शुक्र का सिंह में गोचर

शुक्र का सिंह में गोचर शुक्रवार सोलह अगस्त यानी भाद्रपदकृष्ण द्वितीया को तैतिल करण और अतिगण्ड योग में रात्रि आठ बजकर चालीस मिनट केलगभग समस्त सांसारिक सुख, समृद्धि, विवाह, परिवार सुख, कला, शिल्प, सौन्दर्य, बौद्धिकता, राजनीतितथा समाज में मान प्रतिष्ठा में वृद्धि आदि के कारकशुक्र का अपने शत्रु ग्रह सूर



कंप्यूटर का इतिहास परिचय विकास पर निबंध

History of computer in Hindi : दोस्तों आज कंप्यूटर हमारे दैनिक जीवन का एक अहम् हिस्सा बन चूका है. जहाँ कंप्यूटर आज व्यावसायिक क्षेत्र से लेकर एजुकेशन, साइंस, टेक्नोलोजी, इन्टरनेट इत्यादि के क्षेत्र में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है वहीँ गेम खेलना, song सुनना, movie देखने



इन्टरनेट क्या है ?

दोस्तों आज हम सभी लोग इन्टरनेट का इस्तेमाल करते है लेकिन क्या कभी आपने ये जानने का प्रयास किया कि आखिर इन्टरनेट है क्या और किसने इन्टरनेट कि खोज की. अगर नहीं तो आज इस लेख में मैं आपको संक्षिप्त में बताऊंगा कि इन्टरनेट क्या है और इन्टरनेट कि खोज किसने की.



शादियाँ आजकल

शादियाँ आजकलहिन्दू शादी अजी सुनते हो, "कल बगल वाली भाभी जी कह रही थीं कि, अब तो बेटा जवान हो गया है शादी कब कर रही हो"। मैं तो कह रही हूँ कि, "देख -भाल शुरू कर दो अभी से , तब जाकर कुछ महीनों में कोई बात फाइनल हो पायेगी"।अजी मैं कब से कह रही हूँ कि, "बेटी अब जवान हो गई है, उस



आजादी की लड़ाई में इन महिलाओं ने दिया था सहयोग, इन स्वतंत्रता सेनानियों को देश का सलाम

15 अगस्त, 1947 को भारत आजाद हुआ था जो पिछले 200 सालों से ब्रिटिश रूल का गुलाम बना बैठा था। ये लड़ाई साल 1857 से शुरु हुई और साल दर साल क्रांतिकारी पैदा होते चले गए। एक के बाद लोगों ने देश के नाम खुद को शहीद कर दिया लेकिन फिर भी आजादी हाथ नहीं आई। समय के साथ कई क्रांति



अपने ऐप से डेटा ब्रीच के जोखिम को कैसे कम करें ?

डेटा सुरक्षा प्रत्येक कंपनी की सर्वोच्च प्राथमिकता है, जिसमें डेटा उल्लंघनों की बढ़ती सूची है – और अच्छे कारण केलिए: लगभग सभी उपयोगकर्ता अपने स्मार्टफ़ोन से निजी डेटा को नियमित रूप से एक्सेस करते हैं, इसका मतलबहै कि संवेदनशील जानकारी को गलत हाथों से दूर रखना तेजी से बढ़ रहा है। जटिल दुविधा। हिस्सेदा



अपने ऐप से डेटा ब्रीच के जोखिम को कैसे कम करें?

डेटा सुरक्षा प्रत्येक कंपनी की सर्वोच्च प्राथमिकता है, जिसमें डेटा उल्लंघनों की बढ़ती सूची है – और अच्छे कारण के लिए: लगभग सभी उपयोगकर्ता अपने स्मार्टफ़ोन से निजी डेटा को नियमित रूप से एक्सेस करते हैं, इसका मतलब है कि संवेदनशील जानकारी को गलत हाथों से दूर रखना तेजी से बढ़ रहा है। जटिल दुविधा। हिस्से



अक्षय कुमार के बाद अब इस 'पैडगर्ल' उठाया पीरियड्स का मुद्दा, फैला रही हैं जागरुकता

भारत में बहुत सारी ऐसी चीजें होती हैं जिनके बारे में आमतौर पर लोग समाज में बात करना पसंद नहीं करते हैं। जिसमें सेक्स, माहवारी और भी कुछ बातें होती हैं लेकिन असल में हम सबको इन्ही सबके बारे में बात करनी चाहिए, अगर इसमें कोई परेशानी है तो, खुलकर अपने दोस्तों ,पार्टनर और डॉक्टर्स से बात करें। इनमें सबस



शतरंज की चाल

शतरंज का खेल जाननेवाला ही शतरंज की चाल समझ सकता है. पहली चाल धोखा होती है जो छठी या कभी कभी 10 चाल को कामयाब बनाने के लिए की जाती है. शतरंज में लकड़ी के मोहरे होते है जिनमे भावनाएं नहीं होती, जिनमे आत्मा नहीं होती. अगर कोई जिंदगी में इंसानों के साथ



भारतीय अंतरिक्ष कार्यक्रम के जनक

विक्रम अंबालालसाराभाई भारत के प्रमुख वैज्ञानिक थे । इन्होंने 86 वैज्ञानिक शोध पत्र लिखे एवं 40संस्थान खोले । इनको विज्ञान एवं अभियांत्रिकी के क्षेत्र में सन 1966 में भारतसरकार द्वारा पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था । डॉ. विक्रम साराभाई के नाम कोभारत के अंतरिक्ष कार्



इंडिया वर्सेस एडवेंचर्स मोदी

नई दिल्ली: डिस्कवरी चैनल के एडवेंचर शो 'मैन वर्सेज वाइल्ड (Man VS Wild)' के स्पेशल एपिसोड में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi), बेयर ग्रिल्स (Bear Grylls) के साथ जंगल में खतरों से खेलते नजर आएंगे. पीएम नरेंद्र मोदी और बेयर ग्रिल्स (Bear Grylls) का ये स्पेशल एपिसोड उत्तराखंड के जिम कॉर्बेट न



15 August: भारत के अलावा ये 4 देश भी मनाते हैं आजादी का जश्न

आजादी कौन नहीं चाहता....एक पक्षी भी पिंजड़े में फड़फड़ाता है क्योंकि उसे आजादी चाहिए होती है। जब बकरे को काटने के लिए ले जाते हैं तब भी आजादी की चाहत लिए बकरा चिल्लाता रहता है क्योंकि हम सभी जानते हैं कि आजादी है तो जीवन है वरना इंसान घुटने लगता है। मगर आज से करीब 73 साल पहले भारत देश गुलाम था अंग्र



जहाँ हुए बलिदान मुखर्जी वो कश्मीर हमारा है...

जहाँ हुए बलिदान मुखर्जी वो कश्मीर हमारा है. श्यामा प्रसाद मुखर्जी, जनसंघ के संस्थापक, हिन्दू महासभा के के अध्यक्ष , कलकत्ता यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर, मुस्लिमलीग की सरकार में मंत्री, नेहरू सरकार में मंत्री.



गुलशन कुमार को 16 गोलियां मारने के बाद 10 मिनट तक चीखें सुनता रहा अबू सलेम

भक्ति गीत की आवाज कहे जाने वाले गुलशन कुमार जो दिखते थे असल जिंदगी में बिल्कुल वैसे थे। उनके जीवन में बहुत सी ऐसी चीजें थीं जो गलत होती थीं लेकिन गुलशन कुमार अपना जीवन प्रभु की भक्ति में लगा चुके थे वे जितना रुपया अपने गानों से कमाते थे उतना ही पूजा-पाठ, भंडारा और जरूरतमंदों की मदद करके उड़ा देते थे



" खुदीराम बोस - 18 वर्ष ८ महिने 8 दिन और फ़ासी " क्या देश भूल गया इस वलिदान को ?

वह केवल 18 वर्ष का था, जब उसे 1908 में बिहार के मुजफ्फरपुर में एक हमले और तीन अंग्रेजों की हत्या के लिए मौत की सजा सुनाई गई थी। एक सदी बीत चुकी है, फिर भी खुदीराम बोस का नाम परछाइयों में है।भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के सबसे युवा क्रांत



शायर

आंखों से आंखें मिली दिल घायल हो गया,पलकें झुकाने की अदा का कायल हो गया.ऐसा क्या था,हर लफ्ज खुदबखुद बयां था,बिना कुछ कहे सुने ही यारो शायर हो गया.वो आलम गजब था मानो वहां पर सब था,यूं ही नहीं जज पर मुकदमा दायर हो गया.खुद पर काबू नहीं था, होश भी तो नही था,एक पल ही सही पर पल में नायक हो गया.कुछ तो कमी थ


साप्ताहिक राशिफल १२ से १८ अगस्त तक

12 से 18 अगस्त 2019 तक का साप्ताहिक राशिफलनीचे दिया राशिफल चन्द्रमा की राशि परआधारित है और आवश्यक नहीं कि हर किसी के लिए सही ही हो – क्योंकि लगभग सवा दो दिनचन्द्रमा एक राशि में रहता है और उस सवा दो दिनों की अवधि में न जाने कितने लोगोंका जन्म होता है | साथ ही ये फलकथन केवलग्रहों के तात्कालिक गोचर पर



वैमनस्य पर लगाम लगाएं जैन धर्म अनुयायी

कल को देश भर में बकरीद का त्योहार मुसलमान धर्मावलम्बियों द्वारा पूरी अकीदत व श्रद्धा से मनाया जाएगा, आजकल देश भर में इस त्यौहार को मनाने वाले बहुत खुशी से इसकी तैयारियों में जुटे हुए हैं, ऐसे में एक समाचार इनकी खुशियों पर विराम लगाने आ जाता है कि मेरठ के 28 जैन मंदिरों में लाखों की संख्या में काटे ज



काकी माँ

काकी माँ..**************************** काकी माँ तो सचमुच बड़े घर की बेटी हैं। संकटकाल में भी वक्त के समक्ष न तो वे नतमस्तक हुईं , न ही अपने मायके एवं ससुराल के मान- सम्मान पर आंच आने दिया । वे संघर्ष की वह प्रतिमूर्ति हैं ।*************************** काकी माँ..



पर्यावरण संरक्षण गौ वंश का सही प्रोयग

मृत्यु अंतिम सत्य तो अन्त्येष्टि जीवन का आखिरी संस्कार है। इसके लिए लकड़ी की चिता पर अंतिम संस्कार की मान्यता अब पर्यावरण के लिए नुकसानदेह साबित होने लगी है और हजारों की संख्या में पेड़ कटने से जीवन के लिए खतरा दिन-ओ-दिन बढ़ता जा रहा है। हालांकि विद्युत शव दाह गृह का विकल्प दिया गया लेकिन यह विकल्प





आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x