NASA'S CALCULATION OF DISTANCE BETWEEN EARTH & SUN THAT EXACTLY MATCHED OUR HINDU SCRIPTURES

In Hanuman Chalisa, it is said : "Yug sahastra yojan per Bhanu! Leelyo taahi madhur phal janu!! Yug x Sahastra x Yojan = par Bhanu Satya-Yuga 4,800 Treta-Yuga 3,600 Dvapara-Yuga 2,400 Kali-Yuga 1,200 the length is 4800 years + 3600 years + 2400 years + 1200 years for a total of 12,000 years


लखनऊ प्रॉपर्टी

SAHARA STATES LUCKNOW ( Jahan base khubsurat Jindagi) ISO 9001 CERTIFIED COMPLETE TOWNSHIP 2 BHK APARTMENT GROUND FLOOR for sale Area - 854 sq feet Bedrooms - 2 Kitchen - 1 Hall ( DD in L shape) toilets - 2 Puja/Store - 1 Duchhatti - 1 Baramda/balcony -1 Ventilated 4 sides open 2 sides wide road 2 s


26 जनवरी 2015

आईएएस के लिए ?

हमारे सबके अपने अपने कुछ लक्ष्य होते हैं ....कुछ बड़े या कुछ छोटे होते हैं पर परिश्रम की मांग सभी करते है ! आईएएस के साथ भी कुछ ऐसा ही है ......प्रायः छात्रों की पहली समस्या होती है कि आईएएस का पाठ्यक्रम इतना बड़ा है ..मैं तो बन ही नहीं सकता ...कौन करेगा इतनी मेहनत ! तो सुनिए आईएएस भी इंसान ही बनते है


पहली किरण

रश्मि स्वर्णिम सूर्य से धरती पे लाई प्रात को, लो बढ़ाकर हाथ अपना थाम लो सौग़ात को, चक्षुओं से बोझ पलकों का हटा देखो घड़ी, स्वप्न में जिसके तू खोया सामने तेरे खड़ी, चाँद तारों को समेटा,दी विदाई रात को । लो बढ़ाकर...... ये नई स्फूर्ति की प्रतिमा,ये जीवन रागिनी, हृदय का आवेग,मन मन्द


26 जनवरी 2015

धन्धा

भोर का समय था। ट्रेन के स्टेशन पर रूकते ही लोगों का चढना-उतरना शुरू हो गया था। उतरने वालों में कुछ लोग वे थे जिनका गंतव्य आ चुका था और कुछ वे जो गर्मी के मारे बेहाल थे तथा प्लेटफार्म पर ठंढी हवा में जी भर साँस लेना चाहते थे। चढनेवालों में कुछ यात्री थे तथा कुछ चायवाले, दातुन वाले, खोमचे वाले थे, जो


एक निवेदन गणतंत्र दिवस पर

अंधेरा धरा पर छाया हुआ है निशा कब कटेगी नहीं कुछ पता है सूर्य अपनी डगर पर यूं ही खड़ा है हर व्यक्ति परेशान अधीर खड़ा है स्वप्न देखे हैं जाते पर पूरे न होते रात्रि सा है ये जीवन सवेरे न होते कभी जिंदगी में दिवाली न मनती लिख सके जो दर्द को रोशनाई न बनती कलम है परेशां और पुरुषार्थ थका है


Hello

http://indrajeet.jimdo.com


सोच को साफ़ रखो!

क लड़की सब्ज़ी लेने सब्ज़ी मंडी गयी और वहां सब्ज़ी वाले से बोली, "मुझे कोई ऐसी सब्ज़ी दो जिसके 7 फायदे हों।" सब्ज़ी वाला: यह लो मैडम यह गाज़र ले लो। 1. आलू के साथ पका सकती हो। 2. जूस निकाल कर पी सकती हो। 3. सलाद बना सकती हो। 4. गाजर का हलवा बना सकती हो। 5. नूडल्स में डाल


पी रहे हैं...जी रहे हैं!

एक समय की बात है, करंटपुरा नामक कस्बे में दो दोस्त रहा करते थे। पहला जबर्दस्त पियक्कड़ और दूसरा भला इंसान। दूसरा हमेशा पहले को समझाता रहता था। कुछ समय बाद दूसरा दोस्त कामकाज के सिलसिले में कस्बे से शहर जा पहुंचा। कुछ समय कमाई-धमाई की, फिर वापस गांव लौटा। अपनी नई साइकिल के पैडल मारते ह


बीवी चालीसा!

बीवी सेवा सच्ची सेवा।। जो करे वो खाये मेवा।। जो बीवी के पाँव दबावै।। बस वैकुंठ परम पद पावै।। जो बीवी की करे गुलामी।। ना आये कोई परेशानी।। जो बीवी की धोवे साड़ी।। उसकी किस्मत जग से न्यारी।। भूत पिशाच निकट नहीं आवै।। जो बीवी के कीर्तन गावै।। हाथ जोड़ कर कीजिये।।


26 जनवरी 2015

हमारा मन

किसी राजा के पास एक बकरा था। एक बार उसने एलान किया की जो कोई इस बकरे को जंगल में चराकर तृप्त करेगा मैं उसे आधा राज्य दे दूंगा। किंतु बकरे का पेटपूरा भरा है या नहीं इसकी परीक्षा मैं खुद करूँगा। इस एलान को सुनकर एक मनुष्य राजा के पास आकर कहने लगा कि बकरा चराना कोई बड़ी बात नहीं है। वह बकरेको लेकर जंगल



प्यारी माँ

ईश्वर का दूसरा रूप माँ है



26 जनवरी 2015

मेरी बेटी

मेरी बेटी थोड़ी सी बड़ी हो गई है कुछ जिद्दी, कुछ नक् चढ़ी हो गई है मेरी बेटी थोड़ी सी बड़ी हो गई है अब अपनी हर बात मनवाने लगी है हमको ही अब वो समझाने लगी है हर दिन नई नई फरमाइशें होती है लगता है कि फरमाइशों की झड़ी हो गई है मेरी बेटी थोड़ी सी बड़ी हो गई है अगर डाटता हूँ तो आखें दिखाती है खुद ही गुस्सा करक


"बनफूल" की कहानियाँ

कुछ बातें "बनफूल" की... ----------------------- सन् 1914 ईस्वी। बिहार के एक छोटे-से कस्बे ‘मनिहारी’ से एक किशोर गंगा पार करके साहेबगंज आता है। उद्देश्य- यहाँ के रेलवे हाई स्कूल में आगे की पढ़ाई करना। मनिहारी में किशोर ने जिले में अव्वल रहते हुए माइनर स्कूल की पढ़ाई पूरी की है और उसे छात्रवृत्ति भ



This happens :3

I learned that If you say '‪#‎Calm_Down‬' :) repeatedly to people who are already calm, they ‪#‎Freak_Out‬ !! -_- ‪#‎AB‬


गणतन्त्र दिवस भारत का एक राष्ट्रीय पर्व

गणतन्त्र दिवस भारत का एक राष्ट्रीय पर्व जो प्रति वर्ष २६ जनवरी को मनाया जाता है। इसी दिन सन १९५० को भारत का संविधान लागू किया गया था। इतिहास सन १९२९ के दिसंबर में लाहौर में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस का अधिवेशन पंडित जवाहरलाल नेहरू की अध्यक्षता में हुआ जिसमें प्रस्ताव पारित कर इस बात की घोषणा की गई क


एक कविता देश और देश के युवा को समर्पित- लेखक स्वर्गीय देशभक्त राम प्रसाद बिस्मिल

सरफ़रोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है देखना है ज़ोर कितना बाज़ू-ए-क़ातिल में है (ऐ वतन,) करता नहीं क्यूँ दूसरा कुछ बातचीत, देखता हूँ मैं जिसे वो चुप तेरी महफ़िल में है ऐ शहीद-ए-मुल्क-ओ-मिल्लत, मैं तेरे ऊपर निसार, अब तेरी हिम्मत का चरचः ग़ैर की महफ़िल में है सरफ़रोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है


घुन्चापाली का चंडी मंदिर

वृत्त चित्र घुन्चापाली का चंडी मंदिर आलेख- विभाष कुमार झा यदि ये कहा जाये कि छत्तीसगढ़ को प्रकृति ने एक साथ दो वरदान दिए हैं- तो कुछ गलत नहीं होगा. ये दो वरदान हैं- यहाँ की दुर्लभ प्राकृतिक सुंदरता और धरती के गर्भ में छिपे अपार प्राकृतिक संसाधन. चाहे प्रकृति की अनुपम सुंदरता हो या




आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x