online exam

।।पहली बछर( 2020)की है चिन्हारी ।। ऑनलाइन हो एग्जाम हमारी कैसे संगवारी ? (network issue से परेशान छात्र छात्राएं)।।।प्रत्येक छात्र छात्राओं की एक ही नारा ।। ऑनलाइन हो एग्जाम हमारा।। ।।आरती उतारत हव, सब सियान के ।।आदेश दे देव online exam के ।।चाहे जाना पड़े जेल Online exam



सोच

एक इंसान के तौर पर मैंने सीखा कि आपको दूसरे इंसान के व्यवहार के हिसाब से खुद कीसोच को एडजस्ट करना पड़ता है।-अश्विनी कुमार मिश्रा



corona virus

दारू भट्टी चालू अव , स्कूल कॉलेज बंद कका अइसने गड़बो नवा छत्तीसगढ़"Bijju<!--/data/user/0/com.samsung.android.app.notes/files/clipdata/clipdata_210405_150512_088.sdoc-->



राजनीति में पैर रखने से पहले ही क्‍येां फिसले रजनीकांत?

राजनीति में पैररखने से पहले ही क्‍येां फिसले रजनीकांत?यह जरूरी नहीं किफिल्‍म जगत से राजनीति में प्रवेश करने वालों में से प्राय: सभी सफल रहे हैं अगरतामिलनाडू के राजनीति की बात करें तो यहां कुछ चुने हुए स्‍टार सफलता की मंजिल तकपहुंच पाये है लेकिन वालीवुड के कई सुपर स्‍टार जिसमें अमिताभ बच्‍चन, राजेश ख



आशनाई मित्तल फ्रॉम हैदराबाद कॉल गर्ल्स विल एअसे योर टेंशन्स

Hyderabad Escorts ServicesAshnai Mittal from Hyderabad Call Girls Will Ease Your TensionsAvailthe services of call girl Ashnai Mittal from Hyderabad Call Girls services to ease allmisery and frustrations in life and pave way for ultimate bliss and enjoymentin life. Since the time that a person reach



माटी

माटी को संवारने वाला अन्न का दाता काली सड़कों पर अपने हक के लिए अड़ा है। खुले रूप से मिले सबको ताजा ताजा, पैकेटों में बंद होकर बिकने वाली चीजें, उनके हक और न्याय के लिए अड़ा है। लाल बहादुर शास्त्री ने दिया था नारा... "जय जवान जय किसान" आज दोनों को एक दूसरे के सामने खड़ा देखा है। राजनिति ने बेटियां,



एक लीटर पानी से मंहगा तेल, कर के बोझ तले दबा इंसान

एक लीटर पानी से मंहगा तेल, कर के बोझ तलेदबा इंसानजीएसटी, सीएसटी को विशेषज्ञ चाहेकिसी भी तरह से लोगों को समझाये लेकिन आम लोग यह नहीं समझ पा रहे हैं कि उन्‍हेंसरकार ने जो एक देश एक टैक्‍स का वादा किया था वह कहां है? हम पैदा होते हैं तबसेलेकर मरते दम तक एक नहीं तरह तरह के टै



देश में घरेलू हिंसा बढी,चिंताजनक स्थिति

देश में घरेलू हिंसा बढी,चिंताजनक स्थितिराष्ट्रीय परिवार स्वास्थ्यसर्वेक्षण (एनएफएचएस) के मुताबिक, पांच राज्यों की 30 फीसदी से अधिक महिलाएं अपने पति द्वारा शारीरिक और यौन हिंसा कीशिकार हुई हैं. सर्वे बताता है कि महिलाओं के खिलाफ घरेलू हिंसा के मामलों में सबसे बुरा हाल कर्नाटक, असम, मिजोरम, तेलंगाना औ



अब हर व्‍यक्ति हाईफाय,चाय, पान की दुकान में भी वायफाई!

अब हर व्‍यक्ति हाईफाय,चाय, पान की दुकान में भी वायफाई! एकसमय था जब पब्लिक टेलीफोन बूथ का जमाना था: उस समय मोबाइल नहीं हुआ करते थे और लोगोंके यहां लैण्‍ड लाइन फोन भी बहुत कम हुआ करते थे ऐसे में पब्लिक टेलीफोन बूथ बहुत कारगरहुआ करते थे:सडकों पर दो चार कदम चलों तो वहां स



“चाकूबाजी” का खूनी खेल,कौन जिम्‍मेदार?

“चाकूबाजी” का खूनी खेल,कौन जिम्‍मेदार?छत्तीसगढ की राजधानी रायपुर मे चाकूबाजी की बढती घटनाएं चिंता काविषय है: एक के बाद एक हो रही चाकू मारकर हत्‍या की घटनाओं में एक बात यह भी सामनेआई कि इन घटनाओं के पीछे एक हथियारो के सौदागर का भी हाथ है: गुढियारी थाना पुलिसने हथियारों के उस सौदागर को गिरफ्तार किया ह



जंगल में जवानों की मौत का ताण्‍डव कब तक?

जंगल में जवानों की मौत का ताण्‍डव कबतक?सवाल यही है कि हमारे जंगलों में हमारेजवानों का खून बहने का सिलसिला आखिर कब खत्‍म होगा? नक्‍सली समस्‍या शुरू होने के बाद से जवानो और कई बडे नेताओं सहित कितनेही लोगों का खून बह चुका है कि यह अगर सूख नहीं जाता तो एक नदी का रूप ले सकता था:यह सब जानते हुए भी खून बहन



वन नेशन वन इलेक्‍शन की लहर फिर चली

वन नेशन वन इलेक्‍शनकी लहर फिर चलीइलेक्शन कमीशन केमुताबिक, देश में सन 1952 में जब पहली बार लोकसभा चुनाव हुए थे, तब 10.52 करोड़ रुपए खर्चहुए थे, उसके बाद 1957 और 1962 के चुनाव में सरकारका खर्च कम हुआ था: लेकिन 1967 के चुनाव से हर साल केंद्र सरकार काखर्च बढ़ता ही गया: फिलहाल 2014 के लोकसभा चुनाव तक के



Can Indian Astrology Actually Predict Your Future accurately? Here’s the truth!

A very common question that everyone is curious to know how astrologers help to know about the future. Will astrology help me to know about my career growth, personal life, married life, children, education, business, job, family life, and many other important things. Can I rely on predictions made



व्‍यवस्‍था में नम्‍बर पावर गेम की एंट्री

व्‍यवस्‍था में नम्‍बर पावर गेम की एंट्री नम्‍बरगेम और पावर गेम के चलते प्राय: देशों की लोकतांत्रिक व्‍यवस्‍था पर अब सवाल उठनेलगे हैं:पढे लिखे च विद्वान ज्ञानी लोगो को किनारे कर अब सिर्फ नम्‍बर व पावर गेमपर ध्‍यान दिया जा रहा है:अगर संवैधानिक व्‍यवस्‍था में इसे सुधार किया जाये तोबहुत हद तक लोकतात्रिक



कांग्रेस में सब ठीक नहीं, क्या‍ सोनिया कांग्रेस को बचा पायेंगी?

वरिष्‍ठो के आक्रोश ने पार्टी में सोच पैदा कीएक साल से ददक रही चिंगारी अब आग का रूप लेने लगीक्‍या आपस में लडकर पार्टी दो फाड होगी?क्‍या देश से कांग्रेस का अस्तित्‍व मिटाने का सपना साकार होने वाला है? “सोनिया जी, पार्टी को महज इतिहास का हिस्सा बनकर रह जाने से बचा लें: परिव



पर्यावरण पर तो चर्चा हुई लेकिन काली धूल से कैसे निपटे ?

पर्यावरण पर तो चर्चा हुई लेकिन काली धूल से कैसेनिपटे?राजधानी रायपुर के लिये शनिवार को यह खुशी कामौका था जब मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने अपने निवास कार्यालय से नवा रायपुर स्थितनंदनवन जंगलसफारी एवं जू में वन्य प्राणियों के लिए नवनिर्मित 7 बाड़ों का ई-लोकार्पणकिया: नंदनवन जंगल सफारी के नवनिर्मित सात बाड़ों



करोना ने महीनों सताया अब आर्थिक प्रहार !

करोना ने महीनों सताया अब आर्थिक प्रहार !कभी तो ऐसा लगता है कि देश में करोना हम आम लोग ही लेकर आये हैं सरकारेसारे टेक्‍स और महंगाई हम पर ही लादे जा रही है: पहले पेट्रोल डीजलके भावों में बढौत्‍तरी की अब धीरे धीरे सिलेण्डर,रलवे किराया, बैंक में जमा निकासी पर शुल्‍क और अन्‍यउपभोक्‍ता वस्‍तुओं की कीमतो



कोरोना काल में हुआ नायाब सौंदर्यीकरण!

सपनो का शहर रायपुर कोरोना काल में हुआ नायाब सौंदर्यीकरण! कई सपने अब भी पूरे होने बाकी, ट्रेफिक के जंजाल से कब मुक्ति मिलेगी?क्‍या सौंदर्यीकृत स्‍थलों के रखरखावपर भी उसी तरह ध्‍यान रहेगा जैसा इन्‍हे बनाया गया?छत्‍तीसगढ की राजधानी रायपुर कोनिखारने में छत्‍तीसगढ सरकार को अभूतपूर्व सफलता मिली है यह काम



पाक में इमरान की कुर्सी डगमगाई !

पाक में इमरान की कुर्सी डगमगाई !पडौसी पाकिस्‍तान में राजनीतिक हालात ठीक नहीं है: इमरान खान की कुर्सी हिल गई है:विपक्षी पार्टियां एक हो गई है तथा नवाज शरीफ और उनकी बेटी मरियम ने इमरान पर ताबड तोड जबाबी हमले कर दिये है: जनता सेना के खिलाफ है वहीं उसके लिये एक बुरी खबर और है कि वह, वित्तीय कार्रवाई का



कोरोना का देश निकाला फरवरी में संभव !

कोरोना का देश निकाला फरवरी में संभव ! कोरोना महामारी ने लोगो के रहन-सहन सेलेकर खानपान भी बदल दिया है: दहशत इतना ज्‍यादा है कि कार्यस्थल पर जाने में भीलोग सहमे हैं। शहर से लेकर गांव तक लोग भयांक्रात है: प्रध्‍ान मंत्री नरेन्‍द्र मोदी के इस आश्‍वासनके बाद कि करोना अब देश में कम हुआ है लेकिन इसका मतलब





आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x