लहरों का या खेल

04 अगस्त 2018   |  कात्यायनी डॉ पूर्णिमा शर्मा   (102 बार पढ़ा जा चुका है)

लहरों का या खेल

लहरों का या खेल अनोखा, लहरों का यह खेल |

एक लहर इस तट को जाती, दूजी उस तट को है जाती

कभी कभी पथ में हो जाता है दोनों का मेल ||

अनगिन नौका और जलयान यहाँ हैं लंगर डाले रहते

और अनगिनत राही इस उस तट पर नित्य उतरते रहते |

इसी तरह तो वर्ष सदी और कल्प यहाँ हैं बीते जाते

पर न कभी रुकने पाता है ऐसा अद्भुत खेल ||

एक सनातन क्रम में चलता, नित्य नया पर रूप बदलता

जग जीवन एक डोर बंधी कठपुतली जैसा सदा नाचता |

किसी चक्र सम ऊपर नीचे भाग्य निरन्तर चक्कर खाता

पर न कभी थमने पाता है मायावी यह खेल ||

किन्तु कौन यह, जो कि स्वयं को जरा काल मृत्युंजय कहता

एक डोर को काट, दूसरी में पुतली को बाँध नचाता |

इस जगती को बार बार वह निज की क्रीडास्थली बताता

कोई समझ न पाया उसको जिसका है यह खेल ||

अगला लेख: साप्ताहिक राशिफल



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
26 जुलाई 2018
शुक्रवार, 27 जुलाई2018 – नई दिल्ली सूर्योदय : 05:39 पर कर्कमें सूर्यास्त : 19:15 पर चन्द्र राशि : मकर चन्द्र नक्षत्र : उत्तराषाढ़ 24:32 तक, तत्पश्चात श्रवण तिथि : आषाढ़ शुक्ल पूर्णिमा 25:50 (अर्द्धरा
26 जुलाई 2018
06 अगस्त 2018
एकाग्रता, प्रेम, शान्ति, आशा, उत्साह और उमंग – जीवन जीने के लिए इन्हीं सबकीआवश्यकता होती है – और हरितवर्णा प्रकृति हमें यही उपहार तो देती है... आइये अपनीइस प्रेरणास्रोत हरि भरी प्रकृति का स्वागत करना अपना स्वभाव बनाएँ...
06 अगस्त 2018
29 जुलाई 2018
सोमवार, 30 जुलाई2018 – नई दिल्ली श्रावण मास का प्रथम सोमवार – शिवार्चन सूर्योदय : 05:41 पर कर्कमें सूर्यास्त : 19:13 पर चन्द्र राशि : कुम्भ चन्द्र नक्षत्र : धनिष्ठा 06:11 तक, तत्पश्चात शतभिषज (पंचक) तिथि
29 जुलाई 2018
25 जुलाई 2018
गुरुवार, 26 जुलाई2018 – नई दिल्ली सूर्योदय : 05:39 पर कर्कमें सूर्यास्त : 19:15 पर चन्द्र राशि : धनु चन्द्र नक्षत्र : पूर्वाषाढ़ 21:25 तक, तत्पश्चात उत्तराषाढ़ तिथि : आषाढ़ शुक्ल चतुर्दशी 23:16 तक, तत्प
25 जुलाई 2018
23 जुलाई 2018
प्रेम और ध्यान मैंने देखा, औरमैं देखती रही / मैंने सुना, और मैं सुनती रही मैंने सोचा, औरमैं सोचती रही / द्वार खोलूँ या ना खोलूँ |प्रेम खटखटातारहा मेरा द्वार / और भ्रमित मैं बनी रही जड़ खोई रही अपनेऊहापोह में |तभी कहा किसीने / सम्भवतः मेरी अन्तरात्मा ने तुम द्वार खो
23 जुलाई 2018
24 जुलाई 2018
कुछ लोगों को संशय होता है कि ज्योतिष कोआयुर्वेद के समान वेद तो नहीं माना जाता ?ज्योतिष वेद है भी नहीं, वेदों का अंग है – वेदांग | ज्योतिष से सम्बन्धित ज्ञान वेदों में निहित है |ऋग्वेद में लगभग 20 मन्त्र ज्योतिष के विषय में उपलब्ध होते हैं,
24 जुलाई 2018
27 जुलाई 2018
शनिवार, 28 जुलाई2018 – नई दिल्ली सूर्योदय : 05:40 पर कर्कमें सूर्यास्त : 19:14 पर चन्द्र राशि : मकर चन्द्र नक्षत्र : श्रवण तिथि : श्रावण कृष्ण प्रतिपदा / सूर्योदय से पूर्व 27:55 (03:55) पर पूर्णचन्
27 जुलाई 2018
08 अगस्त 2018
रात भर से रुकरुक कर बारिश हो रही है - मुरझाई प्रकृति को मानों नए प्राण मिल गए हैं... वो बातअलग है कि दिल्ली जैसे महानगरों में तथा दूसरी जगहों पर भी - जहाँ आबादी बढ़ने केसाथ साथ “घरों” की जगह “मल्टीस्टोरीड अपार्टमेंट्स” के रूप में कंकरीट के घनेजंगलों ने ले ली है... बिल्डिंग
08 अगस्त 2018
23 जुलाई 2018
लाठी की टेक लिए चश्मा चढाये,सिर ऊँचा कर मां की तस्वीर पर,एकटक टकटकी लगाए,पश्चाताप के ऑंसू भरे,लरजती जुवान कह रही हो कि,तुम लौट कर क्यों नहीं आई,शायद खफा मुझसे,बस, इतनी सी हुई,हीरे को कांच समझता रहा,समर्पण भाव को मजबूरी का नाम देता,हठधर्मिता करता रहा,जानकर भी, नकारता र
23 जुलाई 2018
23 जुलाई 2018
मंगलवार, 24 जुलाई2018 – नई दिल्ली सूर्योदय : 05:37 पर कर्कमें सूर्यास्त : 19:17 पर चन्द्र राशि : वृश्चिक 15:28 तक, तत्पश्चात धनु चन्द्र नक्षत्र : ज्येष्ठा 15:28 तक, तत्पश्चात मूल तिथि : आषाढ़ शुक्ल द्वाद
23 जुलाई 2018
08 अगस्त 2018
रात भर से रुकरुक कर बारिश हो रही है - मुरझाई प्रकृति को मानों नए प्राण मिल गए हैं... वो बातअलग है कि दिल्ली जैसे महानगरों में तथा दूसरी जगहों पर भी - जहाँ आबादी बढ़ने केसाथ साथ “घरों” की जगह “मल्टीस्टोरीड अपार्टमेंट्स” के रूप में कंकरीट के घनेजंगलों ने ले ली है... बिल्डिंग
08 अगस्त 2018
09 अगस्त 2018
पथ पर बढ़ते ही जाना हैअभी बढ़ाया पहला पग है, अभी न मग को पहचाना है |अभी कहाँ रुकने की वेला, मुझको बड़ी दूर जाना है ||कहीं मोह के विकट भँवर में फँसकर राह भूल ना जाऊँ | कहीं समझकर सबको अपना जाग जाग कर सो ना जाऊँ |मुझको सावधान रहकर ही सबके मन को पा जाना है ||और न कोई साथी, केवल
09 अगस्त 2018
23 जुलाई 2018
तेरी याद ने दिवाना बना दिया शमा बनके जो जली हो तुम हमको उमर भर जलने वाला, परवाना बना दिया तेरी याद ने दिवाना बना दिया मुझको तस्वीरें तुम्हारी ,कुछ जो
23 जुलाई 2018
14 अगस्त 2018
आज 14 अगस्त है,स्वतन्त्रता दिवस की पूर्व सन्ध्या... और कल फिर से पूरा देश स्वतन्त्रता दिवस कीवर्षगाँठ पूर्ण हर्षोल्लास के साथ मनाएगा... अपने सहित सभी को स्वतन्त्रता दिवस कीहार्दिक बधाई और शुभकामनाएँ...स्वतन्त्रता – आज़ादी – व्यक्ति को जब उसके अपनेढंग से जीवंन जीने का अवसर प्राप्त होता है तो निश्चित र
14 अगस्त 2018
23 जुलाई 2018
ठहरे पानी में पत्थर उछाल दिया है । उसने यह बड़ा कमाल किया है ।वह तपाक से गले मिलता है आजकल । शायद कोई नया पाठ पढ़ रहा है आजकल । आँखों की भाषा भी कमाल है । एक गलती और सब बंटाधार है ।
23 जुलाई 2018
21 जुलाई 2018
रविवार, 22 जुलाई2018 – नई दिल्ली सूर्योदय : 05:36 पर कर्कमें सूर्यास्त : 19:18 पर चन्द्र राशि : वृश्चिक चन्द्र नक्षत्र : विशाखा 10:44 तक, तत्पश्चात अनुराधा तिथि : आषाढ़ शुक्ल दशमी 14:47 तक, तत्पश्चात आषाढ़
21 जुलाई 2018
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x