भारतीय अभिजात वर्ग का पाखंड

28 जुलाई 2018   |  Pratibha Bissht   (64 बार पढ़ा जा चुका है)

 भारतीय अभिजात वर्ग का पाखंड

जब मैं 'एलिट' कहती हूं, तो मैं उच्च नेट वर्थ व्यक्तियों के बारे में बात नहीं कर रही हूं, जैसा कि कोई कल्पना करेगा। एक व्यक्ति, जिसने निजी शिक्षा की विलासिता की है,

एक वाइट कॉलर नौकरी में नियोजित है और शहरी क्षेत्र में रहता है, वह एक भारतीय अभिजात वर्ग से है। सांख्यिकीय रूप से, ऐसा व्यक्ति हमारे देश के शीर्ष 2% में होगा।

इसके बाद आसान संदर्भ के लिए उसे 'लियो' कह सकते है|

लियो गर्व से अपने महंगे स्मार्टफोन को दिखाते है, जिसे ,वह केवल फोन कॉल करने और व्हाट्सएप या फेसबुक की जांच करने के लिए उपयोग करते है। वह अपने फोन को स्मार्ट रखने के लिए 200 रुपये की मासिक 3 जी योजना का उपयोग करता है। फिर भी जब रेल बजट ने यात्री शुल्क 1. 20 रुपये की बढ़ोतरी की घोषणा की तो वह जुनून से मुद्रास्फीति पर बहस करता है| दिलचस्प बात यह है कि लियो इस जानकारी को व्हाट्सएप संदेश के द्वारा शेयर करते है और इन सरकार विरोधी शब्दों को दुसरो से भी साझा करने की रिक्वेस्ट भी करते है| मजेदार है, लियो ने आखिरी बार 10 साल पहले ट्रेन से यात्रा की थी।

लियो शिक्षित है, और इस प्रकार आत्म-निहितार्थ, आवाज रहित की आवाज|उसे सबकुछ पर एक राय रखने का हकदार है, विश्वसनीयता या उसकी जानकारी की अपर्याप्तता के बावजूद भी|लियो इसे बोलने की स्वतंत्रता कहते है|वह फेसबुक पर इसे पढ़ते है कि भारतीय संविधान ऐसी स्वतंत्रता प्रदान करता है। हालांकि लियो ने भारतीय संविधान को कभी नहीं पढ़ा है। उन्हें इसकी आवश्यकता भी नहीं है, क्योंकि फेसबुक उसका कोर्टरूम है, जहां वह न्यायाधीश,जूरी और निष्पादक है। यह भारतीय अभिजात वर्ग का पाखंड है।

लियो एक कार है और दूसरी खरीदने का सपना है| लियो सार्वजनिक परिवहन का उपयोग करना पसंद नहीं करता और कारपूलिंग उसके वेतनगमन के नीचे है। उनके शहर में यातायात और प्रदूषण की जुड़वां समस्या है| लेकिन यह लियो की गलती नहीं है। विडंबना यह है कि लियो गरीब सार्वजनिक परिवहन प्रणाली को दोषी ठहराता है, जिसे वह पहले स्थान पर नापसंद करता है|लियो ऐसा इसलिए कहता है क्योंकि वह चाहता है कि दूसरे को सार्वजनिक परिवहन का उपयोग करें, जबकि वह आराम से अपनी वातानुकूलित कार में यात्रा कर सके। यह भारतीय अभिजात वर्ग का पाखंड है।

लियो कर चुकाता है। वह अक्सर इसे दान के साथ भ्रमित करता है।

बदले में ,लियो प्रत्येक सार्वजनिक सेवा चाहता है बिना अपनी सहभागिता के | वह चाहता है की उसके घर के सामने की सड़क रोज़ साफ़ हो |वह जाति-विभाजन को हटाने की मांग करता है, फिर भी 'मैनुअल स्कावेन्गिंग' को केवल 'उन' लोगों के लिए उपयुक्त मानता है| वह अपने नौकर के लिए अलग बर्तन रखने के बावजूद, समानता की बात करता है| लियो एक तत्काल गैस कनेक्शन चाहता है। वह इसके साथ सब्सिडी भी चाहता है, जिसे वह नहीं लेना चाहता है। लियो फिर टिप्पणी करता है कि कैसे सरकारें गरीबी को प्रभावी ढंग से कम करने में विफल रही हैं। यह भारतीय अभिजात वर्ग का पाखंड है।

लियो सब्सिडी प्राप्त कर के कॉलेज शिक्षा पूरी करते है। फिर वह उच्च शिक्षा के लिए विदेश चले जाते है। लियो को नौकरी मिलती है, और अपने दृढ़ संकल्प के साथ वो वहां बसने का प्रबंधन कर लेता है। लियो नासा के लिए काम करता है, और इसरो की आलोचना करता है|लियो हार्वर्ड में पढ़ाता है, और भारतीय हार्वर्ड की कमी पर टिप्पणी करता है। लियो अब एनआरआई एलिट बन गया है। यह भारतीय अभिजात वर्ग के ऊपर एक संपूर्ण स्तर है|

लियो अब भारतीय शिक्षा प्रणाली के उप-मानक स्तर के बारे में धाराप्रवाह अंग्रेजी में बोलता है। वह विशेष रूप से बताते हैं कि कैसे 100 शीर्ष में कोई भी भारतीय विश्वविद्यालय नहीं है|

लियो भारत का दौरा करता है, वह अब गर्म और आर्द्र मौसम, गरीबी,गंदगी और गंध से परेशान है कि जैसे अचानक उसने यह सब महसूस किया हो या शायद क्योंकि अन्य वाइट में ऐसा कहते हैं|

डीएसएलआर खरीदता है, नग्न सड़क के बच्चों की तस्वीरें लेने के लिए| वह खुद को एक सामाजिक कार्यकर्ता कहते हैं। अधिक नग्न बच्चे, अधिक सक्रियता। लियो को 'स्वच्छ भारत अभियान' के बारे में पता चला। अचानक, वह चरम देशभक्ति से भर जाता है| लियो तुरंत एक झाड़ू उठाता है, सेल्फी क्लिक करता है और समर्थन दिखाने के लिए फेसबुक पर पोस्ट कर देता है|काम हो गया। ओह।

इस बीच, वह एएलएस आइस बकेट चैलेंज भी लेता है|उस दिन बाद में, लियो की प्रेमिका ने उन्हें 'नो कारण' के लिए मोमबत्ती मार्च में भाग लेने के लिए आमंत्रित किया। लियो ने अपना व्हाट्सएप स्टेटस 'आरआईपी हनुमानथप्पा' लगाया| लियो एक सच्चे देशभक्त है।

लियो की नवीनतम चिंता भ्रष्टाचार है।हर कोई इसके बारे में बात कर रहा है। उनके बैचमेट्स में से एक व्यक्ति मुख्यमंत्री बन गया, इसके बारे में बात करके|एक बार लियो ओवर-स्पीडिंग के लिए पकड़ा गया| लियो यातायात पुलिस से पूछता है, वे जानते हैं कि उसके पिता कौन हैं? वे नहीं जानते, लेकिन लियो से 'टोकन' पैसे स्वीकार कर लेते हैं, उसे जाने देने के लिए | लियो अतीत में ज़ूमता है, और ड्राइविंग करते समय तुरंत अपने दोस्त को कॉल करता है| सबसे पहले वह इस बारे में बताता है की उसने ठुल्ले को पैसे दिए और फिर वह भ्रष्टाचार के कारण देश की हालत पर शोक जताता है| यह भारतीय अभिजात वर्ग का पाखंड है।

लियो मत बनो

अगला लेख: स्कूलों से शारीरिक दंड को खत्म करने के लिए महाराष्ट्र सरकार शिक्षकों को प्रशिक्षित करेगी



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
17 जुलाई 2018
बुजुर्ग माता-पिता के साथ यदि उनका बेटा दुर्व्यवहार करता है या उनकी देखभाल करने में विफल रहता है, तो वे उपहार के रूप में बेटे को दी गई अपनी संपत्ति का हिस्सा वापस ले सकते हैं। बॉम्बे हाईकोर्ट ने इस बारे में फैसला सुनाया है। वरिष्ठ नागरिकों के रखरखाव के लिए विशेष कानून का ह
17 जुलाई 2018
19 जुलाई 2018
विश्व बैंक की एक रिपोर्ट के अनुसार दुनिया भर में तेल उत्पादन स्थलों में गैस फ्लॉरिंग में उल्लेखनीय गिरावट आई है , यह रिपोर्ट मंगलवार को देर रात जारी की गयी | यह आश्चर्य की बात है क्योंकि वैश्विक तेल उत्पादन में आधे प्रतिशत की वृद्धि 2017 में दर्ज की गई थी| ग्लो
19 जुलाई 2018
18 जुलाई 2018
भारत और इंग्लैंड मंगलवार को हेडिंग्ले में श्रृंखला के तीसरे और निर्णायक खेल में ५० ओवर की ट्रॉफी के लिए लड़ेंगे, दोनों टीमें श्रृंखला जीतने और सकारात्मक नोट पर टेस्ट खेलने के
18 जुलाई 2018
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x