हिन्दी पञ्चांग

24 जुलाई 2018   |  डॉ पूर्णिमा शर्मा   (71 बार पढ़ा जा चुका है)

हिन्दी पञ्चांग

बुधवार, 25 जुलाई 2018 – नई दिल्ली

सूर्योदय : 05:38 पर कर्क में

सूर्यास्त : 19:16 पर

चन्द्र राशि : धनु

चन्द्र नक्षत्र : मूल 18:20 तक, तत्पश्चात पूर्वाषाढ़

तिथि : आषाढ़ शुक्ल त्रयोदशी 20:45 तक, तत्पश्चात आषाढ़ शुक्ल चतुर्दशी

करण : कौलव 07:33 तक, तत्पश्चात तैतिल 20:45 तक, तत्पश्चात गर

योग : इन्द्र 08:49 तक, तत्पश्चात वैधृति

राहुकाल : 12:27 से 14:09

यमगंड : 07:24 से 09:05

गुलिका : 10:45 से 12:27

अभिजित मुहूर्त : कोई नहीं

अगला लेख: हिन्दी पञ्चांग



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
13 जुलाई 2018
13 जुलाई, 2018: बहुत कठिन मत दबाओ। ऐसे कुछ दिन हैं जब निर्णय लेने की आवश्यकता वाले लोगों को अपने समय सारिणी पर ऐसा करने की ज़रूरत होती है, इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि यह आपको कितना असुविधाजनक महसूस कर सकता है। यह मत भूलना कि आप औसत भालू की तुलना में अधिक निर्णायक हैं, और सिर्फ इसलिए कि आप अब तक फैसल
13 जुलाई 2018
13 जुलाई 2018
13 जुलाई, 2018: दर्पण में आप क्या देख रहे हैं? ओह! तुम? तुम देख रहे हो क्या आप कहते हैं? यह स्पष्ट होना चाहिए, आप दर्पण में और क्या देख रहे होंगे? ठीक है, ठीक है। तो, आप क्या देखते हैं? क्या आप किसी ऐसे व्यक्ति को देखते हैं जो हाल ही में उगाया गया है? अपने और दुनिया भर में दुनिया की बेहतर समझ किसके
13 जुलाई 2018
18 जुलाई 2018
बुधवार, 18 जुलाई2018 – नई दिल्ली सूर्योदय : 05:34 पर कर्कमें सूर्यास्त : 19:19 पर चन्द्र राशि : कन्या चन्द्र नक्षत्र : उत्तर फाल्गुनी 08:19 तक, तत्पश्चात हस्त तिथि : आषाढ़ शुक्ल षष्ठी 14:36 तक, तत्पश्चात आषा
18 जुलाई 2018
24 जुलाई 2018
कुछ लोगों को संशय होता है कि ज्योतिष कोआयुर्वेद के समान वेद तो नहीं माना जाता ?ज्योतिष वेद है भी नहीं, वेदों का अंग है – वेदांग | ज्योतिष से सम्बन्धित ज्ञान वेदों में निहित है |ऋग्वेद में लगभग 20 मन्त्र ज्योतिष के विषय में उपलब्ध होते हैं,
24 जुलाई 2018
18 जुलाई 2018
गुरुवार, 19 जुलाई2018 – नई दिल्ली सूर्योदय : 05:35 पर कर्कमें सूर्यास्त : 19:19 पर चन्द्र राशि : कन्या 19:56 तक, तत्पश्चाततुला चन्द्र नक्षत्र : हस्त 07:52 तक, तत्पश्चात चित्रा तिथि : आषाढ़ शुक्ल सप्तमी 13:3
18 जुलाई 2018
21 जुलाई 2018
रविवार, 22 जुलाई2018 – नई दिल्ली सूर्योदय : 05:36 पर कर्कमें सूर्यास्त : 19:18 पर चन्द्र राशि : वृश्चिक चन्द्र नक्षत्र : विशाखा 10:44 तक, तत्पश्चात अनुराधा तिथि : आषाढ़ शुक्ल दशमी 14:47 तक, तत्पश्चात आषाढ़
21 जुलाई 2018
13 जुलाई 2018
13 जुलाई, 2018: अगर दोस्तों को बगीचे में रखने की तरह थे तो आपके पास असली हरा अंगूठा होगा। आप शहद मधुमक्खी फूल फूलों के फूलों की तरह नए परिचितों की खेती करते हैं, और पूरी प्रक्रिया सिर्फ मीठी की तरह गंध करती है। जब आप छेड़छाड़ करने का समय निकालते हैं, तो आप खरपतवार करते हैं, जब आप खरपतवार का समय निका
13 जुलाई 2018
22 जुलाई 2018
23 से 29 जुलाई तक का साप्ताहिक राशिफलनीचे दिया राशिफल आवश्यक नहीं कि हर किसी के लिएसही ही हो – क्योंकि सूर्य एक राशि में एक माह तक रहता है और उस एक माह में लाखोंलोगों का जन्म होता है | साथ ही ये फलकथन केवल ग्रहों के तात्कालिक गोचर पर आधारितहोते हैं | इस फलकथन अथवा ज्योतिष
22 जुलाई 2018
13 जुलाई 2018
13 जुलाई, 2018: आप अच्छे हैं। यह कहना नहीं है कि आप बहुत अच्छे हैं, या आप एक पुशओवर हैं, या आप saccharine मीठे हैं। नहीं, आप बस अच्छे हैं, और आप अपने साथी इंसानों के लिए अच्छे हैं और लोग इसकी सराहना करते हैं। वे आपके साथ काम करना पसंद करते हैं और वे आपके साथ खेलना पसंद करते हैं। वे आपसे बात करना पसं
13 जुलाई 2018
17 जुलाई 2018
कोईअस्तित्व न हो शब्दों का, यदि हो न वहाँ मौन का लक्ष्य |कोईअर्थ न हो मौन का,यदि निश्चित नहो वहाँ कोई ध्येय |मौनका लक्ष्य है प्रेम,मौन मौन कालक्ष्य है दया मौनका लक्ष्य है आनन्द,और मौन मौन काहै लक्ष्य संगीत भी |मौन, ऐसा गीत जो कभीगाया नहीं गया,फिरभी मुखरित हो गया |मौन, ऐसा
17 जुलाई 2018
13 जुलाई 2018
13 जुलाई, 2018: कभी-कभी आप गुलाब के रंगीन चश्मा के माध्यम से दुनिया देखते हैं। कभी-कभी यह वास्तव में मोटे नीले रंग के माध्यम से होता है। कभी-कभी दुनिया एक फिल्मी, विकृत गुणवत्ता लेती है - खासकर जब आप अपने कोक-बोतल चश्मा डालते हैं! क्यों कुछ अलग जोड़े (सफेद रिम्स के साथ 3-डी हमेशा अच्छे देखने के लिए
13 जुलाई 2018
26 जुलाई 2018
शुक्रवार, 27 जुलाई2018 – नई दिल्ली सूर्योदय : 05:39 पर कर्कमें सूर्यास्त : 19:15 पर चन्द्र राशि : मकर चन्द्र नक्षत्र : उत्तराषाढ़ 24:32 तक, तत्पश्चात श्रवण तिथि : आषाढ़ शुक्ल पूर्णिमा 25:50 (अर्द्धरा
26 जुलाई 2018
13 जुलाई 2018
13 जुलाई, 2018: 'आदत' 'खरगोशों' के साथ गायन करती है, और शायद ऐसा इसलिए है क्योंकि दोनों पागल की तरह खुद को पुन: पेश करते हैं। तो अगर आपके पास कोई भी भयानक आदत नहीं है (और हर कोई करता है), तो चक्र को रोकने के लिए असली प्रयास क्यों न करें? आज एक चल रही, आत्म-पराजित आदत या दो को मुक्त करने का एक अच्छा
13 जुलाई 2018
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x