हिन्दी पञ्चाङ्ग

हिन्दी पञ्चांगगुरुवार, 15 नवम्बर 2018 – नई दिल्लीविरोधकृत विक्रम सम्वत 2075 / दक्षिणायन सूर्योदय : 06:43 पर तुला में / विशाखा नक्षत्र सूर्यास्त : 17:27 पर चन्द्र राशि : मकर 22:17 तक, तत्पश्चात कुम्भ चन्द्र नक्षत्र : श्रवण 08:44 तक, तत्पश्चात धनिष्ठा (पंचक प्



इसरो ने सफलतापूर्वक लॉन्च किया GSAT-29

श्रीहरिकोटाइंडियन स्पेस रिसर्च ऑर्गनाइजेशन (इसरो) ने बुधवार को जीएसएलवी माक-3 रॉकेट की मदद से जीसैट-29 सैटलाइट सफलतापूर्वक प्रक्षेपण किया। यह प्रक्षेपण श्रीहरिकोटा के सतीश धवन स्पेस सेंटर से किया गया। यह सैटलाइट भू स्थिर कक्षा में स्थापित किया जाएगा। बता दें कि इस साल यह



नक्षत्र - एक विश्लेषण

दोनों आषाढ़ ज्योतिष में मुहूर्त गणना, प्रश्न तथाअन्य भी आवश्यक ज्योतिषीय गणनाओं के लिए प्रयुक्त किये जाने वाले पञ्चांग केआवश्यक अंग नक्षत्रों के नामों की व्युत्पत्ति और उनके अर्थ तथा पर्यायवाची शब्दोंके विषय में हम बात कर रहे हैं | इस क्रम में अब तक अश्विनी, भरणी, कृत्तिका, रोहिणी, मृगशिर, आर्द्रा, प



क्या आपको पता है नेहरू जी का राजनैतिक सफर किस प्रदेश से शुरू हुआ था?

देश भर में पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू की आज 129वीं जयंती मनायी जा रही है। 14 नवंबर 1889 को जन्मे पंडित नेहरू की जयंती को बाल दिवस के रूप में मनाया जाता है क्योंकि नेहरू को बच्चों से बहुत प्यार था और वो नेहरू को चाचा कहकर बुलाते



ये सिर्फ इंटरनेट ही बतलाएगा आपको नेहरू के बारे में ?

भारत के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू के जीवन और व्यक्तित्व को लेकर सोशल मीडिया पर कई अफवाहें हैं। उनके नाम को लेकर इंटरनेट पर कई लोग आपत्तिजनक बातें करते हैं। नेहरू के बारे में वर्चुअल वर्ड में अफवाहों की भरमार है। देश के पहले प्रधानमंत्री के बारे में कई अफवाहें हैं,



बाल दिवस पर जानिये नेहरू जी के बारे में

1.स्वतंत्र भारत के पहले प्रधानमंत्री और 6 बार कांग्रेस अध्यक्ष के पद को सुशोभित करने वाले (लाहौर 1929, लखनऊ 1936, फैजपुर 1937, दिल्ली 1951, हैदराबाद 1953 और कल्याणी 1954) पंडित जवाहरलाल नेहरू का जन्म 14 नवम्बर, 1889 को इलाहाबाद में हुआ।2. हैरो और कैम्ब्रिज में पढ़ाई कर 191



सुविचार

*आचरण-आभूषण**विप्राणां भूषणं विद्या पृथिव्या भूषणं नृपः* ।*नभसो भूषणं चन्द्रः शीलं सर्वस्य भूषणम्* ॥जिस प्रकार एक *विप्र का आभूषण विद्या है, पृथ्वी का आभूषण राजा है, आकाश का आभूषण चन्द्र है उसी प्रकार इस समस्त चराचर जगत का आभूषण सदाचार* है ।जिस प्रकार *प्रकृति का स्पष्ट नियम है दान देना , उसके बद



"पुरस्कार " देते क्यों नहीं?

"पुरस्कार "देते क्यों नहीं?क्या जांच का तरीकाबदल गया हैकोई समझौता कोईसौदाकोईलोभकोई भयकुछ नहीं हैतो पुरस्कार देते क्यों नहीं!सारी दुनियाचाह रही हैकिस सोच में होनहीं बताओगेन बताओपुरस्कार तो दे दो।


कुछ तो लोग कहेंगे

"अरे माँ तुंम कहाँ हो ?"" क्यो क्या हुआ बेटा ? थोड़ा थक गयी हू |""कितनी बार कहा है कि काम कम किया करो। तुम हो कि मानती ही नही |"" कितना कहती हू कि जल्दी से एक बहू ले आ पर तू है कि सुनता ही नही |"" अरे माँ अबचुप भी हो जाओ जब देखो शादी की रट लगाए रहती हो | और जब शादी हो जाएगी तो फिर आपकी शिक



REVIVE

प्रयागराज vs इलाहबाद अब अल्लाह+आबाद मतलब इलाहबाद का नाम “प्रयागराज“ के नाम से ही जाना जायेगा। दो नदियों के संगम स्थल को प्रयाग कहते हैं। यह स्थान नदियों का ऐसा एकलौता संगम स्थल है जहाँ पर दो नहीं बल्की तीन नदियाँ आपस मे मिलती है और इसलिए प्राचिन भारत मे इस पवित्



हिन्दी पञ्चांग

हिन्दी पञ्चांगबुधवार, 14 नवम्बर 2018 – नई दिल्लीविरोधकृत विक्रम सम्वत 2075 / दक्षिणायनबाल दिवस / नेहरू जयन्ती सूर्योदय : 06:42 पर तुला में / विशाखा नक्षत्र सूर्यास्त : 17:28 पर चन्द्र राशि : मकर चन्द्र नक्षत्र : श्रवण तिथि



मार्वल कॉमिक के फैंटास्टिक हीरो की याद में

फैंटास्टिकफोर जैसे सूपर हीरो को जन्म देने वाले मार्वल कॉमिक की जान, उसके लेख़क, सम्पादकऔर प्रकाशक स्टेन ली का सोमवार 12 नवंबर की सुबह देहांत हो गया। यूएस मीडिया केअनुसार 95 वर्ष के स्टेन ली की मृत्यु लॉस



सही तो है - एक लघुकथा

आज रिंकू को आने दो आते ही कहती हूं बेटा जल्दी ही मेरा चश्मा बदलबा दो अब आँखों से साफ नही दिखता।लो आ भी गया रिंकू आतुर होकर मैन की बात कह डाली। " अरे माँ दो मिनट चैन से बैठने भी नही देती कौन सी तुम्हे इस उम्र में कढाई सिलाई करनी है? और फ



एक अरसे बाद - एक लघु कथा

एक अरसे बाद आज मायके जाने का मौका मिला है मौसी की बेटी की शादी जो है । बस स्टैंड पर उतरी तो लगा जैसे अपना शहर आ गया ।कितने भी साल हो जाये बचपन का शहर हमेशा दिल के करीब रहता है। एक लड़के को खड़ा देखा तो पूछा " बेटा यहाँ मंगल चाचा की मिठाई की दुकान हुआ करती थी अब नही दिख रही?"उसने जबाब दिया "ऑन्टीवो



प्रेम - परिभाषा

मानसिक अनुभूतियों की एक संज्ञातम्यक व् सर्वमान्य परिभाषाये रचना भौतिक पदार्थो और उसकी क्रियावों की परिभाषों के बनाने जितना सरल नहीं लगता है, क्योकि भौतिक परिभाषाओ के लिए स्थायी परिमंडल निश्चित है और कम भी



नक्षत्र - एक विश्लेषण

मूलज्योतिष में मुहूर्त गणना, प्रश्न तथाअन्य भी आवश्यक ज्योतिषीय गणनाओं के लिए प्रयुक्त किये जाने वाले पञ्चांग केआवश्यक अंग नक्षत्रों के नामों की व्युत्पत्ति और उनके अर्थ तथा पर्यायवाची शब्दोंके विषय में हम बात कर रहे हैं | इस क्रम में अब तक अश्विनी, भरणी, कृत्तिका, रोहिणी, मृगशिर, आर्द्रा, पुनर्वसु,



स्वाध्याय :---- आचार्य अर्जुन तिवारी

*मानव जीवन में सामाजिकता , भौतिकता एवं वैज्ञानिकता के विषय में अध्ययन करना जितना महत्वपूर्ण है , उससे कहीं महत्वपूर्ण है स्वाध्याय करना | नियमित स्वाध्याय जीवन की दिशा एवं दशा निर्धारित करते हुए मनुष्य को सद्मार्ग पर अग्रसारित करता है | स्वाध्याय का अर्थ है :- स्वयं के द्वारा स्वयं का अध्ययन | प्राय



रजनीकांत ने नरेंद्र मोदी के लिए क्या कहा ?

दक्षिण के सुपरस्टार रजनीकांत ने आज इशारों इशारों में जो बात कही है उसके राजनैतिक फलसफे बहुत दूर तक निकाले जायेंगे इस मुद्दे पर कुछ भी कहने से हमेशा बचते आये हैं लेकिन आज कुछ ऐसा कह दिया जो भाजपा के लिए दक्षिण में 2019 के चुनावों के बहुत बड़ा रास्ता निकल सकता है उनसे जब पूछा गया की महागठबंधन और नरें



लाइफ

लाइफ एक है यात्रा



आदमी बुलबुला है पानी का..

आदमी बुलबुला है पानी का..****************************मृतकों के परिजनों के करुण क्रंदन , भय और आक्रोश के मध्य अट्टहास करती कार्यपालिका की भ्रष्ट व्यवस्था के लिये जिम्मेदार कौन..************************* यहाँ तो सिर्फ़ गूँगे और बहरे लोग बस्ते हैं ग़ज़ब ये है की अपनी मौत की आहट नहीं सुनते ख़ुदा जाने यह





आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x