इन नमूनों की हरक़त साबित करती है कि अक्लबंदों का कोई देश-धर्म और जात नहीं होती

19 जुलाई 2018   |  रितिका चटर्जी   (83 बार पढ़ा जा चुका है)

इन नमूनों की हरक़त साबित करती है कि अक्लबंदों का कोई देश-धर्म और जात नहीं होती

कुछ लोगों की हरकतों को देख कर लगता है कि क्यों भाई क्यों, आखिर क्यों करते हो ऐसे काम? इन नमूनों को देखकर कई बार दिल कहता है कि यार It Happen Only India. इसलिए दोस्तों आज हम आपके लिए कुछ ऐसे ही नमूनों की तस्वीरें लेकर आये हैं, जिन्हें देखकर आप भी कहेंगे बेटा क्या मिलता है ये सब करके?

ऐ कौन ले कर आया इसे?

आंटी बहुत बिज़ी हैं.

ADVERTISEMENT

संता और सांता की जोड़ी.

भगवान को भी चढ़ा फेसबुक का क्रेज़.

कहा था दोस्तों के साथ ताजमहल मत देखने जा.

ADVERTISEMENT

आज कोई उधारी नहीं.

महारी छोरियां, छोरों ते कम है के?

चलो कोई, तो आया ट्रैफ़िक संभालने.


आज कुछ तूफ़ानी करते हैं.


दोस्तों से ही कर लेते शादी.


बाबा जी का Swag.


इंडिया में हर जुगाड़ है भाई.


टेक्नोलॉजी का असर.


इहां का पढ़ाते हो भाई?


Source: quora

इन नमूनों की हरक़त साबित करती है कि अक्लबंदों का कोई देश-धर्म और जात नहीं होती

https://hindi.scoopwhoop.com/Hindustan-ke-Namune/?ref=trending#.40wh6450y

अगला लेख: Escalator के मारे इन लोगों की तस्वीरें देखने के बाद, आप सीढ़ियां चढ़ना बेहतर समझोगे



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
23 जुलाई 2018
दुनिया में दो तरह के प्राणी पाए जाते हैं. पहले वो, जो कोई भी काम करने से पहले अपने दिमाग़ का इस्तेमाल करना जानते हैं, दूसरे वो जिन्हें दिमाग़ ख़र्च करने में काफ़ी आलस आता है.इस बार हम दिमाग़ का यूज़ न करने वाले कुछ नमूनों की ऐसी धासूं त
23 जुलाई 2018
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x