Jap Jaap Sewa Trust

नानक नाम चढ़दी कला तेरे भाणे सरबत दा भलागुरू नानक देव जी महाराज के इन्हीं आदर्शों पर चलते हुए आज कई सिक्ख संगठन कई जगहों पर लंगर सेवा प्रदान करने का कार्य करते हैं इन्हीं में से एक है जप जाप सेवा ट्रस्ट जो AIIMS तथा SAFDURJUNG HOSPITAL के बाहर लंगर सेवा प्रदान करने का कार्य कर रहा है परमात्मा इनको इ



क्या चाईना भारत - पाक युद्ध चाहता है ?

-संजय अमान लगभग पिछले पाँच वर्षो में देश के हालात बहुत बदले है या यूँ कहे नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद से ही देश ने करवट लेना शुरू किया है। हालात बदलने के साथ ही साथ तमाम तरह की कठिनाईयां भी उत्पन्न हुई है ज़ाहिर है परिवर्तन कोइ नहीं चाहता है चौतरफ़ा विरोध वर्तमान सरकार को झेलना पड़ा और यह



पुलवामा में CRPF जवानों पर हमले को लेकर गुस्से में देश “निंदा नहीं चाहिए अब एक भी आतंकी ज़िंदा नहीं चाहिए” की मांग

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में 14 फरवरी को CRPF जवानों पर हुए हमले पर पूरा देश आक्रोश में है। देशभर में बदले की आग धधक रही है। हर हिंदुस्तानी की यही मांग है कि अब वक़्त है जवानों की शाहदर का बदला लेने का, नए भारत का निर्माण करने का जिसमें ये घर में घुसेगा भी और मरेगा भी। ये मांग सोशल मीडिया के के द्वारा



उबलते खून को

उबलते खून को ,तूं और उबाल लें ,जल रही दीप को ,अपने लहू से पिरो दे ,समय नहीं है ऐ ,बैठ आंसू बहाने का ,समय है ऐ सिर्फ अब ,अपना सबल दिखाने का ,बह रही नीर तूं ,आंख से पोंछ लें ,कस कमर अब तूं ,अपने बाजू फड़का ले ,उबलते खून को ,तूं और उबाल लें ,आस ना पाल तूं ,इन बुद्धिजीवियों से ,स्वाद पकाते इन कथितों से


जुएं भगाने से लेकर कान का मैल निकाल सकता है बेबी ऑयल

बेबी ऑयल का नाम सुनते ही दिमाग में एक कोमल शिशु की छवि उभरकर सामने आ जाती है। चूंकि बच्चों की त्वचा बेहद नाजुक होती है, इसलिए उनका ख्याल रखने के लिए अलग से मिलने वाले बेबी प्राॅडक्ट का इस्तेमाल करने की सलाह दी जाती है। बेबी ऑयल भी ऐसा ही एक बेबी प्राॅडक्ट है जो शिशु



दर्द

यह बात तमाचे कि नहीं जो बापू सा अहिंसावाद रहें वो खून की होली खेल रहें और हम निराशावाद रहें उतर के देखो सियासत से कभी उस घर में कितनी मातम है वो दर्द रूह को छलनी कर दे वो जख्म सालों बाद रहे क्यों मौन साधे यूं बैठे हो फिर तांडव का आगाज करो उन्होंने 40 मारे हैं तुम 400 का शिकार करो नदियां बहा दो खून क



जानी नहीं चाहिए

जानी नहीं चाहिए ,ऐ कुर्बानी खाली ,जो भी आये आड़े ,दिला दो ,उनको याद नानी ,हो चाहे अपने ,या हो पराएं ,मारो दागों ठोकों ,सीने में गोली  ,फिर से कोई ,फन ना उठाएं ,जानी नहीं चाहिए ,ऐ कुर्बानी खाली ,जो भी आये आड़े ,दिला दो ,उनको याद नानी ,बहुत हुआ ,शहादत पर ,बैठ मौन रोने का ,दिखला दो ,अब अपना पराक्रम ,है


पुलवामा के अमर शहीदों को शत शत नमन

आज चाहूँ देखनापुलवामा की घटना वास्तव में मन को क्षुब्ध करतीहै… सच में बड़ा दुर्भाग्यपूर्ण हादसा हुआ है ये... और हमारे ये शहीद किसीप्रत्यक्ष युद्ध की भेंट नहीं चढ़े हैं, आतंकवादियों ने बड़े कायरतापूर्ण तरीक़े से इन पर हमला किया है... हमारे इन वीरशहीदों को वास्तव में गर्व के साथ शत शत नमन... ये सिर्फ अपने



बच्चों से लेकर बूढ़ों तक के लिए गुणकारी है तांबे के बर्तन का पानी

हम सभी ने बचपन में कभी न कभी अपने बड़ों से सुना है कि हर रोज सुबह उठकर तांबे के बर्तन में रखा पानी पीना चाहिए। बहुत से घरों में तो आज भी बड़े-बुजुर्ग खाली पेट सबसे पहले तांबे के बर्तन में रखा पानी पीते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि तांबे के बर्तन में रखा पानी पीने से सेहत को किस तरह लाभ पहुंचता है।



'दादी' के आते ही घर-आंगन से रूठा वसंत लौट आया ...

हम चार मंजिला बिल्डिंग के सबसे निचले वाले माले में रहते हैं। यूँ तो सरकारी मकानों में सबसे निचले वाले घर की स्थिति ऊपरी मंजिलों में रहने वाले लागों के जब-तब घर-भर का कूड़ा-करकट फेंकते रहने की आदत के चलते कूड़ेदान सी बनी रहती है, फिर भी यहाँ एक सुकून वाली बात जरूर है कि बागवानी के लिए पर्याप्त जगह न



पापा



अटल बिहारी वाजपेयी बनने की राह पर मुलायम

- संजय अमान भारत का ईतिहास गवाह है सत्ता के लिए किसी भी हद तक चले जाना राजनीतिक संस्कृति का हिस्सा ही नहीं ज़रूरत भी होता है परन्तु इनसब से ऊपर राष्ट्र हीत की चिंता बहुत ही कम राजनीतिज्ञों को करते हुए देखा गया है वर्त्तमान में यही दृश्य देखने को मिलता है। अब वह दिन नहीं रहे या सिर्फ क़िताबों में या पु



मतदातों से एक निवेदन-अगली सरकार मज़बूत सरकार-२

लेख के पहले भाग में मैंने यह तर्क दिया था कि देश कोसिर्फ एक मज़बूत सरकार ही सुरक्षित रख सकती है. देश को तोड़ने के प्रयास में कई शक्तियाँसक्रिय हैं, इसलिए चौकस रहना हमारे लिए एक मजबूरी ही है.आम आदमी को यह बात समझनी होगी कि शक्तिशाली लोग, धनी लोगकहीं भी, कभी भी जाकर बस सकते हैं. पर ऐसा विकल्प आम आदमी के



बसों, ट्रेनों, बाज़ारों में क्यों बजाते हैं किन्नर अजीब ढंग से ताली ? जाने वजह

किन्नरों को ही हमेशा समाज में अलग ही नज़रों से देखा जाता है समाज में इतने बदलाव होने के बावजूद इन लोगों को वो सम्मान नहीं मिला जो मिलना चाहिए। आपने किन्नरों को कई जगह देखा होगा. कभी चौराहों पर तो कभी किसी ट्रेन में. तो कभी यूं ही बाज़ार में. पर शायद कभी इन्हें आम नज़रों



मैं तेरे साथ जी न सका ,अकेला मर तो सकता हूँ

मैं तेरे साथ जी नहीं सका, अकेलामर तो सकता हूँ डॉ शोभा भारद्वाज रिसेटेलमेंट कालोनी के छोटेप्लाट में बने चार मंजिला घर में हा –हाकार मचा था उस घर के जवान बेटे ने फांसीलगा ली थी घर का कमाऊ बेटा तीन भाई पाँच बहनों का भाई अंधे पिता ,बीमार माँ कासहारा जिसने भी सुना हैरान रह गया फांसी के बाद लम्बी गर्दन



Madhubala's 86th Birthday:- Bollywood हिरोइन मधुबाला को 86th बर्थ डे पर गूगल (Google) ने किया याद, बनाया डूडल (Doodle)

मधुबाला (Madhubala) की आज 86th जयंती है. मधुबाला का जन्म 14 फरवरी 1933 को दिल्ली में हुआ था। जब पूरी दुनिया वैलेनटाइन (Valentine's Day) मना रही है, तो गूगल (Google) ने इस वैलेनटाइन (Valentine's Day) को और भी खास कर दिया है। वजह है बॉलीव



कौन

प्यार और प्रेम का दिन है। इस दिन राधा और मीरा तो बहुत दिखाई देगी लेकिन यह तो वक्त बताएगा कि रूक्मिणी कौन बनेगी? प्रेम रसिया श्याम तो कल भी था आज भी है। देखना ये है चाहत कौन बनेगी, इबादत कौन बनेगी और खिलौना कौन बनेगी?



उड़ान

चाहतों के परीदें उड़ने को तैयार है। वैल वह मेरे जैसे है, जो रोज उड़ान भरते हैं फिर से अपने घोंसले में लौट आते हैं। आसमां में पैर नहीं टिकते, जमीं पर नजर नहीं ठहरती। खामोशी आंखों से है बोलती, और मन की बातें मुख नहीं खोलती। रंग बसंत का छा रहा है चहुंओर, ले यौवन की अंगड़ाई। बारिश का आना, पायल का छलकना



14 फरवरी (वेलेन्टाइन डे) पर विशेष जानिए क्यों प्रेम और वासना के देवता "कामदेव" को,कोई नहीं बच पाया जिनके तीरो से........

सनातन (हिन्दू) धर्म में कामदेव, कामसूत्र, कामशास्त्र और चार पुरुषर्थों में से एक काम की बहुत चर्चा होती है। खजुराहो में कामसूत्र से संबंधित कई मूर्तियां हैं। अब सवाल यह उठता है कि क्या काम का अर्थ सेक्स ही होता है? नहीं, काम का अर्थ होता है कार्य, कामना और कामेच्छा से। वह सारे कार्य जिससे जीवन आनंदद





आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x