आज का शब्द (21)

08 मई 2015   |  शब्दनगरी संगठन   (277 बार पढ़ा जा चुका है)

आज का शब्द (21)

विभव :

१- वैभव


२- ऐश्वर्य


३- धन-दौलत


४- अर्थ


५- वित्त


सोना-चाँदी, ज़मीन-जायदाद आदि संम्पत्ति जिसकी गिनती पैसे के रूप में होती है I


प्रयोग: हमारे सत्कर्म हमें किसी न किसी प्रकार के विभव की प्राप्ति कराते हैं I










अगला लेख: आज का शब्द (१३)



सुन्दर शब्द, सुन्दर प्रयोग...आभार !

शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
14 मई 2015
तरुण : १- युवक २- जवान ३- तलुन ४- मुटियार ५- वयोधा प्रयोग : तरुणों के लिए जैसे भविष्य उज्जवल होता है, वैसे ही वृद्धों के लिए अतीत I
14 मई 2015
16 मई 2015
प्रमुदित : १- प्रसन्न २- आह्लादित ३- प्रफुल्ल ४- प्रहर्षित ५- पुलकित प्रयोग : सागर निज छाती पर जिनके, अगणित अर्णव-पोत उठाकर I पंहुचाया करता था प्रमुदित, भूमण्डल के सकल तटों पर I I -पं0 रामनरेश त्रिपाठी
16 मई 2015
08 मई 2015
उत्कर्ष : १- प्रकर्ष २- प्रकर्षण ३- उत्कर्षण भाव, मूल्य, महत्व आदि की सबसे बढ़ी हुई अवस्था प्रयोग : सेठ करोड़ीमल का व्यापार इन दिनों सफलता के उत्कर्ष पर है I
08 मई 2015
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x