27 नक्षत्रों के वैदिक नाम

08 अगस्त 2018   |  कात्यायनी डॉ पूर्णिमा शर्मा   (179 बार पढ़ा जा चुका है)

27 नक्षत्रों के वैदिक नाम

27 नक्षत्रों के वैदिक नाम

अब मुहूर्त आदि के लिए प्रमुख रूप से विचारणीय वैदिक ज्योतिष के महत्त्वपूर्ण अंग नक्षत्रों की वार्ता को आगे बढाते हुए 27 नक्षत्रों के वैदिक नामों पर प्रकाश डालते हैं | जैसे कि पहले ही बताया है कि किसी भी हिन्दी अथवा वैदिक महीने के नाम उस नक्षत्र के नाम पर होता है जो उस माह की पूर्णिमा के दिन होता है | अर्थात किसी भी माह की पूर्णिमा को जिस नक्षत्र का उदय हो रहा होगा, उस माह का नाम उसी नक्षत्र के नाम पर होगा |

उदाहरण के लिए चैत्र माह की पूर्णिमा को चित्रा नक्षत्र का उदय होता है इसलिए इस माह का नाम चैत्र रखा गया | वैशाख माह की पूर्णिमा को विशाखा नक्षत्र का उदय होता है इसलिए इस नक्षत्र का नाम वैशाख रखा गया, इत्यादि इत्यादि...

सूर्य सिद्धान्त के अनुसार आश्विन, भाद्रपद और फाल्गुन माह में तीन तीन नक्षत्र होते हैं और शेष नौ महीनों में दो दो नक्षत्र होते हैं | ये 27 नक्षत्र हैं – अश्विनी, भरणी, कृत्तिका, रोहिणी, मृगशिरा, आर्द्रा, पुनर्वसु, पुष्य, आश्लेषा, मघा, पूर्वा फाल्गुनी, उत्तर फाल्गुनी, हस्त, चित्रा, स्वाति, विशाखा, अनुराधा, ज्येष्ठा, मूल, पूर्वाषाढ़, उत्तराषाढ़, श्रवण, धनिष्ठा, शतभिषज, पूर्वा भाद्रपद, उत्तर भाद्रपद और रेवती |

स्वस्ति न इन्द्रो वृद्धश्रवा: स्वस्ति न: पूषा विश्ववेदा: |

स्वस्ति न तार्क्ष्योSरिष्टनेमि: स्वस्ति नो बृहस्पतिर्दधातु ||

अगले अध्याय में चर्चा करेंगे इन 27 नक्षत्रों का हिन्दी महीनों में विभाजन किस प्रकार किया गया है तथा इन नक्षत्रों के आधार पर हिन्दी के बारह महीनों के वैदिक नाम क्या हैं…

https://www.astrologerdrpurnimasharma.com/2018/08/08/constellation-nakshatras-8/

अगला लेख: हिन्दी पञ्चांग



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
24 जुलाई 2018
बुधवार, 25 जुलाई2018 – नई दिल्ली सूर्योदय : 05:38 पर कर्कमें सूर्यास्त : 19:16 पर चन्द्र राशि : धनु चन्द्र नक्षत्र : मूल 18:20 तक, तत्पश्चात पूर्वाषाढ़ तिथि : आषाढ़ शुक्ल त्रयोदशी 20:45 तक, तत्पश्चात आष
24 जुलाई 2018
31 जुलाई 2018
बुधवार, 01 अगस्त2018 – नई दिल्ली सूर्योदय : 05:42 पर कर्कमें सूर्यास्त : 19:12 पर चन्द्र राशि : मीन चन्द्र नक्षत्र : पूर्वा भाद्रपद 11:25 तक, तत्पश्चात उत्तर भाद्रपद (पंचक) तिथि : श्रावण कृष्ण चतुर
31 जुलाई 2018
22 अगस्त 2018
नक्षत्रों की व्युत्पत्ति तथा उनके अर्थअभी तक हमने 27 नक्षत्रों के आधार पर बारह हिन्दी महीनों केनाम तथा उनके वैदिक नामों के विषय में चर्चा कर रहे थे | किन्तु जिन नक्षत्रों के नाम पर हिन्दी महीनों के नाम रखे गए उन नक्षत्रों केनाम किस प्रकार बने यह विचारणीय प्रश्न है | तो अब
22 अगस्त 2018
07 अगस्त 2018
प्रश्न यह उत्पन्न होता है कि नक्षत्रों को वैदिक ज्योतिषमें इतना अधिक महत्त्व क्यों दिया गया ? जैसा कि हमने पहले भीबताया, नक्षत्र किसी भी ग्रह की गति तथा स्थिति कोमापने के लिए एक स्केल अथवा मापक यन्त्र का कार्य करते हैं | यही कारण है कि पञ्चांग (Indian Vedic Ephemeris) के पाँच अं
07 अगस्त 2018
01 अगस्त 2018
पौराणिक ग्रन्थों जैसे रामायण में नक्षत्र विषयक सन्दर्भ :-वेदांग ज्योतिषके प्रतिनिधि ग्रन्थ दो वेदों से सम्बन्ध रखने वाले उपलब्ध होते हैं | एक याजुष्ज्योतिष – जिसका सम्बन्ध यजुर्वेद से है | दूसरा आर्च ज्योतिष – जिसका सम्बन्ध ऋग्वेद सेहै | इन दोनों हीग्रन्थों में वैदिककालीन
01 अगस्त 2018
29 जुलाई 2018
सोमवार, 30 जुलाई2018 – नई दिल्ली श्रावण मास का प्रथम सोमवार – शिवार्चन सूर्योदय : 05:41 पर कर्कमें सूर्यास्त : 19:13 पर चन्द्र राशि : कुम्भ चन्द्र नक्षत्र : धनिष्ठा 06:11 तक, तत्पश्चात शतभिषज (पंचक) तिथि
29 जुलाई 2018
30 जुलाई 2018
मंगलवार, 31 जुलाई2018 – नई दिल्ली सूर्योदय : 05:41 पर कर्कमें सूर्यास्त : 19:12 पर चन्द्र राशि : कुम्भ 28:54 (अगले दिन सूर्योदयसे पूर्व 04:54) तक, तत्पश्चात मीन चन्द्र नक्षत्र : शतभिषज 09:09 तक, तत्पश्चात पूर्वा भाद्रपद (पंचक)
30 जुलाई 2018
07 अगस्त 2018
प्रश्न यह उत्पन्न होता है कि नक्षत्रों को वैदिक ज्योतिषमें इतना अधिक महत्त्व क्यों दिया गया ? जैसा कि हमने पहले भीबताया, नक्षत्र किसी भी ग्रह की गति तथा स्थिति कोमापने के लिए एक स्केल अथवा मापक यन्त्र का कार्य करते हैं | यही कारण है कि पञ्चांग (Indian Vedic Ephemeris) के पाँच अं
07 अगस्त 2018
02 अगस्त 2018
शुक्रवार, 03 अगस्त2018 – नई दिल्ली सूर्योदय : 05:43 पर कर्कमें (09:15 पर आश्लेषा नक्षत्र में प्रवेश)सूर्यास्त : 19:10 पर चन्द्र राशि : मीन 14:24 तक, तत्पश्चात मेष चन्द्र नक्षत्र : रेवती 14:24 तक, तत्पश्चात अश्विनी (पंचक समाप्त 14:
02 अगस्त 2018
10 अगस्त 2018
27 नक्षत्रों का हिन्दी महीनों में विभाजन तथाहिन्दी माहों के वैदिक नामपिछले अध्यायमें चर्चा की थी 27 नक्षत्रों की और उनके नामों का उल्लेख किया था | जैसाकि पहले भी लिखा है कि जिस हिन्दी माह की शुक्ल चतुर्दशी-पूर्णिमा को जिस नक्षत्रका उदय होता है उसी के आधार पर उस माह का नाम
10 अगस्त 2018
27 जुलाई 2018
आज आषाढ़ शुक्लपूर्णिमा को कुछ ही देर बाद भारत के साथ साथ संसार के कई देश एक ऐसी अद्भुत खगोलीयघटना के साक्षी बनने जा रहे हैं जो खगोल वैज्ञानिकों के अनुसार अब काफ़ी वर्षों तकनहीं दीख पड़ेगी | इस भव्य घटना को नासा के खगोल वैज्ञानिकों ने नाम दिया है Super Blue Blood Moon,अर्थात
27 जुलाई 2018
27 जुलाई 2018
मातृवत्लालयित्री च, पितृवत् मार्गदर्शिका, नमोऽस्तुगुरुसत्तायै, श्रद्धाप्रज्ञायुता च या ||वास्तव में ऐसीश्रद्धा और प्रज्ञा से युत होती है गुरु की सत्ता – गुरु की प्रकृति – जो माता केसामान ममत्व का भाव रखती है तो पिता के सामान उचित मार्गदर्शन भी करती है | आज गुरु पूर्णिमा
27 जुलाई 2018
27 जुलाई 2018
शनिवार, 28 जुलाई2018 – नई दिल्ली सूर्योदय : 05:40 पर कर्कमें सूर्यास्त : 19:14 पर चन्द्र राशि : मकर चन्द्र नक्षत्र : श्रवण तिथि : श्रावण कृष्ण प्रतिपदा / सूर्योदय से पूर्व 27:55 (03:55) पर पूर्णचन्
27 जुलाई 2018
30 जुलाई 2018
मंगलवार, 31 जुलाई2018 – नई दिल्ली सूर्योदय : 05:41 पर कर्कमें सूर्यास्त : 19:12 पर चन्द्र राशि : कुम्भ 28:54 (अगले दिन सूर्योदयसे पूर्व 04:54) तक, तत्पश्चात मीन चन्द्र नक्षत्र : शतभिषज 09:09 तक, तत्पश्चात पूर्वा भाद्रपद (पंचक)
30 जुलाई 2018
02 अगस्त 2018
मोक्ष / नाश है अहं का...अहं क्या है ?मनुष्य के सुखी होने की अनुभूति ?या फिर दर्द का अहसास ?किसी का अपना होने की राहत ?या फिर पराया होने का दर्द ? लेकिन दुःख में भी तो है कष्ट का आनन्द...अपनेपन से ही तो उपजता है परायापन क्योंकि एक ही भाव के दो अनुभाव हैं दोनोंउसी तरह जैसे
02 अगस्त 2018
29 जुलाई 2018
सोमवार, 30 जुलाई2018 – नई दिल्ली श्रावण मास का प्रथम सोमवार – शिवार्चन सूर्योदय : 05:41 पर कर्कमें सूर्यास्त : 19:13 पर चन्द्र राशि : कुम्भ चन्द्र नक्षत्र : धनिष्ठा 06:11 तक, तत्पश्चात शतभिषज (पंचक) तिथि
29 जुलाई 2018
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x