आज का शब्द (20)

08 मई 2015   |  शब्दनगरी संगठन   (729 बार पढ़ा जा चुका है)

आज का शब्द (20)

उत्कर्ष :

१- प्रकर्ष


२- प्रकर्षण


३- उत्कर्षण


भाव, मूल्य, महत्व आदि की सबसे बढ़ी हुई अवस्था


प्रयोग : सेठ करोड़ीमल का व्यापार इन दिनों सफलता के उत्कर्ष पर है I




अगला लेख: आज का शब्द (१३)



विजय जी अनेक धन्यवाद !

उत्कृष्ट शुरुआत

शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
06 मई 2015
प्रिय मित्रो,सन 1934, बरेली में जन्मे जाने-माने व्यंग्यकार और फिल्म पटकथा लेखक के पी सक्सेना के ज़बरदस्त लेखन से आप भली-भांति परिचित होंगे। उनकी गिनती वर्तमान समय के प्रमुख व्यंग्यकारों में होती है। हम ये कह सकते हैं कि यदि आपने हरिशंकर परसाई और शरद जोशी की रचनाएँ पढ़ी हैं तो के पी सक्सेना के व्यंग्य
06 मई 2015
24 अप्रैल 2015
कौमुदी : १- चाँदनी २- ज्योत्सना ३- चंद्रप्रभा ४- चन्द्रिका ५- मालती प्रयोग : बर्फ से ढकी, कौमुदी में नहाई घाटी ऐसी चमक रही थी मानो चाँद धरा पर उतर आया हो I
24 अप्रैल 2015
30 अप्रैल 2015
शब्दनगरी मित्रो, आशा करते हैं कि आपने भी अमर उजाला द्वारा आयोजित रियलिटी शो 'अमरवाणी-2015' हेतु अपनी प्रविष्टि भेजी होगी I आइए श्रेष्ठ कवियों के चयन सम्बन्धी आपको आवश्यक जानकारी दे दें I इस प्रतियोगिता में आज यानि 30 अप्रैल को 24 प्रविष्टियाँ चुनी जाएंगी I 01 मई, 2015 को, दोनों आयु वर्ग में से रियल
30 अप्रैल 2015
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x