सावन: शिव की रात्रि

25 जुलाई 2018   |  Pratibha Bissht   (82 बार पढ़ा जा चुका है)

कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि को शिवरात्रि के रूप में मनाया जाता है। ऐसे में पुरे वर्ष में कुल 12 शिवरात्रियां आती है जिनमे से सबसे मुख्य महाशिवरात्रि को माना जाता है। लेकिन इसके अलावा भी एक शिवरात्रि है जिसे हिन्दू धर्म में बहुत श्रद्धा के साथ साथ मनाया जाता है और वो है श्रावण माह की शिवरात्रि। वर्ष के सभी 11 शिवरात्रियों को मासिक शिवरात्रि के नाम से जाना जाता है। जिनमे से एक श्रावण माह की शिवरात्रि होती है। शिवरात्रि का पर्व देवों के देव महादेव को समर्पित पर्व है जिसे पुरे भारत में बड़े हर्ष के साथ मनाया जाता है। लेकिन इसके अलावा भी एक शिवरात्रि है जिसे हिन्दू धर्म में बहुत श्रद्धा के साथ मनाया जाता है और वो है श्रावण माह की शिवरात्रि।

हिन्दू धर्म में भोलेनाथ को सबसे सरल और भोला देव माना जाता है। कहते है यदि कोई भक्त पूरी श्रद्धा और भक्ति के साथ भगवान् शिव की आराधना करता है तो प्रभु उस मनुष्य का कल्याण करते हैं। और साल में एक महीना ऐसा होता है जब सभी भक्त भोले बाबा का नाम जपते रहते है और वो समय है सावन का महीना। धर्म ग्रंथों में भी सावन महीने को बहुत पवित्र और शुभ माना जाता है। सावन का महीना महादेव को समर्पित है इसलिए इस महीने भक्त भगवान् शिव की आराधना करते है और व्रत भी रखते है| भगवान् शिव को महादेव के अलावा भी कई नामो से पुकारा जाता है|

हिंदू धर्म में सावन का महीना काफी पवित्र माना जाता है। इसे धर्म-कर्म का माह भी कहा जाता है। सावन महीने का धार्मिक महत्व काफी ज्यादा है। शास्त्रों के अनुसार बारह महीनों में से सावन का महीना विशेष पहचान रखता है। पुराणों और धर्मग्रंथों को उठा कर देखें तो भोले बाबा की पूजा के लिए सावन के महीने की महिमा का अत्याधिक महत्व है।

इस महीने में ही पार्वती जी ने शिव जी की घोर तपस्या की थी और शिवजी ने उन्हें दर्शन भी इसी माह में दिए थे। तब से भक्तों का विश्वास है कि इस महीने में शिवजी की तपस्या और पूजा पाठ से शिव जी जल्द प्रसन्न होते हैं और जीवन सफल बनाते हैं। श्रावण यह हिंदी कैलेंडर में पांचवे स्थान पर आता हैं। यह वर्षा ऋतू में प्रारंभ होता है। शिव जिनको श्रावण का देवता कहा जाता हैं उन्हें इस माह में भिन्न-भिन्न तरीकों से पूजा जाता हैं। भगवान शिव को सावन का महीना प्रिय होने का अन्य कारण यह भी है कि भगवान शिव सावन के महीने में पृथ्वी पर अवतरित होकर अपनी ससुराल गए थे और वहां उनका स्वागत अर्घ्य और जलाभिषेक से किया गया था। माना जाता है कि प्रत्येक वर्ष सावन माह में भगवान शिव अपनी ससुराल आते हैं। भू-लोक वासियों के लिए शिव कृपा पाने का यह उत्तम समय होता है|

सावन शिवरात्रि बहुत महत्वपूर्ण होती है। माना जाता है कि भगवान भोलेनाथ अपने भक्तों की पुकार बहुत जल्द सुन लेते हैं। इसलिये उनके भक्त अन्य देवी-देवताओं की तुलना में अधिक भी मिलते हैं| भगवान भोलेनाथ का दिन सोमवार माना जाता है और उनकी पूजा का श्रेष्ठ महीना सावन। वैसे तो हर माह कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी को मासिक शिवरात्रि भी आती है लेकिन सावन महीने में आने वाली शिवरात्रि को फाल्गुन महीने में आने वाली महाशिवरात्रि के समान ही फलदायी माना जाता है।

सभी शिवभक्तों को फाल्गुन महीने के बाद सावन महीने का खास तौर पर इंतजार रहता है। दरअसल सावन के पावन सोमवार और उसमें शिवरात्रि के त्यौहार की महिमा ही अलग होती है। इस शिवरात्रि का महत्व इसलिये भी बढ़ जाता है क्योंकि इसमें भगवान शिव का जलाभिषेक करना बहुत पुण्यकारी माना जाता है। सावन के पूरे महीने शिवभक्त बम भोले,

हर-हर महादेव के नारे लगाते हुए नजर आते हैं। शिवरात्रि के दिन जलाभिषेक के लिये हरिद्वार, गौमुख से कांवड़ भी लेकर आते हैं। मान्यता है कि श्रावण महीने की शिवरात्रि के दिन जो भी श्रद्धालु सच्चे मन से भगवान शिव की पूजा करते हैं तो उनके कष्टों का निवारण होता है और मुरादें पूरी हो जाती हैं।

शिवरात्रि साल मे 12 /13 बार आने वाला मासिक त्योहार है| शिवरात्रियों में से दो सबसे अधिक प्रसिद्ध हैं, फाल्गुन महा शिवरात्रि के नाम से प्रसिद्ध है और दूसरी सावन शिवरात्रि के नाम से जानी जाती है। यह त्यौहार भगवान शिव-पार्वती को समर्पित है, इस दिन भक्तभगवान शिव के प्रतीक शिवलिंग पर बेलपत्र चढ़ाते हैं।

सावन शिवरात्रि को काँवर यात्रा भी कहा जाता है, जो मानसून के श्रावण (जुलाई-अगस्त) के महीने मे आता है। कंवर (काँवर), एक खोखले बांस को कहते हैं इस अनुष्ठान के अंतर्गत, भगवान शिव के भक्तों को कंवरियास या काँवाँरथी के रूप में जाने जाता है। हिंदू तीर्थ स्थानों हरिद्वार, गौमुख व गंगोत्री, सुल्तानगंज में गंगा नदी, काशी विश्वनाथ, बैद्यनाथ,

नीलकंठ और देवघर सहित अन्य स्थानो से गंगाजल भरकर अपने - अपने स्थानीय शिव मंदिरों में इस पवित्र जल को लाकर चढ़ाया जाता है।


हिन्दू पुराणों में कांवड़ यात्रा समुद्र के मंथन से संबंधित है। समुद्र मंथन के दौरान भगवान शिव ने जहर का सेवन किया, जिससे नकारात्मक ऊर्जा से पीड़ित हुए। त्रेता युग में रावण ने शिव का ध्यान किया और वह कंवर का उपयोग करके, गंगा के पवित्र जल को लाया और भगवान शिव पर अर्पित किया, इस प्रकार जहर की नकारात्मक ऊर्जा भगवान शिव से दूर हुई।

पृथ्वी की रचना पूरी होने के बाद,पार्वती जी ने भगवान शिव से पूछा कि भक्तों के कौन से अनुष्ठानों से आपको सबसे ज़्यादा प्रशन्नता होती है। भगवान ने कहा है कि, फाल्गुन के महीने के दौरान शुक्लपक्ष की 14 वीं रात मेरा पसंदीदा दिन है।

सावन शिवरात्रि के फायदे:

•कुंवारी कन्यायें इस दिन व्रत रखती है और मनचाहा पति पाने की प्रार्थना करती हैं। विवाहित स्त्रियां इस व्रत को अपने सुहाग के कुशल जीवन और लंबी आयु के लिए रखती हैं।

•अच्छे मन से पूजन और व्रत करने से पापो का नाश होता है।

•व्रत रखने से मन को शांति और सुकून भी मिलता है।

•गरीब किसान बारिश की चाह में भगवान् शिव से वर्षा कराने का आग्रह करते हैं।

•इस व्रत को रखने से घर में शांति आती है और घर की खराब स्थितियां सुधर जाती हैं।

•कालसर्प दोष से छुटकारा पाने के लिए इस दिन विशेष पूजा का आयोजन किया जाता है। जो ब्रह्म मुहूतय में की जाट है।

इस साल सावन की शिवरात्रि 9 अगस्त को है|

अगला लेख: स्कूलों से शारीरिक दंड को खत्म करने के लिए महाराष्ट्र सरकार शिक्षकों को प्रशिक्षित करेगी



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
19 जुलाई 2018
लिवरपूल ने पिछले कुछ सालों में कोच जुर्गन क्लॉप के तहत प्रीमियर लीग और यूईएफए चैंपियंस लीग दोनों में काफी उन्नतिकी है| 2017-18 के जबरदस्त कैंपेन बाद, एन्फील्ड समर्थक अपने को फुटबॉल के एक और शानदार सीजन के लिए तैयार कर रहे है और क्लब के प्र
19 जुलाई 2018
14 जुलाई 2018
मृ
भावनाओं का चक्रव्यूह तोड़ स्मृतियों के मकड़जाल से निकल कच्ची छोड़,पक्की डगर पकड़ लालसाओं के खुवाओं से घिराभ्रमित मन का रचित संसार लिए.....रेगिस्तान में कड़ी धूप की जलधारा की भांति सपनें पूरे करने......चल पड़ा एक ऐसी डगर.......अनजानी राहें,नए- लोग चकाचौंध की मायावी दुनियां ऊँची-ऊँची इमारतों जैसे ख्वाब हकीक
14 जुलाई 2018
18 जुलाई 2018
इस गर्मी की डूबने वाली रोकथाम और जल सुरक्षा अभियान के संयोजन के साथ यह हमारी जल सुरक्षा श्रृंखला की तीसरी किस्त है। यह अभियान हमारे सामुदायिक जोखिम न्यूनीकरण कार्यक्रम का हिस्सा है। लाइफ जैकेट (पर्सनल फ्लोटेश
18 जुलाई 2018
17 जुलाई 2018
बुजुर्ग माता-पिता के साथ यदि उनका बेटा दुर्व्यवहार करता है या उनकी देखभाल करने में विफल रहता है, तो वे उपहार के रूप में बेटे को दी गई अपनी संपत्ति का हिस्सा वापस ले सकते हैं। बॉम्बे हाईकोर्ट ने इस बारे में फैसला सुनाया है। वरिष्ठ नागरिकों के रखरखाव के लिए विशेष कानून का ह
17 जुलाई 2018
13 जुलाई 2018
सोमवार को आई खबर के मुताबिक महारष्ट्र सरकार शारीरिक दंड को खत्म करने पर काम कर रही है| इस दिशा में काम करते हुए,राज्य शिक्षा विभाग ने प्राथमिक और माध्यमिक शिक्षा विभागों से शिक्षकों,सभी बोर्डों के प्रिंसिपल और स्कूल प्रबंधन के लिए कार्यशालाएं आयोजित करने के लिए कहा है| कार्यशालाओं के लिए, विभाग न
13 जुलाई 2018
19 जुलाई 2018
बीएमडब्ल्यू मोटरड्राड इंडिया ने आखिरकार बीएमडब्ल्यू जी 310 आर और बीएमडब्ल्यू जी 310 जीएस लॉन्च किया गया जिसकी कीमतें ₹ 2.99 लाख से शुरू है|नई जी 310 आर और नई जी 310 जीएस सा
19 जुलाई 2018
18 जुलाई 2018
पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने हरिस सोहेल को जिम्बाब्वे दौरे से घर लौटने की इजाजत दे दी है।हरिस सोहेल ने पाकिस्तान टीम प्रबंधन से जिम्बाब्वे दौरे से अपनी बेटी की बीमारी के चलते घर वापिस लौटने के लिए अनुरोध किया
18 जुलाई 2018
12 जुलाई 2018
सावन का महीना शुरू होने वाला है| सावन का मौसम एक अजीब सा उत्साह ओर उमंग लेकर आता है। चारों ओर हरियाली ही हरियाली दिखाई देती है और उसे देख कर सबका मन झूम उठता है। ऐसे ही सावन के सुहावने मौसम में आता है तीज का त्यौहार। श्रावण मास के शुक्ल
12 जुलाई 2018
18 जुलाई 2018
जो
जो रूट के शतक (१०० नाबाद) और उनके तथा इयोन मॉर्गन (८८ नाबाद) के बीच हुई शतकीय भागीदारी की मदद से इंग्लैंड ने मंगलवार को भारत को तीसरे और निर्णायक वनडे में ८ विकेट से रौंदा। भारत ने विराट कोहली के अर्द्धशतक (
18 जुलाई 2018
14 जुलाई 2018
गर्मियों के मौसम के दौरान गर्भावस्था में देखभाल कैसे करें? बधाई हो ... आप सही जगह पर हैं !!! इस पोस्ट के द्वारा आप जान पाएंगे गर्मी में अपनी और बेबी बम्प की द
14 जुलाई 2018
29 जुलाई 2018
अमरनाथ हिन्दुओं का एक प्रमुख तीर्थस्थल है। यह कश्मीर राज्य के श्रीनगर शहर के उत्तर-पूर्व में 135 सहस्त्रमीटर दूर
29 जुलाई 2018
19 जुलाई 2018
विश्व बैंक की एक रिपोर्ट के अनुसार दुनिया भर में तेल उत्पादन स्थलों में गैस फ्लॉरिंग में उल्लेखनीय गिरावट आई है , यह रिपोर्ट मंगलवार को देर रात जारी की गयी | यह आश्चर्य की बात है क्योंकि वैश्विक तेल उत्पादन में आधे प्रतिशत की वृद्धि 2017 में दर्ज की गई थी| ग्लो
19 जुलाई 2018
18 जुलाई 2018
सा
हिंदू धर्म में सावन का महीना काफी पवित्र माना जाता है। इसे धर्म-कर्म का माह भी कहा जाता है। सावन महीने का धार्मिक महत्व काफी ज्यादा है। शास्त्रों के अनुसार बारह महीनों में से सावन का महीना विशेष पहचान रखता है। इस दौरान व्रत, दान व पूजा-पाठ
18 जुलाई 2018
21 जुलाई 2018
लोकसभा में नो-ट्रस्ट वोट से पहले सभी की आंखें शिवसेना पर टिकी हुई हैं। हालांकि, पार्टी इस मुद्दे पर अभी भी रहस्य बनाए हुए है| शुक्रवार की सुबह आउटलुक से बात करते हुए शिवसेना के सांसद भावाना गवली पाटिल ने कहा कि पार्टी के
21 जुलाई 2018
13 जुलाई 2018
देश में सनसनी फैला रहे बाबाओं के कारनानों पर पढ़िए खांटी खड़गपुरियातारकेश कुमार ओझा की नई कविता...बाबा का संबोधन मेरे लिए अब भीहै उतना ही पवित्र और आकर्षकजितना था पहलेअपने बेटे और भोलेनाथ कोमैं अब भी बाबा पुकारता हूंअंतरात्मा की गहराईयों सेक्योंकि दुनियावी बाबाओं के भयंकर प्रदूषणसे दूषित नहीं हुई द
13 जुलाई 2018
18 जुलाई 2018
किली जेनर और ट्रेविस स्कॉट इस महीने के जीक्यू पत्रिका के कवर पर चित्रित होंगे। ट्रैविस अपने ड्रेडलॉक्स में काले धारीदार सूट के साथ दिख रहे है, जबकि किली को काले पोशाक में देखा जाता है। पत्रिका ने दृश्य क
18 जुलाई 2018
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x