मुंबई : माया नगरी

10 अगस्त 2018   |  Pratibha Bissht   (98 बार पढ़ा जा चुका है)

मुंबई : माया नगरी

मुंबई का नाम सुनते ही लोगों के मन में एक ही बात आती है कि यहां फिल्मी सितारों का मेला है और किसी ना किसी जगह उन्हें आम लोग आसानी से देख सकते हैं। इसलिए ही तो इस शहर को मायानगरी कहते हैं क्योंकि यहां आने वाला हर व्यक्ति यहां की चकाचौंध में खो जाता है। मुंबई शहर महाराष्ट्र की शान माना जाता है और इसे भारत का इकॉनोमिक कैपिटल भी कहा जाता है। Mumbai में घूमने के लिए एक नहीं बल्कि कई लोकप्रिय जगहें हैं जिनके बारे में मैं आपको बताऊंगी।


मुंबई में घूमने वाली जगहें


Mumbai


जुहू बीच : मुंबई में जुहू बीच सबसे प्रसिद्ध भारतीय समुद्र तटों में से एक है| यह समुद्र तट भारत के सबसे अधिक देखी जाने वाले समुद्र तटों में से एक माना जाता है|

जुहू बीच मुंबई के शहर के केंद्र के उत्तर में 18 किमी दूर स्थित है। जुहू बीच एक पॉश इलाके की सीमा है जहां अधिकांश हस्तियां रहती हैं और इसलिए, मुंबई के इस लोकप्रिय समुद्र तट के किनारे मशहूर हस्तियों को जॉगिंग करना आम बात है। पर्यटक यह के शांतिपूर्ण माहौल और इसकी सुंदर सुंदरता के कारण इस समुद्र तट पर जाते हैं। जुहू बीच अपने स्थानीय व्यंजनों और सड़क के भोजन के लिए भी प्रसिद्ध है। मुंबई में जुहू बीच में तीन मुख्य प्रवेश द्वार हैं। पहला प्रवेश द्वार पारल की तरफ से है, दूसरा सांताक्रुज़ की तरफ से है और तीसरा प्रवेश अंधेरी पक्ष की तरफ से है। घुड़सवारी करना जुहू बीच पर एक लोकप्रिय गतिविधि है।

मरीन ड्राइव : मरीन ड्राइव मुंबई के प्रसिद्ध पर्यटक स्थलों में से एक हैं, यह एक 'C' (सी) के आकार का छह लेन अरब सागर तट के साथ कंक्रीट की सड़क है जिसका निर्माण 1920 में हुआ था, यह 3 किमी लंबी है। यह सी-आकार वाली सड़क नारिमन प्वाइंट से बाबुलनाथ तक जुड़ी है। मरीन ड्राइव का आधिकारिक तौर पर नाम "नेताजी सुभाषचंद्र बोस रोड" है।

बहुत से लोग यह नहीं जानते कि समुद्री ड्राइव एक असफल पुनर्विचार परियोजना से बाहर हो गई। मुंबई के बैकबै पुनर्विचार का पहला प्रस्ताव 1860 के दशक में प्रस्तावित किया गया था, फिर 1920 के दशक में नरीमन प्वाइंट और मालाबार हिल को जोड़ने के लिए संशोधित किया गया था। मरीन ड्राइव के बारे में एक बहुत ही रोचक तथ्य यह है कि इसके प्रारंभिक निर्माण के बाद, खिंचाव इतना मजबूत था कि इसे अगले 72 वर्षों के लिए किसी भी मरम्मत की आवश्यकता नहीं थी। मरीन ड्राइव को इसके आकार और पीले स्ट्रीट लाइट्स के कारण रानी के हार के रूप में भी जाना जाता है। यह रात में एक शानदार दृश्य बनाता है|

छत्रपति शिवाजी टर्मिनस: छत्रपति शिवाजी टर्मिनस का पूर्व में नाम विक्टोरिया टर्मिनस था। 1996 में, रेल मंत्री, सुरेश कलमाडी ने मराठा साम्राज्य के संस्थापक महान मराठा योद्धा छत्रपति शिवाजी के सम्मान में इस स्टेशन का नाम बदल कर छत्रपति शिवाजी टर्मिनस कर दिया था। यह एक ऐतिहासिक रेलवे-स्टेशन है, जो मध्य रेलवे, भारत का मुख्यालय भी है। यह स्टेशन युनेस्को द्वारा विश्व धरोहर स्थल घोषित किया गया है। इस स्टेशन की इमारत में विक्टोरियाई इतालवी गोथिक शैली एवं परंपरागत भारतीय स्थापत्यकला का संगम झलकता है। इस स्टेशन को अंग्रेज सरकार ने विक्टोरिया टर्मिनस (वीटी) के नाम से 20 जून 1887 को शुरू हुआ किया था तथा यह 1888 में बनकर तैयार हुआ था। इसे महारानी विक्टोरिया के सत्ता संभालने की गोल्डन जुबली की याद में मुंबई के बोरी बंदर इलाके में बनाया गया था। इस को बनाने में उस समय लगभग 16.13 लाख रुपए की लागत आई थी। इसके अंदरूनी भागों में लकड़ी की नक्काशि की हुई टाइलें, लौह एवं पीतल की अलंकृत मुंडेरें व जालियां, टिकट-कार्यालय की ग्रिल-जाली व वृहत सीढ़ीदार जीने का रूप है। यह स्टेशन अपनी उन्नत संरचना व तकनीकी विशेषताओं के साथ, उन्नीसवीं शताब्दी के रेलवे स्थापत्यकला का उदाहरण है। मुंबई उपनगरीय रेलवे जिन्हें स्थानीय गाड़ियों के नाम पर लोकल कहा जाता है, जो इस स्टेशन से बाहर मुंबई के सभी भागों के लिये निकलतीं हैं। यह स्टेशन लम्बी दूरी की गाड़ियों व दो उपनगरीय लाइनों – सेंट्रल लाइन, व बंदरगाह (हार्बर) लाइन के लिये सेवाएं देता है। 20 मई, 2018 को इसने अपने निर्माण के 130 वर्ष पूरे कर लिए हैं। यहां पर स्लमडॉग मिलियनेयर के प्रसिद्ध गीत 'जय हो' को और बॉलीवुड मूवी रा वन के लिए कुछ अद्भुत दृश्यों की फिल्माया गया था।

फिल्म सिटी : फिल्म सिटी गोरेगांव में आरे कॉलोनी के आसपास संजय गांधी राष्ट्रीय उद्यान के पास स्थित है, यह मुंबई में सबसे प्रसिद्ध जगह है। “गोरेगांव फिल्म सिटी” या “दादासाहेब फालके चित्रनगरी” एक ऐसी जगह है जहां लगभग 1000 सेट एक साथ बनाए जा सकते हैं। फिल्म सिटी वर्ष 1911 में प्रसिद्ध अनुभवी अभिनेता, निर्देशक और फिल्म निर्माता वी शांताराम के मार्गदर्शन के तहत बनाया गया था। 520 एकड़ के विशाल क्षेत्र में फैले, फिल्म सिटी में लगभग बीस इनडोर स्टूडियो शामिल हैं।फिल्म सिटी का मुख्य आकर्षण असली तरह के सेट हैं, जिनमें नकली झीलों, फव्वारे, पहाड़, बगीचे के घर, पिकनिक धब्बे, शहर और गांव शामिल हैं।

प्रिंस ऑफ वेल्स संग्रहालय : द प्रिंस ऑफ़ वेल्स संग्रहालय को 'छत्रपति शिवाजी महाराज वस्तु संग्रहालय' के नाम से भी जाना जाता है। इस संग्रहालय का निर्माण प्रिंस ऑफ़ वेल्स के भारत आने के समय पर स्मृति के रूप में कराया गया था। द प्रिंस ऑफ़ वेल्स ने 11 नवंबर 1905 में इस संग्रहालय की नींव रखी थी। इस का संग्रहालय उद्घाटन मुम्बई के वायसराय लॉयड जॉर्ज की पत्नी लेडी लॉयड ने 10 जनवरी, 1922 को किया था। द प्रिंस ऑफ़ वेल्स संग्रहालय के चारों ओर बेहद ही ख़ूबसूरत बगीचा है। इसकी दीर्घाओं में प्राचीन कलाकृतियों, मूर्तियों और कलाकृतियों के कई संग्रह दिखाता है। यहां कई विषयों पर नियमित प्रदर्शनियां और व्याख्यान आयोजित किए जाते हैं। संग्रहालयों के तीन अलग-अलग हिस्सों हैं: प्राकृतिक इतिहास खंड, पुरातत्व अनुभाग और कला अनुभाग जहां भारत, तिब्बत, नेपाल और अन्य पूर्वी देशों से कला और कलाकृतियों के असंख्य रूप संरक्षित हैं।

मुंबई : माया नगरी

अगला लेख: मैनचेस्टर यूनाइटेड ने £ 65 मिलियन रेटेड डिफेंडर हैरी मागिरे को खरीदने के लिए कदम उठाया



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
29 जुलाई 2018
अमरनाथ हिन्दुओं का एक प्रमुख तीर्थस्थल है। यह कश्मीर राज्य के श्रीनगर शहर के उत्तर-पूर्व में 135 सहस्त्रमीटर दूर
29 जुलाई 2018
26 जुलाई 2018
प्री-यूनिवर्सिटी एजुकेशन विभाग, कर्नाटक ने गुरुवार 26 जुलाई को दूसरी पीयूसी पूरक परीक्षाओं के नतीजों की घोषणा की है। परीक्षा के लिए उपस्थित सभी उम्मीदवार आधिकारिक वेबसाइटों के माध्यम से परिणाम देख सकते हैं, केएआर.एनआईसी.आईएनसी.,केएआररिजल्ट्स.एनआईसी और पीयूई.केएआर.एनआईसीइ
26 जुलाई 2018
09 अगस्त 2018
मुंबई को पहलेबॉम्बे के नामसे जाना जाताथा। मुंबई कोबिजनेस केपिटल ऑफ इंडियाया भारत कीआर्थिक राजधानी के नामसे भी जानाजाता है। इसकीजनसंख्या लगभग 3 करोड़29 लाख है तथायह देश कीसर्वाधिक आबादी वाला शहरहै। भारत कासबसे बड़ा शेयरबाज़ार, जिसका विश्व मेंतीसरा स्थान है,मुंबई में हीस्थित है| आज की कॉस्मोपोलिटनसिट
09 अगस्त 2018
27 जुलाई 2018
27 जुलाई 2018
29 जुलाई 2018
हरियाणा में अब पशु भी सुरक्षित नहीं हैं| ऐसा ही एक शर्मनाक मामला मेवात में सामने आया है| जहां 8 लोगों ने एक बकरी के साथ अप्राकृतिक यौनाचार किया| घटना के कुछ देर बाद बकरी ने तड़प-तड़प कर दम तोड़ दिया| बकरी के मालिक ने इस संबंध में मामला दर्
29 जुलाई 2018
सम्बंधित
लोकप्रिय
29 जुलाई 2018
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x