"गज़ल" रुला कर हँसाते बड़ी सादगी से

10 सितम्बर 2018   |  महातम मिश्रा   (78 बार पढ़ा जा चुका है)

क़ाफ़िया— ई स्वर की बंदिश, रदीफ़- सादगी से


"गज़ल"


रुला कर हँसाते बड़ी सादगी से

गुलिस्तां खिलाते अजी सादगी से

हवा में निशाना लगाने के माहिर

पखेरू उड़ाते दबी सादगी से।।


परिंदों के घर में नहीं मादगी पर

हिला डाल देते मिली सादगी से।।


शिकारी कहूँ या अनारी कहूँ तुम

सजाते हो महफ़िल दिली सादगी से।।


लपक जा रहे थे उड़े थे फलक को

बिना चर घुमाते ख़री सादगी से।।


बुलाकर शिकायत का मुँह थाम लेते

अदावत निभाते खरी सादगी से।।


चलो मान लेते हैं गौतम गलत है

मगर तुम बताते उसी सादगी से।।


महातम मिश्र, गौतम गोरखपुरी

अगला लेख: "पद" मोहन मुरली फिर न बजाना



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
27 अगस्त 2018
"
मापनी - 22 22 2222"गीत"कितना सुंदर मौसमआया साथी तेरा साथसुहायापकड़ चली हूँ तेरीबाहेंआँचल मेरा नभलहराया।।रहना हरदम साथ हमारेशीतल है कितनी यहछाया।।नाहक उड़ते विहगअकेलेमैंने भी मन कोसमझाया।।दूर रही अबतक छविमेरीआज उसे फिर वापसपाया।।चँहक रही हूँ खेलरही हूँसाजन तूने मनहरषाया।।गौतम तेरा बाग खिलाहैभौंरा सावन
27 अगस्त 2018
05 सितम्बर 2018
“छन्द मुक्त काव्य”“शहादत की जयकारहो”जब युद्ध की टंकारहो सीमा पर हुंकार हो माँ मत गिराना आँखआँसू माँ मत दुखाना दिलहुलासूजब रणभेरी की पुकारहो शहादत की जयकारहो।। जब गोलियों कीबौछार होजब सीमा पर त्यौहारहो माँ भेज देना बहनकी राखी अपने सीने कीबैसाखी वीरों की कलाईगुलजार हो शहादत की जयकार हो॥जब चलना दुश्वार
05 सितम्बर 2018
29 अगस्त 2018
“हाइकु” सजी बाजर राखी रक्षा त्यौहार रंग बिरंगी॥-1 रंग अनेक कच्चे पतले धागेराखी वन्धन॥-2 पावनी राखी रिश्ता ऋतु बैसाखी सुंदर पल॥-3 ओस छाई रीवर्षा ऋतु आई रीझूलती नारी॥-4 विहग उड़ेपग सिहर पड़ेडरती नारी॥ -5 आ रे बसंततूँ ही दिग-दिगंतसुंदर नारी॥-6 महतम मिश्र, गौतम गोरखपुरी
29 अगस्त 2018
06 सितम्बर 2018
“कुंडलिया”आती पेन्सल हाथ जब, बनते चित्र अनेक। रंग-विरंगी छवि लिए, बच्चे दिल के नेक॥ बच्चे दिल के नेक, प्रत्येक रेखा कुछ कहती। हर रंगों से प्यार, जताकर गंगा बहती॥ कह गौतम हरसाय, सत्य कवि रचना गाती। गुरु शिक्षक अनमोल, भाव शिक्षा ले आती॥ महातम मिश्र, गौतम गोरखपुरी
06 सितम्बर 2018
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x