भारत देश में क्यों अंग्रेजी बोलने वालो को पढ़ा लिखा समझने का ट्रेंड है?

23 जून 2018   |  वर्तिका श्रीवास्तव

(0 उत्तर)

  भारत देश में क्यों अंग्रेजी बोलने वालो को पढ़ा लिखा समझने का ट्रेंड है?

मै अपना एक अनुभव बाटना चाहूंगी,

एक लिखित परीक्षा में मैंने अच्छा स्थान प्राप्त किया लेकिन साक्षात्कार में सिर्फ इसलिए नहीं लिया गया क्योकि मेरी अंग्रेजी दुसरो से कम अच्छी थी मैंने सवाल किया कि हिंदी से क्या परेशानी हैं तो उत्तर ये मिला कि अंग्रेजी बोलने से एजुकेसन का पता चलता है प्रोफेसनल लगते हैं यह जान कर बड़ी निराशा हुई कि आज अपने ही देश में काम करने के लिए दूसरे देश की भाषा की गुलामी करनी पड़ रही हैं.

आपके क्या विचार है क्या काबिलयत अब केवल अंग्रेजी भाषा से ही मापी जयगी, इस विचारधारा को कैसे बदला गया?

उत्तर दीजिये


शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
अन्य लोकप्रिय प्रश्न
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x