मित्रता दिवस

05 अगस्त 2018   |  डॉ पूर्णिमा शर्मा   (40 बार पढ़ा जा चुका है)

मित्रता दिवस  - शब्द (shabd.in)

शारीरिक तथा मानसिक स्वास्थ्य को उत्तम बनाए रखने के लिए स्वस्थ सामाजिक सम्बन्ध और घनिष्ठ मित्र अत्यन्त आवश्यक हैं...

मित्रता – अर्थात हम किसी अन्य व्यक्ति को अथवा वातावरण को अथवा किसी पशु को, पक्षी को, समूची चराचर प्रकृति को भी उतना ही महत्त्व देते हैं जितना स्वयं को देते हैं, क्योंकि समस्त चराचर जगत उसी परमात्मतत्व की ही तो सत्ता है जो हमारे भीतर विद्यमान है | मित्रता का आकाश वास्तव में बहुत व्यापक होता है... बहुत विशाल होता है... मित्रता एक ऐसी सुगन्ध है जिसे केवल अनुभव किया जा सकता है... एक ऐसा अनुभव है जिसे शब्दों में नहीं कहा जा सकता... एक ऐसी कविता – ऐसा गीत अथवा कहानी है जिसकी कोई व्याख्या नहीं की जा सकती... जिसे कोई नाम नहीं दिया जा सकता... किनारे से टकराती हुई सागर की एक ऐसी लहर है जो हमारे पग पखार कर आगे बढ़ जाती है क्योंकि उसे पकड़ा नहीं जा सकता... और जो प्रयास करेगा इसे पकड़ने का वह इसे मूलरूप में ही खो देगा...

भगवान् बुद्ध से किसी ने प्रश्न किया था कि आप तो बुद्ध हैं, आपके तो बहुत मित्र होंगे ? बुद्ध ने एक शब्द में उत्तर दिया “नहीं” | उस व्यक्ति को आश्चर्य हुआ यह सोचकर कि बुद्ध पुरुष के लिए तो सारा संसार ही मित्र होना चाहिए, फिर ये भगवान् किसलिए बोल रहे हैं कि इनका कोई मित्र नहीं है | भगवान् बुद्ध का उत्तर था “बुद्ध पुरुष का कोई मित्र नहीं होता – क्योंकि बुद्ध का कोई शत्रु नहीं होता...”

कल गूगल से ज्ञात हुआ आज मित्रता दिवस यानी Friendship Day है, और कल से ही मित्रों के Happy Friendship Day के सन्देश आने आरम्भ हो गए | कल एक कार्यक्रम में जाना हुआ तो वहाँ भी सब लोग गले मिलकर एक दूसरे से Happy Friendship Day बोलते नज़र आए | बड़ा सुखद अनुभव था उन मित्रतापूर्ण क्षणों का और उन मित्रतापूर्ण संदेशों का | लेकिन तभी देखा कुछ लोगों ने WhatsApp पर सन्देश फॉरवर्ड करने आरम्भ कर दिए कि ये Friendship Day जैसे जितने भी Days हैं ये सब आर्चीज़ जैसी गिफ्ट आईटम बेचने वाली कम्पनियों और विदेशी संस्कृति की देन हैं इसलिए हमें इस सबसे दूर रहना चाहिए | सन्देश पढ़कर वास्तव में अच्छा नहीं लगा |

चाहे आर्चीज़ की देन हो या विदेशी सभ्यता की देन हो, आजकल के व्यस्त जीवन में से यदि थोड़ा सा समय निकाल एक दिन हर कोई हर किसी के साथ अपनी मित्रता अभिव्यक्त करने के लिए नियत करता है तो इसमें बुरा क्या है ? भारतीय दर्शन की तो मान्यता ही वसुधैव कुटुम्बकम् की मान्यता है – वही जो भगवान बुद्ध ने कहा “उनका कोई मित्र नहीं है क्योंकि कोई शत्रु नहीं है” | कहने का तात्पर्य यही था बुद्ध का कि उनके लिए समस्त चराचर जगत ही उनका मित्र है |

इसलिए, हमारे सन्देश प्रेषित करने वाले मित्र यदि बोलते कि Happy Friendship Day बोलने के लिए एक दिन ही क्यों, हर दिन ऐसा क्यों नहीं बोला जा सकता ? तो इस बात को माना जा सकता है | लेकिन साथ ही यह भी देखना होगा कि यदि हर दिन मित्रों को Happy Friendship Day बोलना शुरू कर दिया तो उस छोटे से वाक्य का सारा रस ही समाप्त हो जाएगा | मित्रता का अथवा प्रेम का “प्रदर्शन” लगातार किया जाना आवश्यक नहीं है, आवश्यक है कि वह भाव सदा मन में बना रहे | और एक दिन जब इस प्रकार के मित्रतापूर्ण सन्देश प्राप्त होते हैं या हम दूसरों को ऐसे सन्देश प्रेषित करते हैं तो वास्तव में एक सुखद अनुभव होता है और बुद्ध की ही भाँति ये कहा जा सकता है कि हमारा कोई शत्रु नहीं है... साथ ही कुछ लोगों को अवसर भी मिल जाता है आपसी गिले शिकवे दूर करके यदि कोई शत्रु अथवा विरोधी भी है तो उसे अपना बनाने का...

सभी मित्रों को मित्रता दिवस की बधाई और हार्दिक शुभकामनाएँ...

अगला लेख: हिन्दी पञ्चांग



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
24 जुलाई 2018
कुछ लोगों को संशय होता है कि ज्योतिष कोआयुर्वेद के समान वेद तो नहीं माना जाता ?ज्योतिष वेद है भी नहीं, वेदों का अंग है – वेदांग | ज्योतिष से सम्बन्धित ज्ञान वेदों में निहित है |ऋग्वेद में लगभग 20 मन्त्र ज्योतिष के विषय में उपलब्ध होते हैं,
24 जुलाई 2018
06 अगस्त 2018
एकाग्रता, प्रेम, शान्ति, आशा, उत्साह और उमंग – जीवन जीने के लिए इन्हीं सबकीआवश्यकता होती है – और हरितवर्णा प्रकृति हमें यही उपहार तो देती है... आइये अपनीइस प्रेरणास्रोत हरि भरी प्रकृति का स्वागत करना अपना स्वभाव बनाएँ...
06 अगस्त 2018
23 जुलाई 2018
प्रेम और ध्यान मैंने देखा, औरमैं देखती रही / मैंने सुना, और मैं सुनती रही मैंने सोचा, औरमैं सोचती रही / द्वार खोलूँ या ना खोलूँ |प्रेम खटखटातारहा मेरा द्वार / और भ्रमित मैं बनी रही जड़ खोई रही अपनेऊहापोह में |तभी कहा किसीने / सम्भवतः मेरी अन्तरात्मा ने तुम द्वार खो
23 जुलाई 2018
28 जुलाई 2018
रविवार, 29 जुलाई2018 – नई दिल्ली सूर्योदय : 05:40 पर कर्कमें सूर्यास्त : 19:14 पर चन्द्र राशि : मकर 17:05 तक, तत्पश्चातकुम्भ चन्द्र नक्षत्र : धनिष्ठा (पंचक प्रारम्भ 17:06 पर) तिथि : श्रावण कृष्ण द्
28 जुलाई 2018
16 अगस्त 2018
घर घर में दीप जलाने हित जो खुद जलताथा हर एक पल वो दीप आज बुझ गया, मगर ज्योतित कर ये संसार गया |||भारत की अतुलित वाणी की गोदी सूनी होगई आज कर अटल सत्य का वरण आज वह परमतत्व मेंलीन हुआ || माँ भारती के वरद पुत्र - शत शत नमन काल के कपाल पर लिखता मिटाता हूँ, गीत नया गाता हूँ हा
16 अगस्त 2018
27 जुलाई 2018
आज आषाढ़ शुक्लपूर्णिमा को कुछ ही देर बाद भारत के साथ साथ संसार के कई देश एक ऐसी अद्भुत खगोलीयघटना के साक्षी बनने जा रहे हैं जो खगोल वैज्ञानिकों के अनुसार अब काफ़ी वर्षों तकनहीं दीख पड़ेगी | इस भव्य घटना को नासा के खगोल वैज्ञानिकों ने नाम दिया है Super Blue Blood Moon,अर्थात
27 जुलाई 2018
29 जुलाई 2018
सोमवार, 30 जुलाई2018 – नई दिल्ली श्रावण मास का प्रथम सोमवार – शिवार्चन सूर्योदय : 05:41 पर कर्कमें सूर्यास्त : 19:13 पर चन्द्र राशि : कुम्भ चन्द्र नक्षत्र : धनिष्ठा 06:11 तक, तत्पश्चात शतभिषज (पंचक) तिथि
29 जुलाई 2018
27 जुलाई 2018
शनिवार, 28 जुलाई2018 – नई दिल्ली सूर्योदय : 05:40 पर कर्कमें सूर्यास्त : 19:14 पर चन्द्र राशि : मकर चन्द्र नक्षत्र : श्रवण तिथि : श्रावण कृष्ण प्रतिपदा / सूर्योदय से पूर्व 27:55 (03:55) पर पूर्णचन्
27 जुलाई 2018
25 जुलाई 2018
गुरुवार, 26 जुलाई2018 – नई दिल्ली सूर्योदय : 05:39 पर कर्कमें सूर्यास्त : 19:15 पर चन्द्र राशि : धनु चन्द्र नक्षत्र : पूर्वाषाढ़ 21:25 तक, तत्पश्चात उत्तराषाढ़ तिथि : आषाढ़ शुक्ल चतुर्दशी 23:16 तक, तत्प
25 जुलाई 2018
29 जुलाई 2018
मेष 30 July to 05 August 20018 तक का साप्ताहिक राशिफलमिश्रित फल देने वाला सप्ताह है | भावनात्मकस्तर पर यदि पूर्व में कुछ अप्रिय घटा है तो उसे भूल जाने में ही भलाई है | क्योंकि उसेभूलकर ही आप भविष्य के लिए अपना मार्ग प्रशस्त कर सकते हैं | साथ ही इससप्ताह आप किसी मित्र की प
29 जुलाई 2018
30 जुलाई 2018
मंगलवार, 31 जुलाई2018 – नई दिल्ली सूर्योदय : 05:41 पर कर्कमें सूर्यास्त : 19:12 पर चन्द्र राशि : कुम्भ 28:54 (अगले दिन सूर्योदयसे पूर्व 04:54) तक, तत्पश्चात मीन चन्द्र नक्षत्र : शतभिषज 09:09 तक, तत्पश्चात पूर्वा भाद्रपद (पंचक)
30 जुलाई 2018
24 जुलाई 2018
बुधवार, 25 जुलाई2018 – नई दिल्ली सूर्योदय : 05:38 पर कर्कमें सूर्यास्त : 19:16 पर चन्द्र राशि : धनु चन्द्र नक्षत्र : मूल 18:20 तक, तत्पश्चात पूर्वाषाढ़ तिथि : आषाढ़ शुक्ल त्रयोदशी 20:45 तक, तत्पश्चात आष
24 जुलाई 2018
08 अगस्त 2018
रात भर से रुकरुक कर बारिश हो रही है - मुरझाई प्रकृति को मानों नए प्राण मिल गए हैं... वो बातअलग है कि दिल्ली जैसे महानगरों में तथा दूसरी जगहों पर भी - जहाँ आबादी बढ़ने केसाथ साथ “घरों” की जगह “मल्टीस्टोरीड अपार्टमेंट्स” के रूप में कंकरीट के घनेजंगलों ने ले ली है... बिल्डिंग
08 अगस्त 2018
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x