बातें कुछ अनकही सी...........: दिल के किराएदार

23 जुलाई 2018   |  युगेश कुमार   (120 बार पढ़ा जा चुका है)

बातें कुछ अनकही सी...........: दिल के किराएदार

बकौल मोहब्बत वो मुझसे पूछता है

दिल के मकान के उस कमरे में

क्या?अब भी कोई रहता है।

थोड़ा समय लगेगा,ध्यान से सुनना

बड़ी शिद्दत से बना था वो कमरा

कच्चा था पर उतना ही सच्चा था

उसे भी मालूम था

कि उसकी

एक एक ईंट जोड़ने में

मेरी

एक एक धड़कन निकली थी

इकरारनामा तो था

पर

उस पर उसके दस्तख़त न हो पाए

उसे कोई दूसरा कमरा पसंद था

मेरा कमरा थोड़ा कच्चा था

सो अब सीलन पड़ने लगी थी

थोड़ी दरारें भी आ गईं थी

लोगों के कहने पर

थोड़ी

मरम्मत करवाई है

सीलन और दरारें थोड़ी भरने लगी हैं

अब मैं वो कमरा किराये पर लगाता हूँ

किरायेदार भी अच्छे मिल जाते हैं

पर किसी में ऐसी बात नहीं मिली

कि कमरे को मकान से जोड़ दे

दरारे कम हो गई हैं

पर अब भी कुछ बाकी हैं

हाँ, मैंने इकरारनामे की कुछ शर्तें

बदल जरूर दी हैं

किराया ठीक ठाक मिल जाता है

तकलीफ अब उतनी नहीं होती।


©युगेश

बातें कुछ अनकही सी...........: दिल के किराएदार

https://yugeshkumar05.blogspot.com/2018/07/blog-post_23.html

बातें कुछ अनकही सी...........: दिल के किराएदार

अगला लेख: टेलीफोन हितेषी या जंजाल



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
02 अगस्त 2018
Humne Ghar Chhoda Hai Lyrics from Dil is sung by Sadhana Sargam and Udit Narayan and written by Sameer. Music of Humne Ghar Chhoda Hai is composed by Anand and Milind.दिल (Dil )हमने घर छोड़ा है की लिरिक्स (Lyrics Of Humne Ghar Chhoda Hai )हमने घर छोड़ा हैहमने घर छोड़ा हैतेरे बिना जीना पड़ेदिन वह कभी
02 अगस्त 2018
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x