आज का शब्द (१७)

28 अप्रैल 2015   |  शब्दनगरी संगठन   (228 बार पढ़ा जा चुका है)

आज का शब्द (१७)

मूर्द्धन्य :

​१- वह वर्ण जिसका उच्चारण मूर्द्धा से होता है जैसे 'ट' वर्ग के सभी वर्ण मूर्द्धन्य हैं I


२- जो बहुत बड़ा या अच्छा हो, श्रेष्ठ, उदात्त, अध्यारूढ़;


जैसे : पं0 महामना मदन मोहन मालवीय मूर्द्धन्य विद्वान थे I


३- मस्तक में स्थित;


जैसे : शिव भक्त स्वामी जी का मूर्द्धन्य तिलक उन पर बहुत फबता है I

अगला लेख: सम्मान अमर वाणी-2015



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
25 अप्रैल 2015
नैहर : १- विवाहित स्त्रियों के लिए उनके माता-पिता का घर​ २- मायका, ३- पीहर, ४- मैका, मायका ५- मैहर, ६- प्योसार
25 अप्रैल 2015
30 अप्रैल 2015
शब्दनगरी मित्रो, आशा करते हैं कि आपने भी अमर उजाला द्वारा आयोजित रियलिटी शो 'अमरवाणी-2015' हेतु अपनी प्रविष्टि भेजी होगी I आइए श्रेष्ठ कवियों के चयन सम्बन्धी आपको आवश्यक जानकारी दे दें I इस प्रतियोगिता में आज यानि 30 अप्रैल को 24 प्रविष्टियाँ चुनी जाएंगी I 01 मई, 2015 को, दोनों आयु वर्ग में से रियल
30 अप्रैल 2015
16 अप्रैल 2015
पथ्य : १- शीघ्र पचने वाला भोजन जो रोगी को दिया जाता है. २- संयमित आहार ३- पथ अथवा मार्ग सम्बन्धी प्रयोग: १- रोज़-रोज़ पथ्य खाकर रोगी उकता जाता है I २-स्वस्थ रहने के लिए पथ्य अति आवश्यक है I ३- पथ्य कार्य के कारण, इन दिनों इस मार्ग पर अधिक भीड़ रहती है I १६ अप्रैल, २०१५
16 अप्रैल 2015
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x