स्वसृजित लेख वा कविता वा छवि संपादन?

संपादन का विकल्प नहीं मिल रहा, हठात लिखी रचना वा डाली छवि में संशोधनार्थ?



हिंदी भाषा का दबदबा कहां तक?

क्या हिंदी भाषा वैश्विक भाषा है या ये केवल भारत तक ही सिमित है?



क्या आप अपनी लाइफ से बोर हो गए हो , या परेशानी में हो ?

आजकल दौड़ भाग वाली जिंदगी में सभी लोग परेशान रहते है . किसी न किसी परेशानी से ग्रषित होते है. किसी को नौकरी नहीं मिल रही है , कोई अपने करियर को लेकर परेशान है , कोई पैसो की कमी से परेशान है , तो किसी को शरीर में होने वाली बीमारियों से परेशान है , अब आपको परेशान होने की जरुरत नहीं है आपको बस अपनी प



सच्ची स्वतंत्रता का अर्थ

स्वतंत्रता का अर्थ ‘ हर तरह की आजादी ‘ नहीं हो सकती | भोग-लिप्सा के लिए आजादी नहीं होती | सच्ची स्वतंत्रता बंधन के स्वयं- स्वीकार से जुडी हुई है , क्योकि बिना उक्त बंधन-स्वीकार के विकास नहीं हो सकता है | नदी यदि दोनों तटों के बंधन को स्वीकार ना करे तो वह कभी भी सागर में नहीं मिल सकती है , उल्टा विना


चन्द्रयान 2 की कहानी कहती रोकेटमैन कैलाशवादिवू सिवन की भावुकता

संकल्प है सम्पर्क जुड़ेगा कल सुबह एक ऐसी तस्वीर आती है जो सभी को भावुक कर देती है लेकिन वह तस्वीर बहुत कुछ बया कर रही थी वो तस्वीर थी रोकेटमैन इसरो के चैयरमैन के सिवन सर की और प्रधानमंत्री माननीय श्री नरेंद्र मोदी जी की... जब प्रधानमंत्री इसरो से सम्बोधन देके वहां से विदा हो रहे थे तो  इसरो के चै


पीली रोशनी

इंसान के व्यवहार को दर्शाती कहानी


भारत की व्यथा

क्या व्यभिचार को अपराध की श्रेणी में रखना चाहिए ?


हिंदी लेखन का विस्तार ?

शब्दनगरी को कैसे और बेहतर व ज़्यादा से ज़्यादा लोगों से जोड़ सकते है ? कैसे एक राष्ट्रीय विख्यात मंच बना सकते है कि जैसे २०१५ में thequint thewire बने और आज देश की प्रमुख website media news में एक हैं वैसे ही हिंदी लेखन में कैसे हम इसे उस स्तर पे ले जा सकते है ?



ज़िंदगी ?

अगर जीवन बोझ लगने लगे तो क्या करना चाहिए ?



प्यार और प्यार मे क्या अंतर है?

प्यार प्यार मे अंतर ?



24 जुलाई 2019

भारत में सबसे ज्यादा बिकने वाले स्मार्टफोन से हैं?

इसके बरेमे पूरी जानकारी यही दी हुई है



मित्र कैसे बनायें ?

मित्र बनाने के बारे में जानना चाहते हैं ?


मेरे अंतरंगी खयाल

6:30 बज गए वो आते ही होंगे मैंने बाल ठीक किए कमर से लिपटा साडी का पल्लू खोल दिया डोरबेल बजी वो आ गए उनकी आँखों में खुद को देखना चाहती हूँ उनके होंठों पर हंमेशा मैं गुनगुनाती हूँ..! उनके दहलीज़ पर कदम रखते ही मेरा दरवाज़ा खोलना मैं देखना चाहती हूँ मेरे सत्कार से उनकी मौजूदगी से बिखेरते हुए घर


वो कोई

#चाँदी सी धवल सुबह में अभिराज सा कोई आकर बंद पलकों पर सुगंधित लबों से शृंगार कर गया वो विरक्त सी मेरी मुस्कान में #रंग हज़ार भर गया वो मधुमास की पहली बेला में विरह की पीर हर गया वो आँसू के सागर भरती आँखों में #प्रेमिल पुष्प भर गया वो अमर प्रतिक्षित अंतहीन नभ में चिर मिलन की सरिता दे गया वो द्र


भोग मुक्त इश्क

#तन की हकीकत नापी है तूने मेरी शब भर, मन तक पहुँच पाते तो क्या बात थी..! #तन की आबरू की बिसात अनमोल मेरी #बस तन से इश्क जोड़ा तूने मन की खिड़की से झाँकते..! #मन मंदिर सा पाक ना #दहलीज़ लाँघी तूने जिस्म का जश्न मनाते रहे..! #भय मुक्त से तुम मुझमें रहते हो लहू की रवानी में फिर भी मेरी रूह #तक


भोग मुक्त इश्क

#तन की हकीकत नापी है तूने मेरी शब भर, मन तक पहुँच पाते तो क्या बात थी..! #तन की आबरू की बिसात अनमोल मेरी #बस तन से इश्क जोड़ा तूने मन की खिड़की से झाँकते..! #मन मंदिर सा पाक ना #दहलीज़ लाँघी तूने जिस्म का जश्न मनाते रहे..! #भय मुक्त से तुम मुझमें रहते हो लहू की रवानी में फिर भी मेरी रूह #तक


भोग मुक्त इश्क

#तन की हकीकत नापी है तूने मेरी शब भर, मन तक पहुँच पाते तो क्या बात थी..! #तन की आबरू की बिसात अनमोल मेरी #बस तन से इश्क जोड़ा तूने मन की खिड़की से झाँकते..! #मन मंदिर सा पाक ना #दहलीज़ लाँघी तूने जिस्म का जश्न मनाते रहे..! #भय मुक्त से तुम मुझमें रहते हो लहू की रवानी में फिर भी मेरी रूह #तक


प्रश्न ?

शब्द नगरी संगठन महोदय , कल मैंने बहुत प्रयास किया लेकिन मेरे पेज `` अंतर् ध्वनि ~ अपना पेज ग्रुप चुनिए के अंतर्गत नहीं आया फिर मैंने रचना सावजनिक पेज पर ही दाल दी | कृपया इस असुविधा को क्या दूर करने का प्रयास करेंगे ?





आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x