forum India

3. इंडियन होम गार्ड्स की महिला सदस्य

Source- Defence Forum India

Source- Defence Forum India

4. भारत-चीन युद्ध के दौरान शरणार्थी

Source- Defence Forum India

Source- Defence Forum India

Source- Defence Forum India

Source- Defence Forum India

5. असम राइफ़ल्स के जवानों की पत्नियां और परिवार के सदस्य

Source- Defence Forum India

6. मिलिट्री ट्रेनिंग लेते भारतीय सैनिक

Source- Defence Forum India

7. ऊंचे पहाड़ों पर ट्रक को रस्सियों से खींचते भारतीय सैनिक

Source- Defence Forum India

8. खच्चरों पर ले जाए जाते थे हथियार

Source- Defence Forum India

9. असम की पहाड़ियों में चीन के खिलाफ़ हथियारों का इस्तेमाल करते भारतीय सैनिक

Source- Defence Forum India

10. चीन से युद्ध से पहले ट्रेनिंग लेते भारतीय सैनिक

Source- Defence Forum India

11. भारत और चीन के बीच एक माउंटेन पास से हथियार ले जाते खच्चर

Source- Defence Forum India

12. चीन और भारत के बीच बिगड़ते हालातों के बावजूद यहां भारतीय और चीनी सैनिक निश्चिंत नज़र आ रहे हैं. दोनों के बीच जो पत्थर है, वो है भारत चीन का बॉर्डर

Source- Defence Forum India

13. NEFA पर नेहरू जी और रक्षा मंत्री वाई.बी.चवन सैनिकों से मिलते हुए

Source- Defence Forum India

14. ब्लैक एंड वाइट फ़ोटो में भी Pangong Tso झील की ख़ूबसूरती साफ़ देखी जा सकती है, झील के किनारे चलते भारतीय सैनिक

Source- India Today

15. IAF Dakota से गिराए जा रहे हथियार और अन्य सामग्रियां

Source- India Today

Source- India Today

16. वलांग सेक्टर में लोहित नदी को सिर्फ़ एक रस्सी के सहारे पार करते भारतीय सैनिक.

Source- India Today

17. युद्ध के दौरान कुछ भारतीय सैनिक

Source- India Today

18. असम के Charduar में सेना के अफ़सरों से मिलते तत्कालीन प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू

Source- India Today

19. पूर्व प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू असम के Charduar में जवानों से मिलते हुए

भारत-चीन युद्ध में सैंकड़ों भारतीय सैनिक लापता हो गए और बहुतों ने सरेंडर किया. सच क्या है सिर्फ़ वो जानते हैं, जो युद्ध का हिस्सा बने. चीन के साथ हुआ 1962 का युद्ध हमारे इतिहास का एक काला पन्ना है.


Source- India Today

20. IAF Dakota से गिराए गए हथियारों और अन्य सामान को उठाकर ले जाते भारतीय सैनिक

Source- India Today

21. संकरे, कठिन पहाड़ी रास्तों से खाने-पीने का सामान और हथियार ले जाते भारतीय सैनिक

Source- India Today

22. गुरखा यूनिट के जवान तुल बहादुर, आगे की चौकी तक ख़बर पहुंचाते हुए

Source- India Today

23. युद्ध की सबसे आगे की चौकी, जहां से चीनीयों को साफ़ तौर पर देखा गया

Source- India Today

24. North East Frontier Agency में एक बंकर में भारतीय सैनिक

Source- India Today

भारत-चीन युद्ध में सैंकड़ों भारतीय सैनिक लापता हो गए और बहुतों ने सरेंडर किया. सच क्या है सिर्फ़ वो जानते हैं, जो युद्ध का हिस्सा बने. चीन के साथ हुआ 1962 का युद्ध हमारे इतिहास का एक काला पन्ना है.


भारत-चीन युद्ध की कुछ तस्वीरें, जो न सिर्फ़ बोलती हैं बल्कि चीख-चीखकर सवाल खड़े करती हैं

https://hindi.scoopwhoop.com/some-pictures-of-indo-china-war/#.3c5y074p1

अगला लेख: ऑपरेशन गुफा : भारत के बिना आसान नहीं था बच्चों को निकालना, थाईलैंड के पीएम ने कहा शुक्रिया



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
19 जुलाई 2018
दिग्गज ई-कॉमर्स वेबसाइट फ्लिपकार्ट (www.flipkart.com) की बिग शॉपिंग डे (Big Shopping Days) सेल में यूजर्स के लिए कई बंपर ऑफर पेश किए गए हैं. 16 जुलाई की शाम 4 बजे से शुरू होने वाली सेल 19 जुलाई तक जारी रहेगी. इसी सेल में चाइनजीज फोन निर्माता कंपनी शाओमी के Redmi Note 5 Pro पर बंपर डिस्काउंट मिल रहा
19 जुलाई 2018
04 जुलाई 2018
कतर, मकाओ और लक्सज़मबर्ग सबसे अमीर देश हैं किस देश को सबसे अमीर देश कहा जा सकता है? आप कहेंगे कि सीधी सी बात है, जिस देश में सबसे ज़्यादा पैसा है वो देश सबसे अमीर कहलाएगा. लेकिन इस सवाल का जवाब इतना सीधा नहीं है. सबसे अमीर देशों की सूची बनाने के लिए कई दूसरे रास्ते अपनाए
04 जुलाई 2018
02 जुलाई 2018
इतिहास गवाह रहा है कुछ महान घटनाओं का जिनके बारे में हमने सुना है, जिनके बारे में हमने पढ़ा है | वैसे ही इतिहास की कुछ दुर्लभ तस्वीरें जिन्हें कैमरे में कैद कर लिया गया है | 1. जुलाई 1888, जब एफ्फिल टावर का निर्माण हो रहा था | 2. टाइम्स स्क्वायर , न्यू यॉर्क , 19113. हिंडेनबर्ग त्रासदी, 19374. 19
02 जुलाई 2018
27 जुलाई 2018
हम अकसर अपने पहले की जेनरेशन को खुद से पीछे मानते हैं, फिर वो पढ़ाई हो या फिर फ़ैशन. लेकिन हम ये भूल जाते हैं कि हम आज जहां भी हैं, इसमें सबसे बड़ा हाथ हमारे पीछे की जेनरेशन का ही है. हम आपको कुछ देशों के ऐसे ही फ़ैशन की तस्वीरें दिखाते हैं. लेकिन ये तस्वीरें आज की नहीं ह
27 जुलाई 2018
10 जुलाई 2018
लंदन में रहने वाली गर्लफ्रेंड के भारत आगमन की खबर सुनने के बाद समीर की खुशी का ठिकाना नहीं था. करीब एक साल के इंतजार के बाद उसकी गर्लफ्रेंड पहली बार उससे मिलने के लिए इंडिया आने वाली थी. इतना ही नहीं, अपनी मुलाकात को यादगार बनाने के लिए उसकी गर्लफ्रेंड समीर के लिए लंदन से
10 जुलाई 2018
01 जुलाई 2018
!! भगवत्कृपा हि केवलम् !! *आदिकाल से ईश्वर की सत्ता सम्पूर्ण ब्रह्माण्ड में विद्यमान है | परंतु सृष्टि के प्रारम्भ से ही ईश्वरीय सत्ता को मानने वाले भी इसी ब्रह्माण्ड में रहे हैं जिन्हें असुर की संज्ञा दी गयी है | समय समय पर इस धरती पर ईश्वर की उपस्थिति का प्रमाण मिलता रहा है | उन्हीं प्रमाणों
01 जुलाई 2018
06 जुलाई 2018
आपने अमीर लोगों के बारे में तो सुना ही होगा, लेकिन क्या कभी आपने अमीर शहरों के बारे में सुना है। हम आपको जीडीपी के आधार पर भारत के 10 बड़े शहरो के बारे में बताएंगे। अर्थव्यवस्था के नाम पर भारत को मजबूत बनाने में इन्हीं अमीर शहरों का बहुत बड़ा योगदान रहता है।10. विशाखापट्न
06 जुलाई 2018
28 जुलाई 2018
विशाखापट्टनम से चली थी, यूपी में बस्ती तक पहुंचना था.भारतीय रेलवे की जय हो. इतनी अद्भुत कहानी सामने आई है कि जय हो कहने के सिवाए कुछ और मुख से निकलता नहीं है. कुछ दिन पहले जापान रेलवे की खबर सुनी थी कि ट्रेन एक मिनट लेट हुई और तमाम रेलवे अधिकारियों ने सामूहिक माफीनामा जार
28 जुलाई 2018
09 जुलाई 2018
मनी लॉन्ड्रिंग, लोन डिफॉल्ट और बैंकों का बकाए को लेकर केस हार चुके विजय माल्या खुद संपत्ति देने को तैयार हैं. उन्होंने जांच एजेंसियों से वक्त, तारीख और जगह पूछी है. विजय माल्या ने कहा है कि वह खुद आकर जांच एजेंसियों को ब्रिटेन की संपत्ति सौंप देंगे. लेकिन, उनके पास ज्यादा कुछ नहीं है. क्योंकि, ब्रि
09 जुलाई 2018
28 जुलाई 2018
विशाखापट्टनम से चली थी, यूपी में बस्ती तक पहुंचना था.भारतीय रेलवे की जय हो. इतनी अद्भुत कहानी सामने आई है कि जय हो कहने के सिवाए कुछ और मुख से निकलता नहीं है. कुछ दिन पहले जापान रेलवे की खबर सुनी थी कि ट्रेन एक मिनट लेट हुई और तमाम रेलवे अधिकारियों ने सामूहिक माफीनामा जार
28 जुलाई 2018
02 जुलाई 2018
भारत में गाड़ियां सड़क के बायीं ओर चलती है और मोटरकार की स्टेयरिंग दायीं ओर होती है, जबकि अमेरिका सहित अधिकांश पश्चिमी देशों में गाडियां सड़क के दायीं ओर चलती है और मोटरकार की स्टेयरिंग बायीं ओर होती है. लेकिन क्या आपको इसके पीछे का कारण मालूम है? यदि आप इस प्रश्न के उत्तर स
02 जुलाई 2018
18 जुलाई 2018
बुलंदशहर। उत्तर प्रदेश में एक बार फिर पुलिस पर पैसे लेकर मनचाही पोस्टिंग देने के आरोप लगे हैं। हालांकि मामला सामने आने के बाद बुलंदशहर के एसएसपी ने पूरे मामले खंडन करते हुए इसे अफवाह बताया है। अफवाह फैलाने वाले के खिलाफ केस भी दर्ज कर लिया गया है। बता दें कि वायरल चैट एक
18 जुलाई 2018
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x