आज की कवायत

06 नवम्बर 2019   |  डॉ कवि कुमार निर्मल   (2731 बार पढ़ा जा चुका है)

आज की कवायत

''कवायत आज की"


जख़्म से दिल जार - जार हुआ


अपने भी पराये समझ रहे,


मन में फ़कीरी का ख़्याल हुआ


दुनिया का अज़ुबा इंतिहा हुआ


★★★★★★★★★★★★


ख़्वाब का क्या (?) है भरोसा-


कब (?) टूट कर बिखर जाएँ


यादों का गुबार तक गुम हो


अलविदा कह जाए


तन नहीं दिल बन


दिल में समा जाओ


तूंफा झेल कर किया कबूल,


गहरी ख़ंदक नफ़रत की न बनाओ


★★★★★★★★★★★★★★★


चमक कर भी अँधेरों में समा जाती हो


तड़क कर भी बिन बरसे गुम हो जाती हो


गमक कर भी साँसों कि तिश्नगी न मिटा पाती हो


अब गहरे जख़्मों पर हँस कर मरहम लगाती हो!


★★★★★★★★★★★★★★★★★★


शुक्रगुज़ार हूँ, रहमत से दीदार हुआ


आमीन हीं खुबसूरत, नेह के पार हुआ


★★★डॉ. कवि कुमार निर्मल★★★

अगला लेख: ब्रह्म



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
20 अक्तूबर 2019
69 वें "जन्म दिन" पर मेरा शुभकारी "फलादेशसूर्य में राहु का उपद्रव- 2020 के बाद सुधार💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐कहते सुना सबसे कि मैंने खोया हीं खोया।टघरते आँसुओं की धार- पीया हीं पीया।।दिल हुआ छलनी, वज़ूद ज़ार - ज़ार हुआ।सब खोया मगर, तेरा मैं तेरा "प्यार" हुआ।।शौहरत-दौलत की- कत्तई ख़्वाहिश न थी,आफ़ताब के आग
20 अक्तूबर 2019
27 अक्तूबर 2019
दीपवाली में 'मन' माना दूर,मंदीर अलग-अलग चमकते हैं!चंचल लक्ष्मी ठम- खड़ी दूर,हृदयहीन के घर-आँगन सजते हैं!!निर्मल
27 अक्तूबर 2019
24 अक्तूबर 2019
💓💓💓💓💓💓💓💓💓💓भाषा में "साहित्य" छुपा है💓💓भाषाविद् "हित" करता है💓💓काव्य सरीता का अविरल प्रवाह💓💓"क्षिर सागर" से जा मिलता है।💓💓💓डॉ कवि कुमार निर्मल💓💓
24 अक्तूबर 2019
23 अक्तूबर 2019
दो दिन गुजर गए-मुई ये रात भी-बीत हीं जाएगी।चलो तुम्हारीखुशबुओं से,कल की सुबह-दमक-गमक जाएगी।।रौशन शाम;महक------सराबोर कर जाएगी।ग़रीब की झोपड़ीआशियाना बन,मुहब्बत की,मिशाल बन जाएगी।।डॉ. कवि कुमार निर्मल
23 अक्तूबर 2019
12 नवम्बर 2019
चराग़ जलता रहा रात भर।मदहोश परवाना न मंडराया मगर।।बाति उजाला देख बुझने को थी।बातें बहुत मगर ख़्वाबों की थी।।तेल में दम था बहुत मगर।एक फूंक से अँधेरे में डुबा शहर।।डॉ. कवि कुमार निर्मल
12 नवम्बर 2019
सम्बंधित
लोकप्रिय
14 नवम्बर 2019
10 नवम्बर 2019
21 अक्तूबर 2019
28 अक्तूबर 2019
31 अक्तूबर 2019
01 नवम्बर 2019
01 नवम्बर 2019
01 नवम्बर 2019
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x