“द ट्रेजडी क्वीन” मीना कुमारी

01 अगस्त 2018   |  इंजी. बैरवा   (154 बार पढ़ा जा चुका है)

“द ट्रेजडी क्वीन” मीना कुमारी


‘गूगल’ ने आज 01 अगस्त (मंगलवार) को अपने नवीनतम “गूगल-डूडल के रूप में पौराणिक भारतीय फिल्म अभिनेत्री, गायिका और कवियित्री, छद्म नाम "नाज़" अर्थात मीना कुमारी, जिन्हें जिन्हें “द ट्रेजडी क्वीन” के नाम से भी जाना जाता है; को उनकी 85वीं जन्म-जयंती पर समर्पित किया है । 1 अगस्त 1932 को ‘महजबी बानो उर्फ मीना कुमारी, गरीब रंगमंच कलाकारों के परिवार में पैदा हुई थी और मात्र चार वर्ष की उम्र में, पहला अभिनय शुरू कर दिया था मीना कुमारी बहुमुखी प्रतिभा और व्यक्तित्व की, इतनी धनी थी कि उन्हें भारतीय फिल्म आलोचकों द्वारा भी हिंदी सिनेमा की "ऐतिहासिक रूप से अतुलनीय" अभिनेत्री के रूप में जाना जाता था इस महान अभिनेत्री ने 33 साल के फिल्मी केरियर में लगभग 92 फिल्मों में अभिनय किया उनकी कुछ उल्लेखनीय फिल्मों में पाकीज़ा, बैजू बाबरा, परिणीता, साहिब बीबी और गुलाम, फुटपा, दिल एक मंदिर और काजल जैसी अनेक फिल्में शामिल हैं उन्होंने सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री श्रेणी में चार फिल्मफेयर पुरस्कार जीते और साथ ही में सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के लिए सभी नामांकन प्राप्त करके 10 वीं फिल्मफेयर (1963) में इतिहास बनाया

आइए, आज उनके जीवन के बारे रोचक जानकारियाँ प्राप्त करते है - -

§ मीना कुमारी के पिता मुस्लिम और माता ईसाई धर्म से सम्बन्धित थे

§ मीना कुमारी का नाम मज़हबी बानो था, लोग प्यार से उन्हें बेबी मज़हबी कहकर पुकारते थे जिसके चलते फिल्म फ़रज़न्द-ए-वतन के निर्देशक विजय भट्ट ने उन्हें एक नया नाम बेबी मीना दिया

§ मीना कुमारी की नानी गुरुदेव रवीन्द्रनाथ टैगोर के छोटे भाई की बेटी थीं

§ अपने परिवार की आर्थिक स्थिति को देखते हुए मीना ने महज चार साल की उम्र में फ़िल्मकार विजय भट्ट के साथ एक बाल कलाकार के रूप में कार्य करना शुरू किया अपने कैरियर के दौरान, उन्होंने नब्बे फिल्मों में अभिनय किया, जिनमें से कई ने आज क्लासिक और पंथ का दर्जा हासिल किया है

§ पार्श्व गायिका के रूप में - फिल्म - सिस्टर/बहन (1945)

§ वर्ष 1946 में आई फिल्म “बच्चों का खेल” से बेबी मीना 14 वर्ष की आयु में मीना कुमारी बनीं

§ मार्च 1947 में लम्बी बीमारी के कारण मीना कुमारी की माँ का देहांत हो गया था

§ मीना कुमारी की शुरुआती फ़िल्में पौराणिक कथाओं पर आधारित थीं जैसे कि, हनुमान पाताल विजय, वीर घटोत्कचश्री गणेश महिमा, इत्यादि

§ वर्ष 1952 में आई फिल्म “बैजू बावरा” में मीना कुमारी ने गौरी की भूमिका से काफी ख्याति प्राप्त की

§ वर्ष 1951 में फिल्म तमाशा के सेट पर मीना कुमारी की मुलाकात जाने-माने फिल्म निर्देशक कमाल अमरोही से हुई जिसके चलते दोनों एक दूसरे के काफी नजदीक आ गए

§ 14 फरवरी 1952 को कमाल अमरोही ने मीना कुमारी से विवाह किया, यह जानते हुए भी कि यह कमाल की तीसरी शादी है क्योंकि मीना कमाल से बहुत प्यार करती थीं

§ 1960 के दशक में मीना कुमारी और प्रदीप कुमार की जोड़ी सुपरहिट मानी जाती थी मीना ने लगातार प्रदीप के साथ आठ फ़िल्में की जो सुपरहिट साबित हुईं

§ मीना कुमारी ने बॉलीवुड के विभिन्न अभिनेताओं के साथ कार्य किया जैसे कि दिलीप कुमार, राजेंद्र कुमार, राज कुमार, अशोक कुमार, देव आनंद, धर्मेंद्र, भारत भूषण, इत्यादि

§ उनकी छोटी बहन मधु का विवाह जाने माने हास्य अभिनेता महमूद से हुआ

§ भारतीय फिल्म में मीना कुमारी को हिंदी सिनेमा के “ऐतिहासिक रूप से अतुलनीय” अभिनेत्री के रूप में माना जाता हैं

§ उनकी 1962 की फिल्म ‘साहिब बीबी और गुलाम’ एक विवाहित शादी में फंसे एक पत्नी के संघर्ष के बारे में थी यह मीना कुमारी के जीवन के साथ समानता के लिए एक पंथ फिल्म जैसे “साहिब बीबी और गुलाम”, “पाकीज़ा”, “मेरे अपने”, “आरती”, “दिल अपना और प्रीत पराई”, “फुट पाथ”, “चार दिल चार राहे”, “दाएरा”, “आजाद”, “मिस मैरी”, “शारदा”, “दिल एक मंदिर”, और “काजल” बन गई

§ मीना कुमारी ने सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री की श्रेणी में चार फिल्मफेयर पुरस्कार जीते और वह बैजू बावरा के लिए उद्घाटन फिल्मफेयर पुरस्कार (1954) का सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का पुरस्कार प्राप्त किया और परिणीता के लिए दूसरे फिल्मफेयर अवॉर्ड (1955) में लगातार जीत दर्ज की गई कुमारी ने 10वें फिल्मफेयर (1963) में सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के लिए सभी नामांकन प्राप्त करके इतिहास बनाया और साहिब बीबी और गुलाम में उनके प्रदर्शन के लिए जीता

§ 13 वीं फिल्मफेयर (1966) में, कुमारी ने काजल के लिए उनकी आखिरी सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का फिल्मफेयर पुरस्कार जीता मीना कुमारी एकमात्र ऐसी अभिनेत्री थीं, जिन्होंने लगातार 13 वर्ष तक सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के फिल्मफेयर ख़िताब को अपने नाम किया था, लेकिन वर्ष 1979 में नूतन ने फिल्मफेयर के ख़िताब को अपने नाम कर रिकॉर्ड को तोड़ दिया

§ मीना और अमरोही के संबंधों के बीच कड़वाहट होने के कारण उनकी बॉलीवुड सुपरस्टार धर्मेंद्र के साथ नजदीकियां बढ़ने लगी उस समय मीना सुपरहिट अभिनेत्री थीं, जबकि धर्मेंद्र अपने अभिनय करियर को स्थापित करने में संघर्षरत थे मीना कुमारी ने धर्मेंद्र के करियर को आगे बढ़ाने के लिए बहुत कुछ किया अंत में धर्मेंद्र ने एक समारोह के दौरान मीना कुमारी को थप्पड़ मार दिया जिससे मीना का दिल टूट गया और वह शराब का सेवन करने लगीं

§ मीना कुमारी भारतीय फिल्म अभिनेत्री, गायिका और कवियत्री थी, जिन्हें “द ट्रेजडी क्वीन” के नाम से भी जाना जाता है और जिन्हें अक्सर भारतीय फिल्मों के सिंड्रेला को बुलाते थे

§ मीना कुमारी ने भी तीन तलाक और हलाला जैसी प्रथाओं का सामना किया जिसके तहत उनके पति फिल्म पाकीजा के निर्देशक कमाल अमरोही ने गुस्से में मीना कुमारी को तीन बार तलाक कहा और उनका तलाक हो गया बाद में कमाल अमरोही को अपने किए का पछतावा हुआ तो उन्होंने मीना कुमारी से दोबारा निकाह करना चाहा, लेकिन इस्लाम धर्म गुरुओं ने निकाह नहीं होने दिया और मीना को "हलाला" प्रथा को अपनाने को कहा जिससे कमाल अमरोही ने उनका निकाह अमान उल्ला खान (जीनत के पिता) से करवाया अपने नए पति से तलाक मिलने के बाद मीना कुमारी ने कमाल अमरोही से निकाह किया जिससे मीना कुमारी को कड़ी आलोचनाओं का सामना करना पड़ा

§ वर्ष 1972 में, कमाल अमरोही की फिल्म “पाक़ीज़ा” में मीना कुमारी ने प्रमुख भूमिका निभाई दिलचस्प बात यह है कि इस फिल्म को बनने में पूरे 17 वर्ष लगे थे

§ फिल्म पाकीजा के रिलीज होने के तीन हफ्ते बाद ही मीना कुमारी गंभीर रूप से लिवर सिरोसिस बीमारी से ग्रस्त हो गईं 28 मार्च 1972 को, उन्हें सेंट एलिजाबेथ नर्सिंग होम में भर्ती कराया गया था लेकिन 31 मार्च 1972 को, 39 वर्ष की आयु में लीवर-सिरोसिस के कारण उनकी मृत्यु हो गई उनके पति कमल अमरोही की इच्छा के अनुसार, उन्हें नरियलवाड़ी, माझगांव, मुंबई में स्थित, रहमाबाद कब्रस्तान में दफनाया गया




Meena Kumari - Biography - YouTube


(Ref : https://www.gyanipandit.com/meena-kumari/, https://hindi.starsunfolded.com/meena-kumari-hindi/, https://jivani.org/Biography/377/%E0%A4%AE%E0%A5%80%E0%A4%A8%E0%A4%BE-%E0%A4%95%E0%A5%81%E0%A4%AE%E0%A4%BE%E0%A4%B0%E0%A5%80-%E0%A4%9C%E0%A5%80%E0%A4%B5%E0%A4%A8%E0%A5%80---biography-of-meena-kumari, )

अगला लेख: जानिए क्यों पाकीज़ा गर्ल मीना कुमारी को दुनिया " ट्रेजेडी क्वीन" कहती थी !



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x