गुरु महिमा

02 अगस्त 2018   |  गौरीगन गुप्ता   (179 बार पढ़ा जा चुका है)

क्षण-प्रतिक्षण,जिंदगी सीखने का नाम

सबक जरूरी नहीं,गुरु ही सिखाए

जिससे शिक्षा मिले वही गुरु कहलाये

जीवंत पर्यन्त गुरुओं से रहता सरोकार

हमेशा करना चाहिए जिनका आदर-सत्कार

प्रथम पाठशाला की गुरु माँ बनी

दूजी शाला के शिक्षक गुरु बने

सामाजिकता का पाठ माँ ने सिखाया

शैक्षणिक स्तर शिक्षक ने उच्च बनाया

नैतिक शिक्षा का पाठ धर्म गुरु ने पढ़ाया

तो दुनियांदारी का सबक पिता ने समझाया

जीवन का एक रंगमंच,गुरु कुम्हार सम

लाचारी को ताकत बना जूझना सिखाता

निराश मन में उल्लास भरता

लक्ष्य भेदने की रौशनी जलाता

बुझे सपनों को साकार करने में

पग -पग पर साथ निभाता

क्या अक्षम,क्या सक्षम दुनिया में

अपनी नजरों से चलना सिखाया

असम्भव डगर पर,सम्भव केनिशाँ टंकित करवाए

डांटडपट उनका अधिकार था , हैं ,रहेगा

क्षणिक मन उदासी से घिरा

फिर वही बात मुश्किलों में ढाल बनी

चरण धूलि,आशीर्वाद से धन्य हुआ जीवन

गुरु महिमा अपरम्पार ,शब्दहीन हूँ,

कैसे करूँ? उपकारों का बखान

गुरु कर्ज ,सब कर्जों में ऐसा कर्ज

सात जन्मो तक ,ना हो सकते उऋण

धन्य,धान्य हो गया जीवन.........

ऐसे गुरुओं को शत-शत नमन ......

"मात -पिता-गुरु छोड़ के,पाथर पूजन जात,

पेट काट-काट जीवन दिया,उन्ही से आँखे मोड जात."


अगला लेख: उम्मीदों की मशाल



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
12 अगस्त 2018
कलम के सिपाही की विरासत को यूँ बदनाम ना करो, सिपाही हो कलम के तुम यूँ किसी के प्यादे ना बनो.ये दो लाइने कलम के सिपाही मुंशी प्रेमचंद को समर्पित है, और उन पत्रकारों , लेखकों, कवियों और शायरों को उनका धर
12 अगस्त 2018
25 जुलाई 2018
दक्षिण पूर्व लाओस में हाईड्रोइलैक्टि्रक बांध गिर गया है। इस बांध के गिरने से सैकड़ों लोगों की मौत की खबर सामने आई है, जबकी की अन्य लोग घायल बताए जा रहे है।बचावकर्मी नौकाओं की मदद से लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचा रहे हैं।अट्टापेयू प्रांत के सान साई जिले में स्थित जेपिया
25 जुलाई 2018
24 जुलाई 2018
पंजाब का शाब्दिक अर्थ पांच नदियों की धरती है | नदियों के किनारे अनेक सभ्यताएं पनपतीहैं और संस्कृतियाँ पोषित होती हैं | मानव सभ्यता अपने सबसे वैभवशाली रूप में इन तटों पर ही नजर आती है क्योकि ये जल धाराएँ अनेक तरह से मानव को उपकृत कर मानव जीवन को धन - धान्
24 जुलाई 2018
04 अगस्त 2018
रामू की माँ तो अपने पति के शव पर पछाड़ खाकर गिरी जा रही थी.रामू कभी अपने छोटे भाई बहिन को संभाल रहा था ,तो कभी अपनी माँ को.अचानक पिता के चले जाने से उसके कंधों पर जिम्मेदारियों का बोझ आ पड़ा था.पढ़ाई छोड़,घर में चूल्हा जलाने के वास्ते रामू काम की तलाश में सड़को की छान मारता।अंततःउसने घर-घर जाकर रद्दी बेच
04 अगस्त 2018
02 अगस्त 2018
🌞 ~ आज का अपना पंचांग ~ 🌞⛅ दिनांक 02 अगस्त 2018⛅ दिन - गुरुवार ⛅ विक्रम संवत - 2075 (गुजरात. 2074)⛅ शक संवत -1940⛅ अयन - दक्षिणायन⛅ ऋतु - वर्षा⛅ मास - श्रावण⛅ गुजरात एवं महाराष्ट्र अनुसार मास - आषाढ़⛅ पक्ष - कृष्ण ⛅ तिथि - पंचमी सुबह 11:32 तक तत्पश्चात षष्ठी⛅ नक्षत्र - उत्तर भाद्रपद दोपहर 01:13
02 अगस्त 2018
02 अगस्त 2018
फिल्म गुरु से तेरे बीना गीत एआर रहमान और चिन्मययी श्रीपाद द्वारा गाए जाते हैं, इसका संगीत एआर रहमान द्वारा रचित है और गीत गुलजार द्वारा लिखे गए हैं।गुरु (Guru )तेरे बिना (२००६)की लिरिक्स (Lyrics Of Tere Bina )[दम दारा दम दारा मस्त मस्तदारा दम दारातेरे बिना बेस्वादी बेस्वादी रतियाँ ओ सजना..तेरे ब
02 अगस्त 2018
27 जुलाई 2018
मातृवत्लालयित्री च, पितृवत् मार्गदर्शिका, नमोऽस्तुगुरुसत्तायै, श्रद्धाप्रज्ञायुता च या ||वास्तव में ऐसीश्रद्धा और प्रज्ञा से युत होती है गुरु की सत्ता – गुरु की प्रकृति – जो माता केसामान ममत्व का भाव रखती है तो पिता के सामान उचित मार्गदर्शन भी करती है | आज गुरु पूर्णिमा
27 जुलाई 2018
20 जुलाई 2018
वीवो ने भारत में अपना नया फ्लैगशिप स्मार्टफोन विवो नेक्स लॉन्च कर दिया है। वीवो नेक्स की सबसे बड़ी खासियत है इसमें दिया गया पॉप-अप फ्रंट कैमरा जिसे डिवाइस के अंदर छिपाया जा सकता है। वीवो नेक्स बेज़ल लेस डिस्प्ले के साथ आता है। बता दें कि इस स्मार्टफोन को सबसे पहले चीन में लॉन्च किया गया था। नई दिल्ल
20 जुलाई 2018
24 जुलाई 2018
गो
काव्य मंचों के अपरिहार्य ,नैसर्गिक प्रतिभा के धनी,प्रख्यात गीतकार ,पद्मभूषण से सम्मानित,जीवन दर्शन के रचनाकार,साहित्य की लम्बी यात्रा के पथिक रहे,नीरज जी का जन्म उत्तर प्रदेश के जिला इटावा के पुरावली गांव में श्री ब्रज किशोर सक्सेना जी के घर ४ जनवरी,१९२५ को हुआ था.गरीब परिवार में जन्मे नीरज जी की ज
24 जुलाई 2018
23 जुलाई 2018
लाठी की टेक लिए चश्मा चढाये,सिर ऊँचा कर मां की तस्वीर पर,एकटक टकटकी लगाए,पश्चाताप के ऑंसू भरे,लरजती जुवान कह रही हो कि,तुम लौट कर क्यों नहीं आई,शायद खफा मुझसे,बस, इतनी सी हुई,हीरे को कांच समझता रहा,समर्पण भाव को मजबूरी का नाम देता,हठधर्मिता करता रहा,जानकर भी, नकारता र
23 जुलाई 2018
31 जुलाई 2018
“देशज गीत” जिनगी में आइके दुलार कइले बाटगज़ब राग गाइके सुमार कइले बाटनीक लागे हमरा के अजबे ई छाँव बा कस बगिया खिलाइ के बहार कइले बाट॥......जिनगी में आइके दुलार कइले बाटफुलाइल विरान वन चम्पा चमेलीकान-फूंसी करतानी सखिया सहेलीमनवा डेरात मोरा पतझड़ पहारूरात-दिन सावन जस फुहार कइ
31 जुलाई 2018
02 अगस्त 2018
फिल्म गुरु से बारसो रे मेघा मेघा के गीत श्रेया घोषाल का एक प्यारा गीत है। इसके गीत गुलजार द्वारा लिखे गए हैं। यह गीत महान एआर रहमान की एक शानदार रचना है।गुरु (Guru )बरसो रे मेघा मेघा की लिरिक्स (Lyrics Of Barso Re Megha Megha )न रेबरसो रे मेघा मेघा बरसो रे मेघा मेघाबरसो रे मेघा बरसोबरसो रे मेघा
02 अगस्त 2018
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x